Homeअनोखा मामला : शख्स का बंद पड़ चुका दिल 3 साल बाद...

अनोखा मामला : शख्स का बंद पड़ चुका दिल 3 साल बाद फिर धड़कने लगा, जानें पूरा मामला

Array

Published on

दुनिया में कई तरह के मामले सामने आते हैं। कुछ मामले ऐसे होते हैं जिनपर यकीन कर पाना काफी मुश्किल हो जाता है। ऐसे ही नोएडा में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। एक व्यक्ति के दिल ने 3 साल पहले धड़कना बंद कर दिया। उसका दिल अचानक धड़कने लगा। तीन साल से शख्स आर्टिफिशियल दिल के सहारे जिंदा था लेकिन बाद में उसे भी निकाल लिया गया।

कई लोग इसे चमत्कार मान रहे हैं। कोई कह रहा है कि ऊपर वाले की कृपा अप्रम पार है। लेकिन पूरे मामले ने डॉक्टरों को भी हैरान कर दिया है। डॉक्टरों के मुताबिक यह भारत में अपने आज का पहला मामला है। अब तक पूरी दुनिया में ऐसे 2 से 3 मामले ही सामने आए हैं जब किसी दिल के मरीज ने काम करना बंद कर दिया हो और उसे मशीन का सहारा दिया गया हो लेकिन बाद में मशीन को हटा लिया गया।

अनोखा मामला : शख्स का बंद पड़ चुका दिल 3 साल बाद फिर धड़कने लगा, जानें पूरा मामला

चारों तरफ इस मामले की चर्चा हो रही है। इस मामले में फोर्टिस हार्ट एंड वैस्‍कुलर इंस्‍टीट्यूट के चेयरमैन ने जानकारी दी है कि यह व्‍यक्ति इराक का नागरिक है। व्यक्ति का नाम हनी जवाद मोहम्‍मद है। वह 2018 में यहां आया था। वह चल फिर नहीं पाता था। वह बेड पर ही र‍हता था। हृदय ट्रांसप्‍लांट के लिए दिल मिलना आसान नहीं था। ऐसे में डॉक्‍टरों ने उसकी जान बचाने के लिए आर्टिफिशियल दिल यानी वेंट्रिकल असिस्‍ट डिवाइस उसके लगा दी।

अनोखा मामला : शख्स का बंद पड़ चुका दिल 3 साल बाद फिर धड़कने लगा, जानें पूरा मामला

दिल से संबंधित बीमारियां आज-कल काफी होने लगी हैं। हर कोई इनसे बचना चाहता है। पिछले तीन साल से शख्स आर्टिफिशियल दिल के सहारे जिंदा था। तीन साल बाद अचानक चमत्कार हुआ। दिल फिर से काम करने लगा है। अब उसे आर्टिफिशियल हार्ट की जरूरत नहीं है। उसे आर्टिफिशियल हार्ट लगाने के दो हफ्ते बाद अस्‍पताल से छुट्टी दी गई थी। इलाज के बाद मरीज इराक चला गया। हालांकि हर छह महीने में उन्‍हें चेकअप के लिए यहां आना होता है।

अनोखा मामला : शख्स का बंद पड़ चुका दिल 3 साल बाद फिर धड़कने लगा, जानें पूरा मामला

आर्टिफिशियल हार्ट यानी एलएवीडी छाती के अंदर लगाई जाती है। इस मशीन का तार शरीर से बाहर रहता है। इसके लिए छाती में छेद किया जाता है। यह मशीन बैटरी से चलती है, जिसे चार्ज करना पड़ता है।

Latest articles

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...

More like this

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...