HomeEducationमहामारी के कारण लंबे समय से बंद कॉलेज व पॉलीटेक्निक खोलने की...

महामारी के कारण लंबे समय से बंद कॉलेज व पॉलीटेक्निक खोलने की मिली छूट, पहली से तीसरी तक की कक्षाएं भी होंगी शुरू

Published on

महामारी के कारण काफी लंबे समय से बंद पड़े स्कूलों को कुछ छूटों के साथ भले ही खोल दिया गया हो, लेकिन कॉलेज और पॉलीटेक्निक पर अब भी रोक लगाई हुई थी, जिन्हें अब खोलने का फैसला प्रदेश सरकार द्वारा ले लिए गया है। बता दें कि महामारी अलर्ट, सुरक्षित लॉकडाउन को 4 अक्टूबर सुबह 5 बजे तक बढ़ा दिया गया है। प्रदेश में महामारी के संक्रमण का खतरा कम होता दिख रहा है

यह देखते हुए सरकार ने कॉलेज और पॉलीटेक्निक खोलने की छूट दे दी है। इस वर्ष 12वीं पास करने वाले छात्र पहली बार कॉलेज जा सकेंगे। इसके लिए कॉलेजों के लिए हायर एजुकेशन और पॉलीटेक्निक के लिए टेक्निकल एजुकेशन डिपार्टमेंट की ओर से गाइडलाइंस जारी की जाएंगी।

महामारी के कारण लंबे समय से बंद कॉलेज व पॉलीटेक्निक खोलने की मिली छूट, पहली से तीसरी तक की कक्षाएं भी होंगी शुरू

विभाग द्वारा तय किया जाएगा कि कॉलेजों में कब और कितनी संख्या में विद्यार्थियों को बुलाया जाना है। विद्यार्थियों के लिए कॉलेजों में मास्क पहनना, सेनिटाइजर का यूज करना तथा दो गज दूरी बनाए रखना अति आवश्यक होगा। ज्ञात है कि पहले ही सरकार द्वारा आईटीआई, लाइब्रेरी व कोचिंग सेंटर खोले जा चुके हैं तथा कॉलेजों की ऑनलाइन कक्षाएं भी लग रही थीं। लेकिन अभी अन्य पाबंदियों को जारी रखने का फैंसला लिया गया है। साथ ही प्रदेश के स्कूलों में भी पहली से तीसरी तक की कक्षाएं शुरू होने जा रही हैं।

प्रदेश सरकार द्वारा रेस्तरां, बार, होटल, जिम, स्पा, क्लब हाउस, सिनेमा हॉल आदि को अभी खोलने की छूट नहीं दी गई है। ये अभी केवल 50 प्रतिशत क्षमता के साथ ही खुलेंगे। धार्मिक स्थलों में अभी 50 से अधिक लोगों को इकट्ठा होने की छूट नहीं दी गई है। इनडोर में 50 प्रतिशत क्षमता के साथ अधिकतम 100 लोग, खुले में 200 से अधिक लोग अभी भी इकट्ठा नहीं हो सकते।

महामारी के कारण लंबे समय से बंद कॉलेज व पॉलीटेक्निक खोलने की मिली छूट, पहली से तीसरी तक की कक्षाएं भी होंगी शुरू

प्रदेश में पूरे 18 महीनों बाद सोमवार को पहली से तीसरी तक की कक्षाएं शुरू होने जा रही हैं। लेकिन अभी केवल 50 फीसदी बच्चों को ही अलग – अलग दिनों में बुलाया जाएगा। इसके लिए अभिभावकों की सहमति भी जरूरी है। स्कूल जाने वाले बच्चों से अभिभावकों के सहमति पत्र लिए जायेंगे। सुबह 9 बजे से दोपहर 12 बजे तक का समय बच्चों के लिए निर्धारित किया गया है,

जबकि शिक्षक सुबह 8:30 बजे से दोपहर 1:30 बजे तक स्कूल में हाजिर रहेंगे। स्कूल खुल जाने के बावजूद अब भी ऑनलाइन और एजूसेट से पढ़ाई जारी रहेगी, ताकि जो अभिभावक अब भी अपने बच्चों को स्कूल भेजने के इच्छुक नहीं हैं उनके पास पढ़ाई का विकल्प रहे।

महामारी के कारण लंबे समय से बंद कॉलेज व पॉलीटेक्निक खोलने की मिली छूट, पहली से तीसरी तक की कक्षाएं भी होंगी शुरू

बता दें कि प्रदेश में कक्षा पहली से तीसरी तक के कुल 11,50,017 विद्यार्थी हैं, जिनमें से 5,15,855 विद्यार्थी सरकारी स्कूलों में पढ़ रहे हैं जबकि 6,34,162 विद्यार्थी प्राइवेट स्कूलों में पढ़ाई कर रहे हैं।

Latest articles

फरीदाबाद कालीबाड़ी में हुआ निशुल्क मेगा स्वस्थ जाँच शिविर का आयोजन

30 September 2022 को फरीदाबाद कालीबाड़ी सेक्टर 16 के प्रांगण में एक निशुल्क मेगा...

पंडित सुरेंद्र शर्मा बबली की भतीजी भानुप्रिया पराशर ने किया फरीदाबाद का नाम रोशन, इसरो में हुआ चयन

फरीदाबाद, 30 सितंबर। ओल्ड फरीदाबाद के बाढ़ मोहल्ले में रहने वाली भानुप्रिया पराशर का...

आप जिला अध्यक्ष धर्मबीर भड़ाना ने एनआईटी-86 के शमशान घाट में बैठकर किया प्रदर्शन

श्मशान घाट के सीवर का पानी पीने को मजबूर है एनआईटी 86 के लोग...

फरीदाबाद की बेटी ने रचा इतिहास, बोलने और सुनने में नहीं हैं सक्षम, लोगों को चौकाया वकील बनकर

भारत में जहाँ लोग अपने लक्ष्य को हासिल करने के लिए दिन रात एक...

More like this

फरीदाबाद कालीबाड़ी में हुआ निशुल्क मेगा स्वस्थ जाँच शिविर का आयोजन

30 September 2022 को फरीदाबाद कालीबाड़ी सेक्टर 16 के प्रांगण में एक निशुल्क मेगा...

पंडित सुरेंद्र शर्मा बबली की भतीजी भानुप्रिया पराशर ने किया फरीदाबाद का नाम रोशन, इसरो में हुआ चयन

फरीदाबाद, 30 सितंबर। ओल्ड फरीदाबाद के बाढ़ मोहल्ले में रहने वाली भानुप्रिया पराशर का...

आप जिला अध्यक्ष धर्मबीर भड़ाना ने एनआईटी-86 के शमशान घाट में बैठकर किया प्रदर्शन

श्मशान घाट के सीवर का पानी पीने को मजबूर है एनआईटी 86 के लोग...