Pehchan Faridabad
Know Your City

सरकार का प्रयास है कि लॉकडाउन में कोई भी व्यक्ति भूखा नहीं रहना चाहिए।

मुख्यमंत्री मनोहरलाल ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान हर जरूरतमंद व्यक्ति तक खाना व राशन पहुंचना चाहिए। जिला प्रशासन क्षेत्रीय, सेक्टर, जोनल व जिला स्तर पर कमेटी बनाकर एक चेन तैयार कर दें, जो प्रतिदिन जरूरतमंद लोगों को खाना पहुंचाएं। सभी कमेटियां बेहतर तालमेल से इस कार्य को कारगर ढंग से करें।

मुख्यमंत्री सोमवार को विडियो कांफ्रेंस के माध्यम से सभी मंडल आयुक्तों, उपायुक्तों व खाना वितरण के लिए कार्य कर रही सामाजिक व धार्मिक संस्थाओं के प्रतिनिधियों से बात कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सरकार का प्रयास है कि लॉकडाउन में कोई भी व्यक्ति भूखा नहीं रहना चाहिए। सभी जिले लोगों को सूखा राशन वितरण पर अधिक कार्य करें। रिलीफ सेंटर में पका खाना भी दिया जा सकता है। अगर किसी परिवार के पास गैस सिलेंडर नही हैं तो उसे तुरंत कनैक्शन उपलब्ध कराया जाए। उन्होंने कहा कि प्रदेश को तीन जोन ग्रीन, आरेंज व रैड में बांटा गया है।

आगामी दिनों में भी हर स्थान पर सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ध्यान रखा जाए। दुकानों, उद्योग व अन्य कार्य स्थलां पर सोशल डिस्टेंसिंग निरंतर मैनटेन रखी जाए। उन्होंने कहा कि लोगों की सुविधा के लिए सरकार ने तीन मोबाइल एप तैयार की है, जिनके माध्यम से राशन की डिमांड की जा सकती है। इसी प्रकार क्षेत्रीय कमेटियों में जिला के अधिकारी व कर्मचारी, पार्षद व अन्य प्रतिनिधि व वालिंटियर शामिल किए जाएं। क्षेत्रीय कमेटियों के लिए एक पोर्टल बनाया गया है। यह समय एकता दिखाने का है, इसलिए सभी मिलकर कार्य करें। उन्होंने कहा कि हरियाणा में 15 अप्रैल से सरसों की खरीद व 20 अप्रैल से गेहूं की खरीद का कार्य शुरू हो जाएगा। गेहूं की खरीद के लिए प्रदेश में करीब 1800 मंडियां बनाई जाएंगी, जिसमें किसानों के लिए दिन व समय निश्चित किया जाएगा तथा इसकी सूचना उन्हें मोबाइल के माध्यम से मिल जाएगी। इसके अलावा किसान घर पर भी गेहूं का स्टाॅक कर सकते हैं, इसके लिए उन्हें बारादाना उपलब्ध करवा दिया जाएगा। इसी प्रकार वे प्रतिदिन कोरोना विषय पर 5 बजे किसी न किसी व्यक्ति से अवश्य बात करेंगे। इसी प्रकार प्रदेशभर में 500 बसों में मोबाइल हेल्थ चेकअप की सुविधा शुरू की जाएगी। यह बसें गांवों में जाकर लोगों के हेल्थ की जांच करेंगी। इनमें सभी जरूरी उपकरण व स्टाफ उपलब्ध रहेगा।

मंडल आयुक्त संजय जून व उपायुक्त यशपाल ने बताया कि जिला फरीदाबाद में सभी प्रकार की कमेटियां बना दी गई हैं। खाना वितरण करने के लिए इन कमेटियां की चेन अच्छी तरह से कार्य कर रही है। इस कार्य में शहर की अनेक एनजीओ व लोग मिलकर कार्य कर रहे हैं। जिला में सभी जरूरतमंद व्यक्तियों तक खाने की पहुंच हो रही है। सर्वोदय फाउंडेशन से डा. अंशु गुप्ता ने बताया कि इस समय शहर में कई संस्थाओं में बड़े किचन बनाए गए हैं, जहां से हजारों की संख्या में फूड पैकेट्स तैयार किए जा रहे हैं। तैयार फूड पैकेट्स को जिला प्रशासन की ओर से जरूरतमंद व्यक्तियों तक पहुंचाया जा रहा है तथा उनका वितरण किया जा रहा है। इस अवसर पर एचएसवीपी के प्रशासक प्रदीप दहिया व विभिन्न संस्थाओं के प्रतिनिधि उपस्थित थे।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More