Pehchan Faridabad
Know Your City

राज्य सभा चुनाव के बाद संसद मे बड़े बदलाव, किस सीट पर कौन जीता ? जानिए यहां

कोरोना महामारी से पूरा देश ग्रस्त है और अधिकतर कार्यो पर विराम लग गया है। इन्ही सभ कार्यो मे राज्य सभा के चुनाव भी थे जो मौलिक रूप से 26 मार्च को होने थे पर इस वायरस के कारण चुनाव आयोग द्वारा आगे कर दिए गए थे। यह चुनाव कुल 19 सीटों के लिए होने थे जिसमे 4 सीट गुजरात , 4 सीट मध्यप्रदेश, 3 सीट राजस्थान, 4 सीट आंध्रप्रदेश , 1 सीट मणिपुर, 1 सीट मेघालय, और 2 सीट झारखंड की थी।

वाय. एस. आर कांग्रेस ने जीता पूर्ण आंध्रप्रदेश

इस चुनाव मे आंध्रप्रदेश मे सभी सीटों के लिए चुनाव थे और चारो सीटों पर “वाय. एस. आर” ने पूर्ण बहुमत से जीत हासिल करि और अपनी पार्टी की क्षमता राज्य सभा मे 2 से 6 पर बढ़ा दी। विधान सभा के रिटर्निंग अफसर ” पी. बालाकृष्णनामाचार्युलु ने कहा कि 4 उम्मीदवारो को जीत प्राप्त हुई है ,जिसमें अयोध्या रामी रेड्डी अल्ला, नाथवानी परिमल, पिल्लई सुभाषचंद्र बोस, और वेंकटरमन राव शामिल है। हर एक उम्मीदवार को 38 वोट् प्राप्त हुए है।

नार्थ ईस्ट मे इन.डी .ए ने मारी बाज़ी

इस बार मेघालय की एक सीट पर नैशनल पीपलस पार्टी के उम्मीदवार “डब्लू. आर खारलुखि” को कुल 58 वोट्स मे से 39 वोट्स प्राप्त हुए और भारी बहुमत से कांग्रेस के उम्मीदवार को पराजित किया। वही मणिपुर मे बी.जे.पी उम्मीदवार और वहां के नामी राजा लेइसेम्बा सानाजाओबा को पूरे दिन के ड्रामें के बाद जीत हासिल हुई क्योंकि उनके प्रतिद्वंद्वी टी. माँजी बाबू जो कांग्रेस के उम्मीदवार है उन्होंने चुनाव आयोग से यह दरख्वास्त करि थी कि विधानसभा के दो वोट न माने जाए पर चुनाव आयोग ने उस पर कोई फैसला नही दिया।

राजस्थान मे कांग्रेस को मिली ज़्यादा सीटे

राजस्थान जहाँ कांग्रेस की सरकार है वहां की तीनों राज्य सभा सीटों पर चुनाव थे और कांग्रेस को तीन मे से 2 पर विजयी प्राप्त हुई है। वही बी.जे.पी केवल एक सीट जीत पाई। कांग्रेस के उम्मीदवार के.सी. वेणुगोपाल (अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव) और पूर्व राजस्थान युवा कांग्रेस के अध्यक्ष नीरज डांगी थे। वही बी.जे.पी के उप प्रदेश अध्यक्ष राजेंद्र गहलोट को जीत प्राप्त हुई।

दिलचस्प गुजरात

जहाँ बाकी प्रदेशो मे साधरण चुनाव होते है , गुजरात मे राज्य सभा चुनावों का इतिहास और वर्तमान दोनो बहुत अलग चलते है। पिछली बार की तरह इस बार भी वोट काउंटिंग मे 4 घंटे का विलंब था। वोट काउंटिंग शाम 5 बजे से शुरू होनी थी पर कांग्रेस ने यह मांग करि की चुनाव आयोग बी.जे.पी के 2 वोट हटा दे और इस वजह से काउंटिंग जल्दी शुरू नही हो पाई। बी.जे.पी के तीन उम्मीदवार , अभय भारद्वाज, रामिला बारा, नरहरि अमीन और कांग्रेस के शाक्तसिं गोहिल को गुजरात से विजेता घोषित किया गया।

मध्यप्रदेश और झारखंड

वही मध्यप्रदेश मे पूर्व कांग्रेस सांसद ज्योतिराजआदित्य सिंध्या जो इसी वर्ष बी.जे.पी मे शामिल हुए है और बी.जे.पी उम्मीदवार सुमेर सिंह सोलंकी को विजय प्राप्त हुई। वही कांग्रेस से मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह भी विजय हुए है।

वही झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री शिबू सोरेन और बी.जे.पी के झारखंड प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश को विजय प्राप्त हुई है।

वही कर्नाटक की 4 सीट और अरूणाचल प्रदेश की एक सीट के लिए भी शुक्रवार को चुनाव होने थे पर उम्मीदवार सीधा विजयता घोषित करदिये गए क्योंकि 5 सीटों पर कोई और उम्मीदवार नही था। इन्ह 5 विजयता उम्मीदवारों मे से एक पूर्व प्रधानमंत्री देव गौडा भी है।

इन्ह चुनाव के बाद एन. डी. ए के पास राज्य सभा मे 101 सांसद है और अब बहुमत से केवल 22 सीट धुर है।

Written by – Harsh Datt

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More