HomeEducationहरियाणा सरकार से मिली सिटेट को मान्यता तो डेढ़ लाख पात्र शिक्षकों...

हरियाणा सरकार से मिली सिटेट को मान्यता तो डेढ़ लाख पात्र शिक्षकों को लगा बड़ा झटका

Published on

हरियाणा स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा बुधवार को विवाह के अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ महावीर सिंह द्वारा डेढ़ लाख पात्र शिक्षकों को बड़ा झटका देते हुए एचटेट और एस्टेट को मान्यता प्रदान की है इसके बाद से ही पात्र शिक्षकों में आशा निराशा देखी जा सकती हैं दरअसल इस फैसले के बाद अब प्रदेश में अब प्रदेश में सीटेट (केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा) पास युवा भी जेबीटी, पीआरटी व टीजीटी नियुक्त हो सकेंगे।

इसके अतरिक्त विभाग ने सीटेट को एचटेट (हरियाणा शिक्षक पात्रता परीक्षा) और एसटेट (राज्य शिक्षक पात्रता परीक्षा) के समान मान्यता दे दी है। इससे शिक्षा विभाग की भर्तियों में प्रदेश के युवाओं के लिए प्रतिस्पर्धा और बढ़ जाएगी।

हरियाणा सरकार से मिली सिटेट को मान्यता तो डेढ़ लाख पात्र शिक्षकों को लगा बड़ा झटका

हरियाणा पात्र अध्यापक संघ के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष राजेंद्र शर्मा वत्स ने कहा कि ताजा फैसले से प्रदेश के हजारों एचटेट-एसटेट पास युवा सड़कों पर आने को मजबूर होंगे। चूंकि, 7-8 साल से ये परीक्षा पास करते आ रहे युवाओं को अब तक जेबीटी, टीजीटी पदों पर नियुक्ति नहीं मिली है। सीटेट को प्रदेश में मान्यता देने से बेरोजगार पात्र युवा पिछड़ जाएंगे। हरियाणा सरकार को शिक्षा के क्षेत्र में होने वाली केंद्रीय नियुक्तियों में एचटेट-एसटेट को मान्यता दिलानी चाहिए। 2009 से 2020 तक उन्होंने पात्र अध्यापकों की लड़ाई प्रदेश में लगातार लड़ी है।

वैसे तो बीते छह सितंबर को ही यह निर्णय ले लिया था, जिसे 29 सितंबर से लागू माना जाएगा। अब तक सीटेट पास युवा प्रदेश में प्राथमिक शिक्षक और टीजीटी पदों की भर्ती के लिए आवेदन नहीं कर सकते थे।

हरियाणा सरकार से मिली सिटेट को मान्यता तो डेढ़ लाख पात्र शिक्षकों को लगा बड़ा झटका

विभाग के ताजा फैसले के बाद इनके लिए भर्ती प्रक्रिया में शामिल होने का रास्ता खुल गया है। इससे प्रदेश के एचटेट-एसटेट पास पात्र अध्यापकों के लिए मुश्किलें बढ़ जाएंगी। चूंकि, प्रदेश सरकार पहले ही जेबीटी भर्ती से किनारा कर चुकी है। जेबीटी, पीआरटी के पद स्कूलों में सरप्लस हैं। इसलिए लंबे समय तक दोनों श्रेणी के पदों पर सरकारी भर्ती संभव नहीं है।

टीजीटी (प्रशिक्षित स्नातक शिक्षक) के पद भी बड़ी संख्या में खाली नहीं है। जो पद खाली हैं, उन पर बड़ी भर्ती फिलहाल नहीं होने वाली है। अगर सरकार भर्ती निकालती है तो सीटेट पास हजारों युवाओं के उसमें शामिल होने से प्रदेश के पात्र शिक्षकों के लिए प्रतिस्पर्धा बढ़ेगी। जिससे प्रदेश के अधिक युवा नौकरी पाने से वंचित रहे सकते हैं।

Latest articles

फरीदाबाद कालीबाड़ी में हुआ निशुल्क मेगा स्वस्थ जाँच शिविर का आयोजन

30 September 2022 को फरीदाबाद कालीबाड़ी सेक्टर 16 के प्रांगण में एक निशुल्क मेगा...

पंडित सुरेंद्र शर्मा बबली की भतीजी भानुप्रिया पराशर ने किया फरीदाबाद का नाम रोशन, इसरो में हुआ चयन

फरीदाबाद, 30 सितंबर। ओल्ड फरीदाबाद के बाढ़ मोहल्ले में रहने वाली भानुप्रिया पराशर का...

आप जिला अध्यक्ष धर्मबीर भड़ाना ने एनआईटी-86 के शमशान घाट में बैठकर किया प्रदर्शन

श्मशान घाट के सीवर का पानी पीने को मजबूर है एनआईटी 86 के लोग...

फरीदाबाद की बेटी ने रचा इतिहास, बोलने और सुनने में नहीं हैं सक्षम, लोगों को चौकाया वकील बनकर

भारत में जहाँ लोग अपने लक्ष्य को हासिल करने के लिए दिन रात एक...

More like this

फरीदाबाद कालीबाड़ी में हुआ निशुल्क मेगा स्वस्थ जाँच शिविर का आयोजन

30 September 2022 को फरीदाबाद कालीबाड़ी सेक्टर 16 के प्रांगण में एक निशुल्क मेगा...

पंडित सुरेंद्र शर्मा बबली की भतीजी भानुप्रिया पराशर ने किया फरीदाबाद का नाम रोशन, इसरो में हुआ चयन

फरीदाबाद, 30 सितंबर। ओल्ड फरीदाबाद के बाढ़ मोहल्ले में रहने वाली भानुप्रिया पराशर का...

आप जिला अध्यक्ष धर्मबीर भड़ाना ने एनआईटी-86 के शमशान घाट में बैठकर किया प्रदर्शन

श्मशान घाट के सीवर का पानी पीने को मजबूर है एनआईटी 86 के लोग...