HomeUncategorizedजानिए CDS Bipin Rawat के अंतिम संस्कार में पहुंचा यह बच्चा कौन...

जानिए CDS Bipin Rawat के अंतिम संस्कार में पहुंचा यह बच्चा कौन है, इसके पीछे की कहानी जानकर नम हो जाएंगी आपकी आंखें

Published on

जैसा की आप सभी को पता ही है कि तमिलनाडु की ओर जाता हुआ एक प्लेन क्रैश हो गया था। जिसमें देश के पहले सीडीएस जनरल बिपिन रावत सवार थे। अब वह पंचतत्व में विलीन हो चुके हैं। दोनों बेटियों ने अपने पिता और मां मधुरिका रावत  का अंतिम संस्कार किया। इससे पहले दोनों का शव अंतिम दर्शन के लिए उनके घर पर ही रखा गया था। सुबह से ही दर्शन के लिए लाइन लगी हुई थी। जनरल बिपिन रावत की बड़ी बेटी कीर्तिका अपने मासूम बेटे के साथ वहां पहुंची थी।

कृतिका ने अपने बेटे के नन्हें हाथों से उसके नाना नानी के पार्थिव शरीर के ऊपर फूल समर्पित करवाएं ।शायद इस नन्हे को यह पता भी ना हो कि जिसके ऊपर वह फूल समर्पित कर रहा है, वह उसके नाना नानी है। इतना जरूर है कि लोगों की भीड़ में यह मासूम अपने नाना नानी के चेहरे को खोज रहा होगा।

जानिए CDS Bipin Rawat के अंतिम संस्कार में पहुंचा यह बच्चा कौन है, इसके पीछे की कहानी जानकर नम हो जाएंगी आपकी आंखें

इस हादसे में जान गंवाने वाले सीडीएस बिपिन रावत और उनकी पत्नी मधुलिका को तीनों सेना प्रमुखों और रक्षा मंत्री ने श्रद्धांजलि दी थी। जनरल रावत की अंतिम यात्रा उनके निवास स्थान से शुरू हुई और आर्मी कैंट पहुंची थी।

जानिए CDS Bipin Rawat के अंतिम संस्कार में पहुंचा यह बच्चा कौन है, इसके पीछे की कहानी जानकर नम हो जाएंगी आपकी आंखें

जनरल बिपिन रावत को 17 तोपों की सलामी दी गई थी। उनके अंतिम दर्शन के लिए दिल्ली की सड़कों पर लोगों की भीड़ लगी रही। जहां जहां से भी शव का वाहन गुजरा वहां लोग हाथों में तिरंगा लिए अमर रहे के नारे लगाते हुए दिखे थे।

जानिए CDS Bipin Rawat के अंतिम संस्कार में पहुंचा यह बच्चा कौन है, इसके पीछे की कहानी जानकर नम हो जाएंगी आपकी आंखें

बुधवार को सीडीएस जनरल बिपिन रावत को लेकर Mi17V5 हेलिकॉप्टर सुलूर से वेलिंगटन ले जा रहा था। डिफेंस सर्विसेज स्टाफ कॉलेज में लेक्चर देना था। हेलिकॉप्टर को दोपहर 12.15 बजे वेलिंगटन में उतरना था।

जानिए CDS Bipin Rawat के अंतिम संस्कार में पहुंचा यह बच्चा कौन है, इसके पीछे की कहानी जानकर नम हो जाएंगी आपकी आंखें

दोपहर करीब 12.09 बजे हेलिकॉप्टर से संपर्क टूट गया और दोपहर करीब 12.20 बजे दुर्घटनाग्रस्त हो गया। हेलिकॉप्टर में 14 लोग सवार थे, जिनमें से 13 की मौत हो गई। अकेले बचे ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह का बेंगलुरु के सेना हॉस्पिटल में इलाज चल रहा है।

जानिए CDS Bipin Rawat के अंतिम संस्कार में पहुंचा यह बच्चा कौन है, इसके पीछे की कहानी जानकर नम हो जाएंगी आपकी आंखें

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...