Pehchan Faridabad
Know Your City

आपने हनुमान जी का ये फोटो हर गाड़ी पर देखा होगा, जानिए हनुमान जी के इस गुस्से वाले फोटो का राज

ईश्वर से बड़ा कोई दयालु नहीं होता | भगवान एक पल में न जाने कितने करोड़ लोगों की दुआएं सुनते हैं | गत वर्षों से हनुमान जी की एक तस्वीर गुस्से वाली बहुत प्रचलित हो रही है, लोग अपनी कारों, बाइकों के पीछे उस तस्वीर को लगवा रहे हैं

लेकिन क्या आप जानते हैं यह तस्वीर बनाई किसने है ? प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी उस शख्स की तारीफ़ कर चुके हैं | वह तस्वीर चारो तरफ देती है | क्या झंडे, क्या गाड़ी, क्या घर और क्या सोशल मीडिया, हर जगह हनुमान का यह अवतार लोगों के बीच जबरदस्त वायरल हो रहा है |

हनुमान की इस तस्वीर को लेकर विवाद भी खड़ा हो गया है, हम आपको एंग्री हनुमान की इस तस्वीर से जुड़ी हुई कहानी के बारे में बताएंगे कि आखिर इस हनुमान को बनाया किसने और इसे बनाने के पीछे वजह क्या थी? साथ ही बताएंगे कि हनुमान का यह अवतार कैसे आया सामने |

इंसान तो गुस्से की मूरत है, लेकिन भगवान भी अगर गुस्से में आजाएंगे तो कैसे चलेगा ? हनुमान जी के गुस्से वाली तस्वीर को बनाने वाले, कर्नाटक के बेंगलुरु में रहने वाले करण आचार्य हैं | करण पेशे से पेंटर हैं उन्होंने 2015 में हनुमान के इस अवतार को अपने ब्रश से रचा था

हनुमान जी के बिना राम नहीं चल सकते और राम के बिना दुनिया | करण ने बताया कि वर्ष 2015 में केरल में गणेश चतुर्थी के मौके पर उनके दोस्तों ने उन्हें झंडे पर लगाने के लिए एक नई रचना करने के लिए कहा था |

करण खुद बजरंगबली के भक्त हैं और इसीलिए उन्होंने त्योहार में भगवा झंडे पर लगाने के लिए हनुमान के एक नए अवतार को गढ़ा | हनुमान का जो रूप करण आचार्य 2015 में जनता के बीच लेकर आए वह जबरदस्त तरीके से पसंद किया जा रहा है |

इंसान भी अजीब है, जिसको खुद ईश्वर ने बनाया है उसी को इंसान आकर देने में लगा है, रंग-रूप देने में लगा है | करण ने बताया कि उन्होंने भगवान विष्णु की वह तस्वीर बनाई है जिसमें वह शेषनाग की शैया पर सीधे लेटे हैं

लोकसभा चुनाव के दौरान कर्नाटक में पीएम मोदी कई रैलियां कर रहे थे | इसी बीच उन्होंने करण की जमकर तारीफ की और तस्वीर को बेहद शानदार बताया था |

ईश्वर बस भक्त के स्नेह और प्यार का भूखा होता है | इंसान ईश्वर से कितना कुछ मांगता है | लेकिन भगवान ने आज तक बदले में किसी से कुछ नहीं माँगा | हनुमान जी वो शक्ति हैं जिनका नाम लेने से सारे दुःख, दर्द गायब हो जाते हैं | ईश्वर के प्रति हमारा नज़रिया बदलता जा रहा है | इंसान भूल गया है कि ईश्वर चाहे तो राख बना दे ईश्वर चाहे तो लाख बना दे |

Written By – Om Sethi

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More