Pehchan Faridabad
Know Your City

देश के नाम देश प्रधान का संदेश 3 मई तक रहेगा लॉक डाउन 7 बातों का रखें ख्याल

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार की सुबह अपने संदेश के जरिए देश में 3 मई तक लॉकडाऊन बढ़ाने की घोषणा की है। उन्होंने कहा कि कोरोना से बचाव का एक मात्र उपाय केवल सोशल डिस्टेंसिंग व लॉकडाऊन ही है। यह भी तय है कि देश को इसकी आर्थिक रूप से बड़ी कीमत चुकानी पड़ रही है, मगर इसके अलावा विश्व के किसी भी देश के पास कोई उपाय नहीं है।

उन्होंने कहा कि भारत ने पूरे विश्व के अन्य देशों के मुकाबले लॉकडाऊन के जरिए कोरोना को कंट्रोल करने में काफी हद तक सफलता पाई है। पूरे विश्व में भारत के उपायों की चर्चा भी हो रही है। मगर जिस प्रकार से देश के नागरिकों ने कष्ट सहनकर लॉकडाऊन को सफल बनाया है, उसी प्रकार आगे भी वह सहयोग करते हुए लॉकडाऊन को सफल बनाएं। उनकी देशवासियों से अपील व प्रार्थना है कि लॉकडाऊन का कोई भी नागरिक उल्लघंन ना करे।

इसलिए लॉकडाऊन की अवधि को 3 मई तक बढ़ाना जरूरी हो गया है। इसके लिए उन्होंने सभी प्रदेश के मुख्यमंत्रियों से कई बार मंत्रणा की है। देश केप्रधानमंत्री ने देश में 3 मई तक लॉकडाऊन बढ़ाने की घोषणा की
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार की सुबह अपने संदेश के जरिए देश में 3 मई तक लॉकडाऊन बढ़ाने की घोषणा की है।

देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा दिए गए 7 मंत्र

पहली बात-
अपने घर के बुजुर्गों का विशेष ध्यान रखेंविशेषकर ऐसे व्यक्ति जिन्हें पुरानी बीमारी हो,
उनकी हमें Extra Care करनी है, उन्हें कोरोना से बहुत बचाकर रखना है

दूसरी बात-
लॉकडाउन और Social Distancing की लक्ष्मण रेखा का पूरी तरह पालन करें ,
घर में बने फेसकवर या मास्क का अनिवार्य रूप से उपयोग करें

तीसरी बात-
अपनी इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए, आयुष मंत्रालय द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन करें गर्मपानी,काढ़ा,इनका निरंतर से सेवन करें

चौथी बात-
कोरोना संक्रमण का फैलाव रोकने में मदद करने के लिए आरोग्य सेतु मोबाइल App जरूर डाउनलोड करें।दूसरों को भी इस App को डाउनलोड करने के लिए प्रेरित करें:

पांचवी बात-
जितना हो सके उतने गरीब परिवार की देखरेख करें,
उनके भोजन की आवश्यकता पूरी करें:

छठी बात-
आप अपने व्यवसाय, अपने उद्योग में अपने साथ काम करे लोगों के प्रति संवेदना रखें,
किसी को नौकरी से न निकालें:

सातवीं बात-
देश के कोरोना योद्धाओं,
हमारे डॉक्टर- नर्सेस,
सफाई कर्मी-पुलिसकर्मी का पूरा सम्मान करें:

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More