HomeEducationबच्चों के रोने की सही वजह बताएगा यह उपकरण, हिसार यूनिवर्सिटी के...

बच्चों के रोने की सही वजह बताएगा यह उपकरण, हिसार यूनिवर्सिटी के छात्रों ने किया अविष्कार

Published on

हिसार यूनिवर्सिटी द्वारा एक ऐसे ब्रेसलेट का आविष्कार किया गया है जिसके द्वारा बच्चे के रोने के संभावित कारण का पता लगाया जा सकेगा। इस ब्रेसलेट से अभिभावकों को नवजात शिशु की देखभाल करने में मदद मिलेगी। यह ब्रेसलेट बच्चे की गतिविधियों को रिकॉर्ड कर उसके रोने के संभावित कारण अभिभावकों को बताएगा।

हिसार की गुरु जम्भेश्वर यूनिवर्सिटी के इलेक्ट्रॉनिक व संचार विभाग के सहायक प्रोफेसर विजय पाल एवं विद्युत विभाग के चरणजीत मदान व उनकी टीम द्वारा आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की मदद से यह उपकरण तैयार किया गया है। उनके पेटेंट को इस आविष्कार के लिए इंडियन पेटेंट जर्नल में प्रकाशित किया गया है।

बच्चों के रोने की सही वजह बताएगा यह उपकरण, हिसार यूनिवर्सिटी के छात्रों ने किया अविष्कार

ब्रेसलेट को स्मार्ट वॉच की ही भांति हाथ में बांधा जाएगा व मोबाइल से कनेक्ट किया जाएगा। सेंसर युक्त ब्रेसलेट द्वारा बच्चे की नाड़ी, धड़कन, शरीर के तापमान व रोने की आवाज पर नजर रखी जाएगी तथा ब्रेसलेट के सेंसर से प्राप्त डाटा स्वचालित तरीके से कंट्रोल यूनिट में चला जाएगा, जहां कई प्रकार के आर्टिफिशियल सैंपल होते हैं। आर्टिफिशियल सांपला से बच्चे की आवाज व अन्य डाटा का मिलान होता है।

यदि बच्चे की धड़कन एवं शरीर का तापमान सही होता है तो उसे स्वास्थ्य संबंधी कोई दिक्कत नहीं होती है। ऐसे ही बच्चे के रोने की आवाज के मिलान से पता लगाया जा सकेगा कि बच्चे के गले में कुछ अटकने के कारण या किसी और अन्य कारण से वह रो रहा है। इसी प्रकार मशीन लर्निंग रोने की भावना को भूख, नींद, बेचैनी व पेट की गैस आदि के रूप में वर्गीकृत करके तथा जानकारी एकत्रित कर शिशु के अभिभावक को देगी।

बच्चों के रोने की सही वजह बताएगा यह उपकरण, हिसार यूनिवर्सिटी के छात्रों ने किया अविष्कार

ब्रेसलेट के आविष्कारक प्रोफेसर डॉ. विजयपाल सिंह का कहना है कि कामकाजी माता-पिता के लिए बच्चे व उसके स्वास्थ्य की निगरानी करना सबसे अधिक कठिन होता है। यह और अधिक मुश्किल हो जाता है, जब बच्चा लगातार रोए जाता है। ऐसे में मां बच्चे के रोने के सही कारण का पता नही लगा पाती व अलग – अलग तरीकों से उसे चुप कराने का प्रयास करती रहती है।

बच्चों के रोने की सही वजह बताएगा यह उपकरण, हिसार यूनिवर्सिटी के छात्रों ने किया अविष्कार

लेकिन अब वर्तमान आविष्कार स्मार्ट चूड़ी या रिस्ट बैंड या ब्रेसलेट का उपयोग करके बच्चे के रोने के सही कारण का पता लगाया जा सकता है। यदि बच्चे के रोने का सही कारण पता लगाया जा सकेगा तो अभिभावकों द्वारा उस समस्या को जल्द दूर किया जा सकेगा। इससे बच्चे के स्वास्थ्य पर भी सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा।

Latest articles

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...

आखिर क्यों बना Haryana के टीचर का फॉर्म हाउस पूरे प्रदेश में चर्चा का विषय, यहां पढ़ें पूरी ख़बर

आज के समय में फॉर्म हाउस बनाना कोई बड़ी बात नहीं है, लेकिन हरियाणा...

Faridabad का ये किसान थोड़ी सी समझदारी से आज कमा रहा लाखों, यहां जानें कैसे

आज के समय में देश के युवा शिक्षा, स्वास्थ आदि क्षेत्रों के साथ साथ...

Haryana के इस शख्स ने किया Bollywood के सुपरस्टार ऋतिक रोशन के साथ काम, इससे पहले भी कर चुके है कई फिल्मों में काम

प्रदेश के युवा या बुजुर्ग सिर्फ़ खेल या शिक्षा के मैदान में ही तरक्की...

More like this

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...

आखिर क्यों बना Haryana के टीचर का फॉर्म हाउस पूरे प्रदेश में चर्चा का विषय, यहां पढ़ें पूरी ख़बर

आज के समय में फॉर्म हाउस बनाना कोई बड़ी बात नहीं है, लेकिन हरियाणा...

Faridabad का ये किसान थोड़ी सी समझदारी से आज कमा रहा लाखों, यहां जानें कैसे

आज के समय में देश के युवा शिक्षा, स्वास्थ आदि क्षेत्रों के साथ साथ...