HomeEducationसीबीएसई की बोर्ड परीक्षाओं पर मंडरा रहे संकट के बादल, जानिए क्यों

सीबीएसई की बोर्ड परीक्षाओं पर मंडरा रहे संकट के बादल, जानिए क्यों

Published on

कोरोना महामारी का प्रकोप हर जगह पड़ा है | सीबीएसई की शेष बची हुई परीक्षाओं को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने सीबीएसई से परीक्षाओं को रद्द करने के मामले में विचार करने को कहा है। कोर्ट ने यह भी कहा है कि सीबीएसई विद्यार्थिओं को आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर मार्क्स देने के बारे में विचार करे । तीन न्यायधीशों की पीठ ने बोर्ड से अगले मंगलवार तक जवाब देने को कहा है। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने भी कहा है कि वह स्थिति को देखते हुए अपने दिशा-निर्देश बताएगा। इस मामले की सुनवाई अब 23 जून को होगी।

सीबीएसई की बोर्ड परीक्षाओं पर मंडरा रहे संकट के बादल, जानिए क्यों

दिल्ली के उप मुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने बुधवार को केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक को पत्र लिखकर कहा है कि सीबीएसई की बची हुई परीक्षाएं न कराई जाएं | उन्होंने आगे लिखा कि महामारी कोरोना के चलते जो स्थिति बनी हुई है, उनमें परीक्षाएं कराना बहुत ही कठिन है. लिहाजा, परीक्षाएं रद्द करके, प्री बोर्ड या इंटरनल मार्क्स के आधार पर रिजल्ट जारी कर दिया जाए |

एक तरफ जहाँ अभिभावकों की याचिका पर कोर्ट सुनवाई कर रही है कि परीक्षाएं रद्द हों वहीँ दूसरीं और परीक्षाओं के आयोजन की तैयारियां हाल ही में जारी निर्धारिट डेटशीट के अनुसार जोर-शोर से चल रही हैं। बची हुई परीक्षाओं का आयोजन 1 जुलाई से 15 जुलाई 2020 के मध्य किया जाना है और संभव है कि परीक्षाओं में सम्मिलित होने के लिए सीबीएसई बोर्ड एग्जाम एडमिट कार्ड 2020 इस सप्ताह के अंत तक जारी कर दिये जाएं। सीबीएसई फिलहाल 12वीं के 29 मुख्य विषयों की ही परीक्षा ले रहा है। वहीं नॉ़र्थ ईस्ट दिल्ली में दंगों की वजह से रद्द हुईं 10वीं की परीक्षाएं होंगी। सीबीएसई की परीक्षाएं देशभर में 15000 परीक्षा केंद्रों में आयोजित होनी हैं।

सीबीएसई की बोर्ड परीक्षाओं पर मंडरा रहे संकट के बादल, जानिए क्यों

अभिभावकों की याचिका में कहा गया है कि परीक्षाएं जुलाई में होनी हैं और भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद के आंकड़ों के अनुसार कोरोना उस समय पीक पर होगा । इसी कारण याचिकाकर्ताओं ने आग्रह किया है कि जुलाई में होने वाली सीबीएसई की बची हुई परीक्षाओं को रद्द कर दिया जाए और इंटरनल असेस्मेंट के आधार पर स्टूडेंट्स का रिजल्ट घोषित किया जाए।

सीबीएसई की गाईडलाइन्स के अनुसार जो विद्यार्थी जहाँ है वह वहीँ से परीक्षा दे सकेगा अगर विद्यार्थी का घर पुराने एग्जाम सेंटर से दूर है तो वह अपने घर के पास वाले एग्जाम सेंटर पर परीक्षा दे सकेगा, इसके लिए विद्यार्थियों को अपने स्कूल वालों को बताना होगा | सीबीएसई की जुलाई में आयोजित होने वाली परीक्षाओं के लिए बोर्ड एग्जाम एडमिट कार्ड 2020 डाउनलोड करने के लिए विद्यार्थिओं को अपने स्कूल से जहाँ से वह पढ़ रहे थे वहां संपर्क करना होगा। एडमिट कार्ड को सीबीएसई बोर्ड की औपचारिक वेबसाइट, cbse.nic.in के स्कूल लॉगिन के माध्यम से डाउनलोड किया जा सकेगा।

  • Written By Om Sethi

Latest articles

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...

More like this

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...