HomePublic Issueक्या आपको पता है क्यों नहीं बन पा रही है फरीदाबाद की...

क्या आपको पता है क्यों नहीं बन पा रही है फरीदाबाद की सड़के,सरकार का ऐसा क्या घोटाला चल रहा

Published on

फरीदाबाद जिसको स्मार्ट सिटी कहा जाता है वो स्मार्ट सिटी के नाम पर एक बुरा सच है यहां की सड़को का जो हाल है उतना बुरा हाल कही की सड़को का नही होगा।

हम बात करने वाले है एक ऐसे सच की जिससे पड़ कर आप सब हैरान हो जाएंगे जी हां आप सभी लोग जो सड़को को लेकर परेशान हो सरकार उसका पैसा देने के लिए मना कर रही है।

क्या आपको पता है क्यों नहीं बन पा रही है फरीदाबाद की सड़के,सरकार का ऐसा क्या घोटाला चल रहा

निगम सूत्रों के अनुसार अब सरकार ने सीएम अनाउंसमेंट के कामों को पैसे देने से मना कर दिया है ऐसे में ठेकेदारों का भुगतान नहीं हो पा रहा है। निगम पर करीब 100 ठेकेदारों के 60 करोड़ रुपए बकाया है।

बरसात के बाद टूटी हुई सड़के बहुत खराब हो गई जिससे लोगो को बहुत ज्यादा धूल का सामना करना पड़ रहा है। बता दे की 1 हजार करोड़ से अधिक सी एम अनाउंसमेंट के काम हुए है। इनमे से केवल 400 करोड़ रुपए ही मिल पाए है।

क्या आपको पता है क्यों नहीं बन पा रही है फरीदाबाद की सड़के,सरकार का ऐसा क्या घोटाला चल रहा

साथ ही आपको बतादे की कई जगह का काम ठेकेदारों को पैसे ना मिलने के कारण रोक दिया गया है डेड करोड़ की लागत से वोद्ध विहार चौक से आई टी आई चौक और आई टी आई चौक से नीलम चौक तक ड्रेन बनाने के काम का भुगतान आज भी रुका हुआ है।

तो वही वार्ड-4 में सेक्टर-22 में इंटरलॉगिंग टाइल्स लगाने का भुगतान ना होने के कारण उसका काम आज भी रुका हुआ है।यह काम 71 लाख रुपए की लागत से किया जाना था। सेक्टर-28-29 बाई पास अनंगपुरी डेयरी तक 4 करोड़ की लागत से बनाई जाने वाली आर एम सी सड़क का काम भी रुका हुआ हैं।

क्या आपको पता है क्यों नहीं बन पा रही है फरीदाबाद की सड़के,सरकार का ऐसा क्या घोटाला चल रहा

ऐसे ही कई सड़के है की जिनका काम भुगतान ना होने के कारण रुका हुआ है । पहले ही ठेकेदारों ने भुगतान ना मिलने को लेकर नगर निगम में केस डाला हुआ है जिसको लेकर हाई कोर्ट ने आदेश भी जारी किए थे लेकिन उसके बावजूद भी निगम के ठेकेदारों का भुगतान नहीं हुआ है।

मुख्यमंत्री जब भी शहर में आते है तो वह विकाश कार्यों को लेकर घोसड़ाए करते है।उन विकास कार्यों के लिए पैसे सी एम अनाउंसमेंट फंड में से ही खर्च किए जाते है।

नगर निगम के सूत्रों के अनुसार अब सरकार ने सीएम अनाउंसमेंट फंड देने के लिए भी मना कर दिया है।अब प्रदेश सरकार का कहना है की निगम अपनी कमाई का सोर्स बड़ाकर विकास कार्यों में लगाए।

Written by : Gouri Sharma

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...