HomeFaridabadजल जीवन मिशन के तहत गांव लाम्बा में जल को बचाने के...

जल जीवन मिशन के तहत गांव लाम्बा में जल को बचाने के लिए दिया प्रशिक्षण

Published on


जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग एवं जल एवं स्वच्छता सहायक संगठन के खंड संसाधन संयोजक कुलदीप सिंह द्वारा गांव लाम्बा के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में विद्यार्थियों को जल जीवन मिशन के तहत जल को बचाने के तौर तरीकों, जल की गुणवत्ता को बनाए रखने के उपायों सहित ग्राम जल एवं सीवरेज समिति बारे विस्तारपूर्वक बताया। कार्यक्रम की अध्यक्षता प्राचार्य शैंटी कुमार ने की।


खंड संसाधन संयोजक कुलदीप सिंह ने बताया कि जल जीवन मिशन भारत सरकार के जल शक्ति मंत्रालय की एक अहम परियोजना है जिसका उद्देश्य 2024 तक भारत के प्रत्येक ग्रामीण क्षेत्र के प्रत्येक घर में क्रियात्मक घरेलू नल कनेक्शन उपलब्ध करवाने के साथ-साथ 55 लीटर प्रति व्यक्ति प्रतिदिन स्वच्छ जल सुनिश्चित करवाना प्राथमिकता में है। उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा इस मिशन को पूरा करने का लक्ष्य 2022 का रखा गया है और यह तभी पूरा हो पाएगा जब जन समुदाय की भागीदारी इसमें सुनिश्चित होगी।

जल जीवन मिशन के तहत गांव लाम्बा में जल को बचाने के लिए दिया प्रशिक्षण

उन्होंने बताया कि हमारी पृथ्वी पर उपलब्ध कुल जल में से 97 प्रतिशत खारा जल है तथा 2 प्रतिशत बर्फ के रूप में ग्लेशियरों पर हैं और हमारे पीने के लिए 1 प्रतिशत से भी कम जल उपलब्ध है तथा उसे भी प्रदूषित कर के हम पीने के लिए जल को और कम कर रहे हैं। जोकि वर्तमान में बहुत चिंता का विषय है और भविष्य के लिए खतरा, अगर हम लगातार इसी प्रकार जल के महत्व को ना समझेंगे और इसे इसी प्रकार बहाते रहेंगे तो वो दिन दूर नहीं जब हम पानी की एक-एक बूंद के लिए तरस जाएंगे। उन्होंने बताया कि जल को बचाने के लिए सर्वप्रथम हमें अपने पानी के कनेक्शन के आगे टून्टीं अवश्य लगवानी चाहिए और प्रयोग के बाद उसको बंद कर देना चाहिए।

जल जीवन मिशन के तहत गांव लाम्बा में जल को बचाने के लिए दिया प्रशिक्षण


पानी की गुणवत्ता की जांच के लिए उन्होंने फील्ड टेस्टिंग किट बारे विद्यार्थियों और अध्यापकों को प्रशिक्षित किया कि इस किट द्वारा पानी में बैक्टीरिया का पता लगाकर हम जल जनित बीमारियों से बच सकते हैं। इसके साथ-साथ उन्होंने बताया कि हमें अपना कनेक्शन साफ सुथरी जगह लगवाना चाहिए। कनेक्शन स्टैंड पोस्ट सहित होना चाहिए जिसके नीचे बाल्टी या घड़ा आसानी से आ जाए। अपने घर के कनेक्शन की पाइप लाइन या अन्य किसी भी पाइप में लीकेज हो तो तुरंत उसको विभाग या पंचायत के सहयोग से ठीक करवाएं।

जल जीवन मिशन के तहत गांव लाम्बा में जल को बचाने के लिए दिया प्रशिक्षण

खंड संसाधन संयोजक ने बताया की प्रत्येक पंचायत में ग्राम जल एवं सीवरेज समिति का गठन किया गया है जिसमें 11 सदस्य है, सरपंच समिति के अध्यक्ष है, इसके अतिरिक्त ग्राम पंच, आंगनवाड़ी वर्कर, आशा वर्कर, सेवानिवृत्त अध्यापक, पूर्व सैनिक, सामाजिक कार्यकर्ता, जन स्वास्थ्य विभाग और पंचायती विभाग के कनिष्ठ अभियंता, और ग्राम सचिव शामिल है। समिति को पानी के रखरखाव ,संचालन के अतिरिक्त बहुत सारे अधिकार और जिम्मेदारियां निर्धारित की गई है जिससे समिति पंचायत स्तर पर आने वाली पानी से जुड़ी हुई समस्या का तुरंत समाधान कर सकते हैं।

इस अवसर पर मिडिल हैड बनी सिंह, प्रवक्ता संदीप कुमार, इकबाल सिंह सहित स्कूली बच्चे उपस्थित रहे।

Latest articles

NIT क्षेत्र में पानी की किल्लत के समाधान को लेकर FMDA के CEO से मिले विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 29 मई 2024 को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने फरीदाबाद...

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

More like this

NIT क्षेत्र में पानी की किल्लत के समाधान को लेकर FMDA के CEO से मिले विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 29 मई 2024 को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने फरीदाबाद...

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...