HomePublic Issueराज्य के कई जिलों में अगले चार दिनों तक बारिश के आसार,...

राज्य के कई जिलों में अगले चार दिनों तक बारिश के आसार, दो घरों की छतें गिरीं

Published on

हरियाणा के कई जिलों में पिछले कई दिनों से झमाझम बारिश हो रही है। दक्षिण – पश्चिम मानसून के कारण सोमवार को भी कई जिलों में तेज बारिश होती रही।
सामान्य से 15 फीसदी अधिक बारिश इस बार हुई है। मौसम विभाग के अनुसार हरियाणा के कई जिलों ने अगले चार दिनों तक भारी बारिश की उम्मीद जताई जा रही है।

मौसम विज्ञानियों का कहना है कि बंगाल की खाड़ी में बने एक कम दबाव के क्षेत्र व राजस्थान के ऊपर एक साइक्लोनिक सर्कुलेशन तथा मानसून टर्फ दक्षिण की ओर होने की स्थिति बन रही है। जिस कारण 14 सितंबर तक मौसम आमतौर पर परिवर्तनशील रहेगा। इस दौरान बादलों के छाने v हल्की बारिश की संभावना जताई जा रही है।

राज्य के कई जिलों में अगले चार दिनों तक बारिश के आसार, दो घरों की छतें गिरीं

अंबाला में रविवार के दिन 61 एमएम दर्ज की गई। इस बीच कुरुक्षेत्र में दो मकानों की छत भी गिर गई। बंगाल की खाड़ी में बने एक कम दबाव के क्षेत्र तथा साथ में साइक्लोनिक सर्कुलेशन बनने और टर्फ रेखा दक्षिण में आने के कारण मानसूनी हवा की थोड़ी सक्रियता बढ़ी। जिसकी वजह से हरियाणा में तीन- चार दिनों में कहीं हल्की तो कहीं मध्यम बारिश दर्ज की गई।

भारत के मौसम विज्ञान विभाग के मौसम आंकड़ों के अनुसार हरियाणा में 1 जून से 10 सितंबर तक कुल 468.6, एमएम बारिश दर्ज की गई जोकि सामान्य से 15 फीसदी अधिक है। हरियाणा के छः जिलों अंबाला, पंचकूला, यमुनानगर, भिवानी, रोहतक एवं फरीदाबाद को छोड़कर प्रदेश के अन्य सभी जिलों में सामान्य से अधिक बारिश दर्ज की गई है।

राज्य के कई जिलों में अगले चार दिनों तक बारिश के आसार, दो घरों की छतें गिरीं

बता दें की अंबाला में 61 एमएम, यमुनानगर में 4 एमएम, कुरुक्षेत्र में 7 एमएम, करनाल में 14.4 एमएम, फतेहाबाद में एमएम, दादरी में 8 एमएम, भिवानी में 9 एमएम, बहादुरगढ़ में 4 एमएम तरह रोहतक में 10 एमएम बारिश दर्ज की गई।

राज्य के कई जिलों में अगले चार दिनों तक बारिश के आसार, दो घरों की छतें गिरीं

लगातार तीसरे दिन रविवार को भी धर्मनगरी में बूंदाबांदी होती रही। पिछले 24 घंटे में जिले भर में औसत 7 एमएम के करीब बारिश हुई है। वहीं इस्माईलाबाद के गांव चनालहेड़ी में भारी बारिश के कारण दो मकानों की छतें गिर गईं लेकिन सौभाग्यवश परिवार के लोग सुरक्षित रहे। वहीं चनालहेड़ी गांव में जगना राम एवं चरणा राम के मकानों की छतें भी अचानक से गिर गईं। परिवार के लोग घर से बाहर खड़े थे जिस कारण वे बच गए। लेकिन वे घर के सामान को क्षतिग्रस्त होने से नहीं बचा पाए।

Latest articles

फरीदाबाद कालीबाड़ी में हुआ निशुल्क मेगा स्वस्थ जाँच शिविर का आयोजन

30 September 2022 को फरीदाबाद कालीबाड़ी सेक्टर 16 के प्रांगण में एक निशुल्क मेगा...

पंडित सुरेंद्र शर्मा बबली की भतीजी भानुप्रिया पराशर ने किया फरीदाबाद का नाम रोशन, इसरो में हुआ चयन

फरीदाबाद, 30 सितंबर। ओल्ड फरीदाबाद के बाढ़ मोहल्ले में रहने वाली भानुप्रिया पराशर का...

आप जिला अध्यक्ष धर्मबीर भड़ाना ने एनआईटी-86 के शमशान घाट में बैठकर किया प्रदर्शन

श्मशान घाट के सीवर का पानी पीने को मजबूर है एनआईटी 86 के लोग...

फरीदाबाद की बेटी ने रचा इतिहास, बोलने और सुनने में नहीं हैं सक्षम, लोगों को चौकाया वकील बनकर

भारत में जहाँ लोग अपने लक्ष्य को हासिल करने के लिए दिन रात एक...

More like this

फरीदाबाद कालीबाड़ी में हुआ निशुल्क मेगा स्वस्थ जाँच शिविर का आयोजन

30 September 2022 को फरीदाबाद कालीबाड़ी सेक्टर 16 के प्रांगण में एक निशुल्क मेगा...

पंडित सुरेंद्र शर्मा बबली की भतीजी भानुप्रिया पराशर ने किया फरीदाबाद का नाम रोशन, इसरो में हुआ चयन

फरीदाबाद, 30 सितंबर। ओल्ड फरीदाबाद के बाढ़ मोहल्ले में रहने वाली भानुप्रिया पराशर का...

आप जिला अध्यक्ष धर्मबीर भड़ाना ने एनआईटी-86 के शमशान घाट में बैठकर किया प्रदर्शन

श्मशान घाट के सीवर का पानी पीने को मजबूर है एनआईटी 86 के लोग...