HomeEducationआईसीएआई ने सीए की परीक्षा को लेकर किया बड़ा फैसला, जानिए क्या...

आईसीएआई ने सीए की परीक्षा को लेकर किया बड़ा फैसला, जानिए क्या है फैसला

Published on

विश्व भर में महामारी कोरोना के मामले रफ़्तार के साथ बढ़ रहे हैं। महामारी का असर हर व्यक्ति, हर संस्थान, हर किसी पर पढ़ा है, इसी को नज़र में रखते हुए और महामारी के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट ऑफ इंडिया की ओर से जुलाई में सीए की परीक्षा देने वाले स्टूडेंट्स के लिए एक बड़ी घोषणा की गई है । आईसीएआई ने कहा है कि जो विद्यार्थी जुलाई में सीए की परीक्षा नहीं देना चाहते हैं तो वे इसके बजाए नवंबर में परीक्षा दे सकते हैं।

आईसीएआई ने सीए की परीक्षा को लेकर किया बड़ा फैसला, जानिए क्या है फैसला

कोरोना माहमारी के चलते आईसीएआई ने जुलाई में होने वाली सीए परीक्षा को लेकर विद्यार्थियों को ऑफ आउट का विकल्प दिया है। इस विकल्प के तहत विद्यार्थी यदि चाहे तो वह जुलाई में होने वाली सीए की परीक्षा को छोड़ सकता है और इसके बजाए नवंबर में होने वाली परीक्षा में शामिल हो सकता है। विद्यार्थी इस संबंध में 17 जून से 20 जून के बीच अपने परीक्षा केंद्रों में बदलाव कर सकते हैं।

आईसीएआई ने जुलाई सीए परीक्षा के लिए कल एक सूचना जारी की थी उसी सूचना में यह जानकारी दी गई । बता दें कि सीए की परीक्षा 29 जुलाई से शुरू होगी। सूचना में बताया गया है कि, वह विद्यार्थी जो मई 2020 एग्जामिनेशन साइकिल के लिए पहले ही ऑनलाइन एग्जामिनेशन आवेदन जमा कर चुके हैं वह परीक्षा न देने का विकल्प चुन सकते हैं और इसके बजाए नवंबर में होने वाली परीक्षा दे सकते हैं |

आईसीएआई ने सीए की परीक्षा को लेकर किया बड़ा फैसला, जानिए क्या है फैसला

आईसीएआई द्वारा नोटिस में कहा गया है कि, इस स्थिति में विद्यार्थियों की फीस जो जमा होगी, वह नवंबर 2020 साइकल के लिए शिफ्ट हो जाएगी। विद्यार्थियों को फिर से नवंबर 2020 एग्जाम के लिए आवेदन करना होगा। एग्जाम फीस को एडजस्ट किया जाए और एग्जाम फीस में किसी तरह का अंतर होने पर बाकी फीस का भुगतान करना होगा।

परीक्षा नहीं देने का विकल्प यूं चुन न होगा

  1. 17 जून से 20 जून के बीच icaiexam.icai.org पर जाकर ऑनलाइन डिक्लेरेशन जमा कराएं।
  2. डिक्लेरेशन जमा करने के बाद मई 2020 परीक्षा के लिए विद्यार्थियों की उम्मीदवारी खत्म हो जाएगी और अगले एग्जाम में उनकी उम्मीदवारी शिफ्ट कर दी जाएगी।
  3. ध्यान रखें कि एक बार ‘परीक्षा नहीं देने (Opt Out)’ का ऑप्शन चुनने के बाद इसे बदल नहीं सकते।
  • ओम सेठी

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...