HomeUncategorizedपूरे एक साल खिलाया फ्री में खाना तो सरकार ने बंद कर...

पूरे एक साल खिलाया फ्री में खाना तो सरकार ने बंद कर दिया ढाबा, फिर खुलने जा रहा है ‘राणा’ का ‘गोल्डन हट’

Published on

आज हम आपको उस शख्स के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसने किसानों को एक साल तक फ्री खाना खिलाया। जब सरकार को इसका पता चला तो सख्ती बरतते हुए उसका ढाबा बंद करा दिया गया। पहले दिन से किसान आंदोलन के समर्थक रहे राम सिंह राणा अब दोबारा अपना गोल्डन हट ढाबा शुरू करने जा रहे हैं। यह ढाबा अमृतसर-नई दिल्ली हाईवे पर सोनीपत के पास स्थित है। आंदोलन के दौरान राम सिंह हरियाणा सरकार के निशाने पर आ गए और सरकार ने सख्ती बरतनी शुरू की तो राणा को ढाबा बंद करना पड़ा।

शनिवार को ढाबे के सामने से गुजरते किसानों के फतेह मार्च को देखकर वे बेहद खुश नजर आए। उन्होंने कहा कि गोल्डन हट बहुत जल्दी फिर से चालू होने जा रहा है। बेशक आंदोलन खत्म हो चुका है लेकिन किसानों के लिए उनके ढाबा पर फ्री खाने की सुविधा हमेशा जारी रहेगी।

पूरे एक साल खिलाया फ्री में खाना तो सरकार ने बंद कर दिया ढाबा, फिर खुलने जा रहा है ‘राणा’ का ‘गोल्डन हट’

शनिवार को फतेह मार्च के दौरान पंजाब लौट रहे किसानों के लिए राम सिंह राणा ने अपने गोल्डन हट ढाबा में लंगर का आयोजन किया। जीत की खुशी में किसानों का मुंह मीठा कराने के लिए गुलाब जामुन का भी इंतजाम किया गया।

राणा के ढाबे का रास्ता बंद कर दिया था

शनिवार को फतेह मार्च के दौरान पंजाब लौट रहे किसानों के लिए राम सिंह राणा ने अपने गोल्डन हट ढाबा में लंगर लगाया। किसानों के लिए गुलाब जामुन का भी इंतजाम किया गया

आंदोलन करने वाले किसानों की मदद करने की वजह से राणा खूब सुर्खियों में रहे। जिसकी वजह से उन्हें हरियाणा सरकार के साथ-साथ केंद्र सरकार के कोप का भाजन बनना पड़ा। सरकार के आदेश पर नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (NHAI) ने सोनीपत में हाईवे पर उनके ढाबे के लिए बने कट को बड़े-बड़े पत्थर लगाकर बंद कर दिया था ताकि वाहन चालक वहां न रुक सकें।

सुखबीर-मजीठिया ने किया हौंसला अफजाई

पूरे एक साल खिलाया फ्री में खाना तो सरकार ने बंद कर दिया ढाबा, फिर खुलने जा रहा है ‘राणा’ का ‘गोल्डन हट’

राम सिंह राणा पर और भी कई तरह के दबाव डाले गए। धीरे-धीरे माहौल ऐसा बन गया कि उन्हें अपना ढाबा बंद करना पड़ा। उस समय कई सिख और किसान संगठनों ने उनके हक में आवाज बुलंद की।

तब शिरोमणि अकाली दल के प्रधान सुखबीर बादल और पूर्व अकाली मंत्री बिक्रम मजीठिया खास तौर पर उनके ढाबे पर पहुंचे थे। किसानों की मदद करने की वजह से उन्हें गोल्डन टैंपल में सिरोपा देकर सम्मानित भी किया गया।

कुरुक्षेत्र के हैं राम सिंह राणा

पूरे एक साल खिलाया फ्री में खाना तो सरकार ने बंद कर दिया ढाबा, फिर खुलने जा रहा है ‘राणा’ का ‘गोल्डन हट’

राम सिंह राणा मूलतः कुरुक्षेत्र के रहने वाले हैं। वे कुरुक्षेत्र व सोनीपत में गोल्डन हट नाम से ढाबा चलाते हैं। उनके दो ढाबे हैं एक कुरुक्षेत्र और दूसरा सोनीपत। सोनीपत वाला ढाबा तो उन्होंने पूरी तरह किसान आंदोलन के ही नाम कर रखा है। वहां किसानों के रहने, खाने-पीने, नहाने-धोने और लंगर की व्यवस्था है। इतना ही नहीं राणा लगातार किसानों के पास पानी, दूध, आटे या दूसरे जरूरी सामान की भी सप्लाई कर रहे हैं।

पूरे एक साल खिलाया फ्री में खाना तो सरकार ने बंद कर दिया ढाबा, फिर खुलने जा रहा है ‘राणा’ का ‘गोल्डन हट’

वर्ष 2020 में किसानों ने जब सिंघु बॉर्डर पर धरना शुरू किया तो हाईवे पर उनकी मदद के लिए राम सिंह राणा सामने आए। उन्होंने अपने ढाबे पर किसानों के लिए फ्री खाना शुरू किया। ताकि आंदोलन के दौरान किसी भी किसान को भोजन की दिक्कत न हो।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...