HomeFaridabadगुरुग्राम, फरीदाबाद के साथ दक्षिण हरियाणा में भी लगने जा रहे है...

गुरुग्राम, फरीदाबाद के साथ दक्षिण हरियाणा में भी लगने जा रहे है Smart Meter, जानिए क्या है नुकसान और फायदे

Published on

क्या आपको पता है हरियाणा में कुछ नया होने वाला है। नहीं पता तो हम आपको बताएंगे। अब जैसे मोबाइल और टीवी रिचार्ज करवाते है, वैसे ही बिजली के मीटर भी रिचार्ज करवाने होंगे। अब शीघ्र ही दक्षिणी हरियाणा में उपभोक्ताओं के घर के बाहर स्मार्ट बिजली मीटर नजर आएंगे।यह मीटर वर्तमान में लगे बिजली के मीटरों की तरह रीडिंग भी निकालेंगे और इन स्मार्ट मीटरों में कुछ अलग से फीचर होंगे।

अगर किसी ने अपना बिजली बिल जमा नहीं करवाया है, तो वह अपने आप पावर हाउस से उस मीटर की बिजली को डिस्कनेक्ट कर दिया जाएगा। जब तक वह मीटर रिचार्ज नहीं करवाएगा, तब तक उसके घर सप्लाई चालू नहीं होगी।
फिलहाल निगम ने गुरुग्राम, फरीदाबाद के अलावा दक्षिणी हरियाणा में स्मार्ट मीटर लगाने की तैयारी शुरू कर दी है।

गुरुग्राम, फरीदाबाद के साथ दक्षिण हरियाणा में भी लगने जा रहे है Smart Meter, जानिए क्या है नुकसान और फायदे

आपको बता दें सब बिजली की चोरी करने वालों पर भी रोक लगेगी। अब बकाया बिजली के बिल की राशि को बढ़ने से रोकने के विद्युत निगम  ने नई प्रस्तावित योजना शुरू की है। जानकारी के अनुसार निगम ने प्रदेश में दस लाख स्मार्ट बिजली मीटर लगाने की योजना बनाई है।

गुरुग्राम, फरीदाबाद के साथ दक्षिण हरियाणा में भी लगने जा रहे है Smart Meter, जानिए क्या है नुकसान और फायदे

आपको बता दे योजना के मुताबिक पांच लाख स्मार्ट मीटर गुरुग्राम व फरीदाबाद तथा पांच लाख बिजली के स्मार्ट मीटर बाकी हरियाणा में लगाए जाने की योजना है।  सूत्र बताते हैं कि अगर इन इलाकों में निगम की यह योजना सफल हुई तो बाकी इलाकों में उसके बाद स्मार्ट मीटर लगाए जाएंगे।

गुरुग्राम, फरीदाबाद के साथ दक्षिण हरियाणा में भी लगने जा रहे है Smart Meter, जानिए क्या है नुकसान और फायदे

आपको बता दे कि विद्युत निगम ने उपभोक्ताओं की तरफ बढती डिफाल्टिंग राशि पर रोक लगाने के लिए यह कदम उठाया है। क्योंकि अब तक जो बिजली के मीटर लगे हैं उनका मासिक या दो माह में एक बार बिजली का बिल आता है, लेकिन अगर कोई उपभोक्ता यह बिल की राशि समय पर नहीं जमा करवाता तो वह ज्यादा राशि बन जाती है।

जिसके चलते निगम को बार-बार बिल की राशि वसूलने के लिए रियायत या अभियान चलाने पड़ते हैं। अगर निगम की यह योजना लागू करता है। तो डिफाल्टिंग राशि नहीं बढेगी। अगर कोई उपभोक्ता डिफाल्टर हो भी गया तो उसका आसानी से ही पॉवर हाऊस में ही बैठकर उसका बिजली का मीटर डिस्कनेक्ट किया जा सकेगा।

गुरुग्राम, फरीदाबाद के साथ दक्षिण हरियाणा में भी लगने जा रहे है Smart Meter, जानिए क्या है नुकसान और फायदे
गुरुग्राम, फरीदाबाद के साथ दक्षिण हरियाणा में भी लगने जा रहे है Smart Meter, जानिए क्या है नुकसान और फायदे

अब यह भी आपको बता दे बाद में जब तक बिजली का पूरा बिल नहीं जमा करवाया जाता। तब तक सप्लाई चालू नहीं होगी। विद्युत निगम के निदेशक आरके सोडा ने बताया कि फिलहाल स्मार्ट मीटर लगाए जाने की प्रस्तावित योजना है। नए मीटर पुराने मीटरों की तरह रीडिंग निकालेंगे, लेकिन उसमें कुछ नए फीचर हैं।

गुरुग्राम, फरीदाबाद के साथ दक्षिण हरियाणा में भी लगने जा रहे है Smart Meter, जानिए क्या है नुकसान और फायदे

उनकी सप्लाई कार्यालय से नियंत्रित की जा सकती है। मोबाइल की तरफ प्रीपेड कार्ड के जरिए रिचार्ज किए जा सकते हैं। इनके अलावा कई अन्य नए फीचर भी हैं। उन्हाेंने बताया कि प्रदेश में दस लाख स्मार्ट मीटर लगाए जाने की योजना है।

गुरुग्राम, फरीदाबाद के साथ दक्षिण हरियाणा में भी लगने जा रहे है Smart Meter, जानिए क्या है नुकसान और फायदे

पांच लाख मीटर फरीदाबाद व गुरुग्राम तथा बाकी प्रदेश के अन्य हिस्सों में लगाए जाएंगे। इसकी तैयारी चल रही है। प्रीपेड स्मार्ट मीटर के फायदे इन मीटरों से आप उतनी ही बिजली यूज़ कर सकेंगे जितना अपने रिचार्ज किया है।

गुरुग्राम, फरीदाबाद के साथ दक्षिण हरियाणा में भी लगने जा रहे है Smart Meter, जानिए क्या है नुकसान और फायदे

आपको बता दे  आप किसी भी कंपनी से बिजली का कनेक्शन लेने में स्वतंत्र होंगे। यदि आप किसी भी प्रकार की छेड़छाड़ करते हैं मीटर से तो इसका अलर्ट बिजली विभाग के पास जाएगा । बिजली का बिल भेजने में जो खर्च आता बिजली विभाग को वो खर्च भी बचेगा।

गुरुग्राम, फरीदाबाद के साथ दक्षिण हरियाणा में भी लगने जा रहे है Smart Meter, जानिए क्या है नुकसान और फायदे

प्रीपेड स्मार्ट मीटर के नुक्सान बिल समय पर जमा नहीं करवाया तो अपने आप पॉवर हाऊस से उस मीटर की बिजली को डिस्कनेक्ट कर दिया जाएगा। जब तक मोबाइल व टीवी की तरह बिजली के मीटर को रिर्चाज नहीं करवाया तब तक उस उपभोक्ता के घर की बिजली की सप्लाई चालू नहीं हो पाएगी। अब तक आप पहले बिजली का प्रयोग करते थे, लेकिन ये मीटर लगवाने के बाद पहले रिचार्ज करवाना होगा, फिर आपके घर बिजली आएगी।

FI credit: Hari bhoomi

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...