HomeUncategorizedनहीं देखी होगी ऐसी शादी, दूल्हा नहीं दुल्हन लेकर आई बारात, कोट-पैंट...

नहीं देखी होगी ऐसी शादी, दूल्हा नहीं दुल्हन लेकर आई बारात, कोट-पैंट पहन लिए सात फेरे

Published on

समय के साथ-साथ हर चीज में बदलाव आता है। पुरानी परंपराएं टूटती हैं तो नई परंपराएं बनती है। नई और आधुनिक पीढ़ी के साथ परंपराओं में भी बदलाव आ रहा है। अब तक तो आपने यही देखा होगा कि दूल्हा बरात लेकर दुल्हन के घर पहुंचता है लेकिन सीकर में इस परम्परा को तोड़ते हुए एक दुल्हन घोड़ी पर सवार होकर दूल्हे के घर पहुंची और अग्नि के सात फेरे लेकर एक नए बंधन बंध गई।

सीकर की कृतिका सैनी दूल्हे की वेशभूषा पहनकर घोड़े पर सवार होकर अपने परिवार के साथ बारात लेकर विवाह स्थल पर पहुंची। इस दौरान लड़की पक्ष के लोग बराती बनकर नाचते गाते हुए पहुंचे।

नहीं देखी होगी ऐसी शादी, दूल्हा नहीं दुल्हन लेकर आई बारात, कोट-पैंट पहन लिए सात फेरे

लड़की के पिता महावीर सिंह ने बताया कि उन्होंने अपनी बेटी को बेटों की तरह पाला है और बेटी ने भी बेटे का ही फर्ज निभाया है। इसलिए उन्होंने पहले ही तय कर लिया था कि वह अपनी बेटी का विवाह भी बेटे की तरह ही करेंगे। इसीलिए बेटी ने साड़ी के स्थान पर कोट पेंट सिलवाई और और घोड़ी पर बैठकर बारात लेकर पहुंची।

चार बेटियों में सबसे छोटी है कृतिका

नहीं देखी होगी ऐसी शादी, दूल्हा नहीं दुल्हन लेकर आई बारात, कोट-पैंट पहन लिए सात फेरे

महावीर सैनी खुद हलवाई का काम करते हैं और पूरे परिवार का गुजारा हलवाई के काम से ही चलता है। महावीर सैनी के 4 बेटियां और दो बेटे हैं। कृतिका सैनी सबसे छोटी बेटी है।

नहीं देखी होगी ऐसी शादी, दूल्हा नहीं दुल्हन लेकर आई बारात, कोट-पैंट पहन लिए सात फेरे

उन्होंने तय किया की कृतिका की शादी बेटे की तरह ही की जाएगी। बेटी और खुद की ख्वाहिश को पूरी करने के लिए वर पक्ष को भी इस बात के लिए राजी किया गया कि बारात वह नहीं हम लेकर आएंगे।

खुद तैयार की शेरवानी

नहीं देखी होगी ऐसी शादी, दूल्हा नहीं दुल्हन लेकर आई बारात, कोट-पैंट पहन लिए सात फेरे

शादी के लिये कृतिका ने अपनी शेरवानी खुद ही तैयार की। इसके लिये उसे करीब तीन महीने लगे। बहरहाल कृतिका की शादी सोशल मीडिया में भी छायी हुई है। उसके दूल्हे के रूप को सभी ने पंसद किया।

अपनी मेहनत से जीते कई राज्य स्तरीय अवार्ड

नहीं देखी होगी ऐसी शादी, दूल्हा नहीं दुल्हन लेकर आई बारात, कोट-पैंट पहन लिए सात फेरे

बता दें कि कृतिका ने एमए तक की पढ़ाई पूरी करने के बाद राजधानी जयपुर स्थित निजी कॉलेज से फैशन डिजाइनिंग का डिप्लोमा किया है। वह स्कूल और कॉलेज में काफी एक्टिव छात्रा रही है। स्कूल में कृतिका स्काउट में करीब 7 साल तक रही। इस दौरान उसने अपनी वर्किंग की बदौलत जिला और राज्य स्तर पर कई अवॉर्ड भी जीते हैं।

दूल्हा निजी बैंक में है अकाउंटेंट

नहीं देखी होगी ऐसी शादी, दूल्हा नहीं दुल्हन लेकर आई बारात, कोट-पैंट पहन लिए सात फेरे

1 दिसंबर को कृतिका की शादी सीकर के राधाकिशनपुरा निवासी मनीष सैनी से हुई। कृतिका का दूल्हा मनीष निजी बैंक में अकाउंटेंट के पद पर है।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...