Homeइन स्टार्स ने सरकारी नौकरी छोड़कर मारी थी इंडस्ट्री में एंट्री, पाई...

इन स्टार्स ने सरकारी नौकरी छोड़कर मारी थी इंडस्ट्री में एंट्री, पाई गजब की सफलता…

Published on

सरकारी नौकरी हासिल करना हर युवा का पहला सपना होता है। इस सपने को सच करने में कोई सफल हो जाता है तो कोई पीछे रह जाता है। भारतीय फिल्म इंडस्ट्री में कई कलाकार मौजूद हैं, जो अलग-अलग बैकग्राउंड और क्षेत्र से आकर फिल्मी दुनिया में अपनी किस्मत आजमाते हैं। कई लोगों का मानना है कि अच्छा जीवन जीने के लिए सरकारी नौकरी एक शानदार जरिया है। लेकिन कहते हैं ना कि काम वही अच्छा जो मन को भाए।

कुछ लोग सरकारी नौकरी को ही बेस्ट मानते हैं तो कोई इससे दूर होकर सोचता है। भारतीय फिल्म जगत में ऐसे सितारे भी हैं, जिन्होंने एक्टिंग में अपना करियर बनाने के लिए सरकारी नौकरी से मुंह मोड़ लिया।

इन स्टार्स ने सरकारी नौकरी छोड़कर मारी थी इंडस्ट्री में एंट्री, पाई गजब की सफलता…

बॉलीवुड की दुनिया में अक्सर ही लोग पैसों के लिए भागते हैं। यहां बेशुमार पैसा मिलता है। यहां फेम भी मिलता है। मशहूर अभिनेता राजकुमार आज भी बॉलीवुड के टॉप अभिनेताओं में शामिल हैं। हिंदी सिनेमा में अपनी पहचान रखने वाले राजकुमार एक्टिंग में आने से पहले मुंबई में सब इंस्पेक्टर हुआ करते थे। उन्होंने साल 1952 में अपनी जॉब को छोड़कर फिल्म में किस्मत आजमाने का सोचा था।

इन स्टार्स ने सरकारी नौकरी छोड़कर मारी थी इंडस्ट्री में एंट्री, पाई गजब की सफलता…

भाग्य किसी भी समय आपको कहीं भी लेकर जा सकता है। भाग्य से बड़ा कुछ नहीं है। ऐसा ही हुआ बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेताओं में से एक देव आनंद के साथ। अपने लुक्स और बेहतरीन अदाकारी से दीवाना बनाने वाले देव सहाब फिल्म जगत में आने से पहले सरकारी नौकरी किया करते थे। एक्टर ने उन दिनों मुंबई के सेंसर बोर्ड में बतौर क्लर्क काम किया था।

Birthday Special Unknown Facts About Actor Rajkumar - Birthday special :  फिल्म के लिए छोड़ी इंस्पेक्टर की नौकरी, खाने के पड़े लाले, उसके बाद जो  हुआ... | Patrika News

इंडस्ट्री के फेमस विलन अमरीश पूरी ने एक अलग ही पहचान स्थापित की है। पुरी ने अपने करियर में करीब 400 से ज्यादा फिल्मों में काम किया है। हालांकि, बहुत ही कम लोगों को यह पता होगा कि अभिनय की दुनिया में आने से पहले अभिनेता बीमा निगम में एक क्लर्क की नौकरी किया करते थे। अमरीश पुरी भले ही आज हमारे बीच नहीं रहे, लेकिन उनकी बेहतरीन अदाकारी अब भी सभी के जहन में जिंदा है।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...