Pehchan Faridabad
Know Your City

NSUI ने फ़ाइनल ईयर व री अपीयर के छात्रों को प्रमोट करने के लिए जे सी बॉस विश्वविद्यालय पर किया प्रदर्शन

फरीदाबाद एनएसयूआई के जिला उपाध्यक्ष विकास फागना के नेतृत्व में कोरोना महामारी को ध्यान में रखते हुए दर्जन भर छात्रों ने फ़ाइनल ईयर व री अपीयर के छात्रों को प्रमोट करने के लिए जे सी बॉस विश्वविद्यालय पर थालिया बजाकर प्रदर्शन किया। छात्र संघठन ने विश्वविद्यालय के गेट पर घंटो तक नारेबाजी की और विश्वविद्यालय के डीन को ज्ञापन सौंपा।

इस अवसर पर विकास फागना ने कहाकि पिछले कुछ दिन से प्रदेश स्तर पर एनएसयूआई के प्रदेश अध्यक्ष लगातार मुख्यमंत्री,शिक्षा मंत्री व विश्वविद्यालय के वीसी को मेल के माध्यम से परीक्षाओं संबधित छात्रों को हो रही समस्याओं से अवगत करवा रहें हैं। विकास फागना ने कहाकि एनएसयूआई यूनिवर्सिटी के गेट पर सांकेतिक प्रदर्शन कर कुलपति को ज्ञापन सौंपकर सभी छात्रों को बिना परीक्षाओं के प्रोमोट करने की मांग कर चुके है लेकिन सरकार और प्रशासन हमारी समस्याओं को लगातार दरकिनार करते हुए परीक्षा लेने पर अड़ीग है। उन्होंने कहाकि कोविड-19 के चलते मार्च से लेकर अब तक लॉकडाउन लगा हुआ है जिसके कारण छात्रों की कक्षाएं नहीं लग पाई है और अगर डिजिटल प्लेटफार्म के माध्यम से लगी भी है तो महज औपचारिकता के लिए लगी है जिसमे व्हाट्सएप के माध्यम से कुछ पीडीएफ भेजना कभी पाठ्यक्रम के सिलेबस को पूरा करने के बराबर नही हो सकता इसलिए बिना सिलेबस को पूरा किए परीक्षा लेना”बिना इंक के पेन” के बराबर है, ऐसे समय मे हर छात्र अलग अलग परिस्थिति में है व देहात में होने के कारण अनेको छात्र ऑनलाइन कक्षाओं से भी वंचित है। इस दौरान अगर सरकार बिना सिलेबस कम्पलीट कराये ऑनलाइन परीक्षा भी लेती है तो यह फैसला छात्रहित में न होकर महज औपचारिकता मात्र ही होगा। छात्रावास, पी जी व ट्रांसपोर्ट बंद होने की वजह से दूर-दराज से आने वाले छात्रों को गंभीर समस्याओं का सामना करना पङेगा, ऐसे में छात्र कैसे पहुचे, कहाँ रहे, क्या खाएं।

उन्होंने कहाकि सरकार इस साल री-अपीयर के एग्जाम न लेकर अगली साल लेना चाहती है, जिससे अगर किसी छात्र के एक भी पेपर में री-अपीयर है तो वो ना तो आगे दाखिला ले सकता है और ना ही नौकरी। इस तरह सरकार री-अपील वाले छात्रों का एक साल बर्बाद करके अन्याय कर रही है। कोरोना काल मे छात्र ठीक से पढ़ नहीं पाये हैं और अब आये दिन परीक्षाओं को लेकर आ रही, नई नई गाइडलाइन्स से छात्रों के दिमाग पर काफी स्ट्रेस आया हुआ है जिससे छात्र डिप्रेशन शिकार हो रहे हैं। उन्होंने कहाकि अगर आईआईट कानपुर-मेरठ-मुम्बई,एमिटी महाराष्ट्र सरकार द्वारा बिना परीक्षाओं के छात्रों को प्रोमोट करने का निर्णय लिया गया है,ऐसे में हरियाणा सरकार को भी जल्द से जल्द इनकी तर्ज पर UG/PG व अन्य कोर्सो के सभी छात्रों को बिना परीक्षाओं के प्रोमोट करने के आदेश जारी करने चाहिए । एनएसयुआई पिछले दिन से लगातार हरियाणा सरकार तथा विवि प्रशासन से छात्रहित में यही मांग कर रही है कि छात्रों की जिंदगी को दाँव पे न लगाते हुए सभी छात्रों को बिना परीक्षाओं के जल्द से जल्द प्रोमोट किया जाए, क्योकी परीक्षाए लेकर छात्रों के जीवन से खिलवाड़ करना सही नही है।

इस मौके पर मनीषा सिंह, सोमिया त्रिपाठी, सन्नी बादल,पियूष सिंह,लोकेश चौधरी,गौरव फागना, हरीश फागना, सचिन ,मोहित , अमीर, विवेक, अंकित शर्मा, अतुल सिंह,निशांत,विशाल,विमल आदि मौजूद थे।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More