HomeReligionविश्व शांति के लिए सूर्यग्रहण पर ब्रहमसरोवर के तट पर लगाई आस्था...

विश्व शांति के लिए सूर्यग्रहण पर ब्रहमसरोवर के तट पर लगाई आस्था की डुबकी

Published on

महान संतों ने गंगा घाट पर 3 घंटे 26 मिनट तक किया धार्मिक अनुष्ठानन, कार्षिण पीठाधीश्वर स्वामी गुरु शरणानंद महाराज व गीता मनीषी स्वामी ज्ञानानंद ने ब्रहमसरोवर पर किया दंडवत प्रणाम, कुरुक्षेत्र में 10 बजकर 20 मिनट से दोहपर 1 बजकर 47 मिनट तक रहा सूर्यग्रहण, हवन यज्ञ के लिए बनाए गए 3 हवन कुंड, धार्मिक अनुष्ठïान में किया गया 7 तरह का पाठ, प्रशासन द्वारा किए गए थे सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता प्रबंध किया

धर्मक्षेत्र कुरुक्षेत्र में ब्रहमसरोवर के पावन तट पर सूर्य ग्रहण पर विश्व शांति और कोरोना महामारी की मुक्ति के लिए हवन यज्ञ के साथ-साथ मंत्रों का जाप किया गया। इस ब्रहमसरोवर के पावन तट पर जैसे ही सूर्य ग्रहण का स्पर्श शुरु हुआ तो महान संतों ने सर्वप्रथम गणेश अथर्व शीर्ष पाठ का जाप शुरु किया और सूर्य ग्रहण की मौक्ष प्राप्ति तक विश्व शांति से लेकर कोरोना महामारी की मुक्ति के लिए 7 तरह के पाठ किए गए।

विश्व शांति के लिए सूर्यग्रहण पर ब्रहमसरोवर के तट पर लगाई आस्था की डुबकी

इस विशेष धार्मिक अनुष्ठïान में कार्षिण पीठाधीश्वर स्वामी गुरु शरणानंद महाराज व गीता मनीषी स्वामी ज्ञानानंद महाराज के साथ-साथ देश भर से आए महान संतों ने विश्व कल्याण के लिए सूर्य ग्रहण के अवसर पर पूजा-अर्चना की है। अहम पहलू यह है कि इस विश्व शांति पाठ से पहले मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने भी सभी संत जनों से आनलाईन प्रणाली से बातचीत कर राष्टï्र सुख के लिए मंगल कामना की है।

रविवार को कुरुक्षेत्र में सूर्यग्रहण का मुख्य केन्द्र बना, इस स्थल पर सुबह 10 बजकर 20 मिनट से लेकर दोपहर 1 बजकर 47 मिनट तक सूर्य ग्रहण का प्रभाव रहा। इस सूर्यग्रहण के महत्व को देखते हुए कार्षिण पीठाधीश्वर स्वामी गुरु शरणानदं महाराज, गीता मनीषी स्वामी ज्ञानानंद महाराज, पथमेहडा गऊशाला के संघ दथ शरणानंद महाराज, स्वामी राजेन्द्र दास महाराज सहित अन्य संत जन ब्रहमसरोवर के गंगा घाट पर पहुंचे।

विश्व शांति के लिए सूर्यग्रहण पर ब्रहमसरोवर के तट पर लगाई आस्था की डुबकी

यहां पहुंचने पर सबसे पहले सभी संत जनों ने ब्रहमसरोवर के तट पर पहुंचकर दंडवत प्रणाम किया और सरोवर के किनारे पूजा-अर्चना की तथा इसके पश्चात स्नान भी किया। सभी संतों ने स्नान करने के उपरांत हरियाणा विज्ञान एवं प्रोद्योगिकी विभाग की तरफ से लगाए गए

टेलिस्कोप से सूर्य ग्रहण के अदभुत दृश्यों को भी देखा और इसके पश्चात जैसे ही सूर्यग्रहण का 10 बजकर 20 मिनट पर स्पर्श का समय हुआ तो सभी संत महात्मा गंगा घाट पर पहुंचे और विश्व शांति पाठ का जाप शुरु किया। यहां पर कुरुक्षेत्र लोकसभा क्षेत्र के सांसद नायब सिंह सैनी, थानेसर विधाक सुभाष सुधा, भाजपा के जिलाध्यक्ष धर्मवीर मिर्जापुर, जिप चैयरमैन गुरदयाल सुनहेड़ी, केडीबी के मानद सचिव मदन मोहन छाबड़ा, केडीबी सदस्य उपेन्द्र सिंघल, सौरव चौधरी ने भी विश्व शांति पाठ में शामिल होकर मंत्रौच्चारण किया।

