Homeशादी के 36 साल बाद भी नहीं है कोई संतान, खुद की...

शादी के 36 साल बाद भी नहीं है कोई संतान, खुद की औलाद के लिए तरसते है अनुपम खेर

Published on

मशहूर कलाकार अनुपम खेर ने बॉलीवुड फिल्मी दुनिया में 500 से भी अधिक फिल्मों में अभिनय किया है। अनुपम ख़ैर ने फिल्मो में हर तरह का किरदार निभाया है। अभिनय के दम पर ऐसी खास पहचान बनाई है आज भी उनके अभिनय को याद किया जाता है। एक्टर अनुपम खेर और किरण खेर दोनों ही ऐसे सितारे हैं जिन्होंने बॉलीवुड फिल्मी दुनिया में काफी नाम कमाया है।

विलेन से लेकर कॉमेडीयन तक के रोल निभा कर अनुपम ने एक अलग ही मुकाम हासिल किया है। अनुपम खेर और किरण खेर की जिंदगी में एक कमी यह रही कि उनकी खुद की कोई औलाद नहीं है उनके एक बेटा है जिसका नाम सिकंदर है लेकिन वह बेटा किरण खेर और उनके पहले पति से है।

शादी के 36 साल बाद भी नहीं है कोई संतान, खुद की औलाद के लिए तरसते है अनुपम खेर

अनुपम खेर और उनकी पत्नी किरण से दोनों ही का दूसरा विवाह है। अनुपम ने नाम ,दौलत और शौहरत सब कमा लिया ,लेकिन पैसे से सब चीज़े नही खरीद सकते। अनुपम खेर की शादी पहले हुई थी उस शादी से अनुपम खेर को कोई खुशी नहीं मिली और वह शादी से खुश नहीं थे उन्होंने यह निर्णय लिया अपनी पहली पत्नी से अलग होने का और वह तलाक लेकर अलग हो गए।

शादी के 36 साल बाद भी नहीं है कोई संतान, खुद की औलाद के लिए तरसते है अनुपम खेर

किरण खेर ने भी पहली शादी में शादी के 1 वर्ष बाद ही बेटे सिकंदर को जन्म दिया और 1 वर्ष बाद ही उन्होंने भी अपनी पहली शादी से नाखुश होकर अलग होने का निर्णय लिया अपने पति से तलाक ले लिया। कुछ चीज़े किस्मत से मिलती है। पर्दे पर सबका मनोरंजन करने वाले कलाकारो का निजी जीवन कैसा है ये बस वो ही जानते है।

शादी के 36 साल बाद भी नहीं है कोई संतान, खुद की औलाद के लिए तरसते है अनुपम खेर

अनुपम खेर का पहला विवाह 1955 में शिमला में हुआ था। अनुपम इस शादी से कभी भी खुश नहीं थे। जिसके चलते उन्होंने 1985 में अपनी पत्नी को तलाक दे दिया था।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...