HomeUncategorizedगाय निगल गई सोने की चैन, 35 दिन तक छान मारा गोबर,...

गाय निगल गई सोने की चैन, 35 दिन तक छान मारा गोबर, इसके बाद उठाया यह कदम

Published on

कर्नाटक से एक बहुत ही हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है, जो इन दिनों खूब चर्चा में है। यहां की एक गाय ने बीस ग्राम सोने की चेन निगल ली और एक महीने से ज्यादा तक वह उसके पेट में रही। यह सब तब हुआ जब एक परिवार ने पूजा के समय गाय को चेन और अन्य आभूषण पहनाया। इसी दौरान वह गाय सोने की चेन निगल गई। इसके बाद वह हुआ जिसका अंदाजा किसी ने नहीं किया होगा। पूरा परिवार एक महीने तक गाय का गोबर चेक करता रहा और चेन नहीं निकली।

यह घटना कर्नाटक के सिरसी जगह की है और इस शख्स का नाम श्रीकांत हेगड़े बताया जा रहा है। शख्स के परिवारवालों ने दीपावली के बाद गौपूजा में गाय और उसके बछड़े को नहलाकर फूल-मालाओं और आभूषणों से उनका श्रृंगार किया। यह सब इसलिए किया गया कि उस जगह पर यह एक रिवाज है और वहां के लोग गाय को लक्ष्मी मानकर उसकी पूजा करते हैं।

गाय निगल गई सोने की चैन, 35 दिन तक छान मारा गोबर, इसके बाद उठाया यह कदम

ठीक इसी पूजा के दौरान गाय ने एक सोने की चेन निगल ली। जब परिवार को इस बारे में पता चला तो हड़कंप मच गया। परिवार के पास कोई विकल्प नहीं था तो सभी ने करीब 35 दिन तक गाय के गोबर पर नजर रखी। वे लगातार चेक करते रहे कि कहीं गोबर के जरिए चेन बाहर ना आ जाए। उन्होंने अपनी गाय को कहीं बाहर तक नहीं निकलने दिया, लेकिन ऐसा नहीं हुआ और चेन बाहर नहीं आई।

गाय निगल गई सोने की चैन, 35 दिन तक छान मारा गोबर, इसके बाद उठाया यह कदम

इसके बाद श्रीकांत ने डॉक्टर को बुलवाकर सलाह ली। गाय को अस्पताल में ले जाकर जांच की गई कि क्या वाकई गाय ने चेन को निगला है तो सामने आया कि चेन गाय के पेट में पड़ा हुआ है। इसके बाद डॉक्टरों की एक टीम ने गाय के पेट से ऑपरेशन करके चेन को बाहर निकाल लिया। हालांकि चेन निकालने के बाद उसका वजन बीस की बजाय 18 ग्राम ही था लेकिन चेन वापस आ गई।

गाय निगल गई सोने की चैन, 35 दिन तक छान मारा गोबर, इसके बाद उठाया यह कदम

जानकारी के अनुसार डॉक्टरों ने भी सलाह दी थी कि चेन को निकालना होगा नहीं तो गाय का स्वास्थ्य गड़बड़ हो जाएगा। परिवार वालों ने भी कहा कि उनके पास कोई और विकल्प नहीं था, उन्हें इस बात का अफसोस है कि एक गलती की वजह से उनकी गाय को इतनी तकलीफ हुई है। फिलहाल गाय की हालत स्थिर बताई जा रही है।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...