HomeFaridabadलोगो की सबसे बड़ी समस्या बनते जा हैं आवारा पशु, प्रशासन नहीं...

लोगो की सबसे बड़ी समस्या बनते जा हैं आवारा पशु, प्रशासन नहीं दे रही है कोई भी ध्यान

Published on

शहर में आवारा पशुओं की गिनती लगातार बढ़ती जा रही है। झुंड के रुप में आवारा जानवर शहर की सड़कों में आम घूमते नजर आ जाते हैं। जिस वजह से लोगों के काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। सड़क पर गुजरने वाले बड़े वाहनों की चपेट में आने से पशु कई बार चोटिल भी हो जाते हैं।

आवारा पशुओं के झुंड के रुप में घूमते नजर आते हैं। सड़कों पर घूमने वाले आवारा पशु अचानक आपस में भिड़ने लग जाते हैं। जिस वजह से राहगीरों को दिक्कत तो पेश आती ही है। साथ में इनकी चपेट में राहगीरों का चोटिल होने का डर भी बना रहता है।

लोगो की सबसे बड़ी समस्या बनते जा हैं आवारा पशु, प्रशासन नहीं दे रही है कोई भी ध्यान

इसी को देखते हुए पहचान फरीदाबाद की टीम इसका ब्योरा करने शहर की सड़को पर पहुंची तो वहां हमने देखा कि सच लोगो को इन आवारा पशुओं की वजह से बहुत ज्यादा दिक्कत आती है। उनको आवाजाही करने में बहुत मुस्किलो का सामना करना पड़ता है।

लोगो की सबसे बड़ी समस्या बनते जा हैं आवारा पशु, प्रशासन नहीं दे रही है कोई भी ध्यान

इसी के साथ जब हमने लोगो से बात करी को उन्होंने हमे बताया कि ये जानवर कही भी बैठ जाती है, जिस वजह से रोड पर जाम लग जाता है। और लोग अपने कार्यस्थल पर पहुंचने में लेट हो जाते है।

लोगो की सबसे बड़ी समस्या बनते जा हैं आवारा पशु, प्रशासन नहीं दे रही है कोई भी ध्यान

और लोगो ने हमे बताया कि इससे कई बार दुर्घटना हो भी चुकी है और होने का खतरा भी लगातार बना रहता है। लोगो ने यह भी कहा कि प्रशासन भी इस पर कोई ध्यान नहीं दे रही है। इन गायों को गौशाला में रखना चाहिए, मगर उन्होंने रोड़ों को ही गौशाला बना रखा है।

लोगो की सबसे बड़ी समस्या बनते जा हैं आवारा पशु, प्रशासन नहीं दे रही है कोई भी ध्यान

रात में तो इसका डर और भी बढ़ जाता है, क्योंकि कई बार सड़को पर लाइट नहीं जलती और अगर ये अचानक सामने आ जाते है तो इससे दुर्घटना होने का डर बढ़ जाता है। इसकी कीमत कई बार  लोगो को अपनी जान गवाकर भी चुकानी पड़ती है।



लोगो की सबसे बड़ी समस्या बनते जा हैं आवारा पशु, प्रशासन नहीं दे रही है कोई भी ध्यान

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...