विश्व शांति के लिए सूर्यग्रहण पर ब्रहमसरोवर के तट पर लगाई आस्था की डुबकी

सूर्यग्रहण के स्पर्श से लेकर मोक्ष प्राप्ति के समय तक कार्षिण पीठाधीश्वर स्वामी गुरु शरणानदं महाराज, गीता मनीषी स्वामी ज्ञानानंद महाराज, पथमेहडा गऊशाला के संघ दथ शरणानंद महाराज, स्वामी राजेन्द्र दास महाराज सहित अन्य संत जनों ने राष्टरीय स्तर पर आर्थिक सम्पन्नता के लिए सुकत हवन, गो सरंक्षण एवं मंगल कामना के लिए श्री पुरुष सुकत,

कोरोना महामारी के नाश के लिए रुद्र सुकत, महामारी मुक्ति के लिए दुर्गा सप्तसती का पाठ, शांति एवं बुद्घि विवेक के लिए गायत्री महामंत्र का जाप, शत्रु विजय एवं रोग मुक्ति के लिए आदित्य ह्दय स्तोत्र तथा निर्विघ्न कार्यक्रम के लिए सबसे पहले प्रथम गणेश अथर्व शीर्ष पाठ किया गया। इस विश्व शांति धार्मिक अनुष्ठïान में अवदुत आश्रम से परमहंस ज्ञानेश्वर महाराज,

विश्व शांति के लिए सूर्यग्रहण पर ब्रहमसरोवर के तट पर लगाई आस्था की डुबकी

निर्मला पंचायती अखाड़ा से महंत बुद्घ सिंह, गोरख नाथ अखाड़ा से मंगल राम, श्री जयराम आश्रम से सत्यवान, श्री थानेश्वर मंदिर पंचायती अखाड़ा महानिर्माणी से रोशन पूरी, श्री पंचायती अखाड़ा बड़ा उदासीन से महंत महेश मुनी व महंत देवी शरण दास, श्री पंचायती अखाड़ा नया उदासीन से प्रधान महंत धूनीदास, श्री गायत्री दुर्गा शिव-शक्ति मंदिर जून अखाड़ा से श्री वासुदेव नंद, मां भद्रकाली मंदिर से सतपाल शर्मा व सुनील शर्मा, ठाकुर दास श्री नाभीकमल मंदिर बैरागी सम्प्रदाय से महंत विशाल आदि संतों महात्माओं ने पाठ किया।

विश्व शांति और कोरोना महामारी से मुक्ति के लिए गंगा घाट पर 3 हवन कुंड बनाए गए थे और कोविड-17 की एडवाईजरी के अनुसार गंगा घाट व सुभद्रा घाट पर धार्मिक अनुष्ठïान और शंाति पाठ के लिए सोशल डिस्टैंस के साथ संत जनों के बैठने की संख्या भी निर्धारित की गई थी।

विश्व शांति के लिए सूर्यग्रहण पर ब्रहमसरोवर के तट पर लगाई आस्था की डुबकी

इस विश्व शांति पाठ को विश्व के कोने-कोने तक पहुंचाने के लिए टीवी चैनलों और सोशल मीडिया के माध्यमों का बखुबी प्रयोग किया गया और लोगों ने घर बैठे ही सूर्यग्रहण पर शांति पाठ किया। कोरोना महामारी को जहन में रखते हुए जिलाधीश एवं उपायुक्त धीरेन्द्र खडगटा की तरफ से सूर्यग्रहण पर लोगों की सुरक्षा व्यवस्था के लिए कफ्र्यू के आदेश जारी किए थे,

इन आदेशों के बाद कुरुक्षेत्र में मुवमैंट करने पर पाबंदी रही और सुरक्षा व्यवस्था के बीच सूर्य ग्रहण का धार्मिक अनुष्ठïान सम्पन्न हुआ। उपायुक्त धीरेन्द्र खडगटा ने कहा कि सुरक्षा-व्यवस्था के बीच सूर्य ग्रहण का धार्मिक अनुष्ठïान सम्पन्न हुआ हे।

इस अनुष्ठïान में शामिल होने के लिए बकायदा पास जारी किए गए थे। पुलिस अधीक्षक आस्था मोदी ने भी चारों तरफ लगाई गई नाकाबंदी पर पैनी निगाहे रखी ताकि सूर्यग्रहण के समय कोई भी श्रृद्घालु ब्रहमसरोवर पर ना पहुंच पाए। यह सुरक्षा व्यवस्था कोरोना वायरस महामारी को लेकर ही की गई थी। इस मौके पर एडीसी वीना हुड्डïा, अश्विनी मलिक, सीईओ केडीबी गगनदीप सिंह, सूचना, जन सम्पर्क एवं भाषा विभाग के अतिरिक्त निदेशक डा. कुलदीप सैनी सहित अन्य अधिकारीगण मौजूद थे।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...