HomeFaridabadपूरे देश में शारदीय नवरात्रों को धूमधाम से मनाया जाता है :...

पूरे देश में शारदीय नवरात्रों को धूमधाम से मनाया जाता है : भारत अशोक अरोड़ा

Published on

फरीदाबाद,पावन सिद्धपीठ श्री हनुमान मंदिर 1बी बलॉक में वीरवार को प्रथम नवरात्रि के शुभ मुहुर्त पर युवा नेता एवं समाजेवी भारत अशोक अरोड़ा ने टिंकु कुमार, कमल अरोड़ा व राकेश पंडित के साथ मिलकर माता रानी की ज्योति प्रचंड की। उन्होंने विधिवत रूप से माता रानी की पूजा अर्चना की और कहा कि मां दुर्गा की उपासना का पावन पर्व आज से प्रारंभ हो रहा है। नवरात्रि को पूरे देशभर में धूमधाम के साथ मनाया जाता है। साल में नवरात्रि दो बार आते हैं। एक बार चैत्र नवरात्रि और दूसरे शारदीय नवरात्रि। नवरात्रि के नौ दिन मां दुर्गा के अलग-अलग स्वरूपों की विधिवत पूजा की जाती है।

पूरे देश में शारदीय नवरात्रों को धूमधाम से मनाया जाता है : भारत अशोक अरोड़ा

माता रानी को प्रसन्न करने के लिए उनके भक्त उपवास भी करते हैं। हिन्दु धर्म में शारदीय नवरात्रों का विशेष महत्व है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार विजयादशमी से पहले भगवान श्रीराम जब रावण से युद्ध कर रहे थे, तो उनके लिए रावण के बाणों का सामना करना मुश्किल हो रहा था। हालांकि भगवान श्रीराम धर्म की लड़ाई लड़ रहे थे और रावण अधर्म की बावजूद इसके देवी मां की शक्तियां रावण के पक्ष में रावण के साथ खड़ा होकर भगवान श्रीराम को अचंभित कर रही थी। क्योंकि रावण देवी अपराजिता की पूजा करते थे, जिसकी पूजा करने से सभी दिशाओं में विजयश्री मिलती थी।

पूरे देश में शारदीय नवरात्रों को धूमधाम से मनाया जाता है : भारत अशोक अरोड़ा

इसलिए जब युद्ध चल रहा था, तो श्रीराम ने देवी अपराजिता की पूजा आरंभ की, जो नौ दिनों तक चली। भगवान राम ने देवी मैया के सभी स्वरूपों की पूजा की और 108 कमल के फूल देवी की पूजा में चढ़ाए। लेकिन इस दौरान भी देवी मैया ने राम की परीक्षा ली और जब वह 108 पुष्प देवी मैया को अर्पित कर रहे थे तो, उसमें से एक पुष्प देवी मैया ने कम कर दिया। बिना 108 पुष्पों के पूजा अधूरी रह जाती, जब भगवान पुष्प अर्पित करने चले तो, उन्होंने पाया कि 107 पुष्प हैं। तब उनको अपनी मां की एक बात याद आई। उनकी मां कौशल्या कहा करती थी कि मेरा बेटा कमल नयन है और उसके नयन पुष्प के समान है, तो भगवान श्रीराम ने उस समय तीर निकालकर अपनी आंख देवी को समर्पित करने के लिए उठा लिया। तब जाकर देवी प्रसन्न हुई और भगवान श्रीराम को साक्षात दर्शन दिए।

पूरे देश में शारदीय नवरात्रों को धूमधाम से मनाया जाता है : भारत अशोक अरोड़ा

देवी के प्रसन्न होने के साथ ही भगवान राम ने दसवें दिन रावण का वध कर दिया और तभी से नवरात्रों की शुरूआत हुई। नौ दिन नवरात्रों के बाद तभी से दसवें दिन को दशहरा के रूप में मनाया जाता है। इस अवसर पर मंदिर के प्रधान श्री अशोक अरोड़ा ने आई हुई समस्त संगत का धन्यवाद किया। नवरात्रि के इस शुभ अवसर पर विनोद चावला, राधेश्याम कुमार, पवन कुमार, बंसीलाल अरोड़ा, बल्लू कुमार आदि मौजूद रहे।

Latest articles

फरीदाबाद कालीबाड़ी में हुआ निशुल्क मेगा स्वस्थ जाँच शिविर का आयोजन

30 September 2022 को फरीदाबाद कालीबाड़ी सेक्टर 16 के प्रांगण में एक निशुल्क मेगा...

पंडित सुरेंद्र शर्मा बबली की भतीजी भानुप्रिया पराशर ने किया फरीदाबाद का नाम रोशन, इसरो में हुआ चयन

फरीदाबाद, 30 सितंबर। ओल्ड फरीदाबाद के बाढ़ मोहल्ले में रहने वाली भानुप्रिया पराशर का...

आप जिला अध्यक्ष धर्मबीर भड़ाना ने एनआईटी-86 के शमशान घाट में बैठकर किया प्रदर्शन

श्मशान घाट के सीवर का पानी पीने को मजबूर है एनआईटी 86 के लोग...

फरीदाबाद की बेटी ने रचा इतिहास, बोलने और सुनने में नहीं हैं सक्षम, लोगों को चौकाया वकील बनकर

भारत में जहाँ लोग अपने लक्ष्य को हासिल करने के लिए दिन रात एक...

More like this

फरीदाबाद कालीबाड़ी में हुआ निशुल्क मेगा स्वस्थ जाँच शिविर का आयोजन

30 September 2022 को फरीदाबाद कालीबाड़ी सेक्टर 16 के प्रांगण में एक निशुल्क मेगा...

पंडित सुरेंद्र शर्मा बबली की भतीजी भानुप्रिया पराशर ने किया फरीदाबाद का नाम रोशन, इसरो में हुआ चयन

फरीदाबाद, 30 सितंबर। ओल्ड फरीदाबाद के बाढ़ मोहल्ले में रहने वाली भानुप्रिया पराशर का...

आप जिला अध्यक्ष धर्मबीर भड़ाना ने एनआईटी-86 के शमशान घाट में बैठकर किया प्रदर्शन

श्मशान घाट के सीवर का पानी पीने को मजबूर है एनआईटी 86 के लोग...