HomeIndiaआवारा कुत्तों को खाना खिलाने पर लगा 8 लाख का जुर्माना, जानें...

आवारा कुत्तों को खाना खिलाने पर लगा 8 लाख का जुर्माना, जानें क्या थी वजह?

Published on

सड़कों पर घूमते आवारा पशुओं को देखकर हर किसी को दया आ जाती है। आप लोगों ने भी कभी न कभी किसी गाय, कुत्ते को खाना तो खिलाया ही होगा। लेकिन एक महिला को ऐसा करना काफी मंहगा पड़ गया। महाराष्ट्र के नवी मुंबई से एक ऐसा मामला सामने आया है जिसके बाद शायद आपको भी आवारा कुत्तों को खाना खिलाने में डर लगे। बता दें कि वहां की एक स्थानीय महिला ने आरोप लगाया कि उसकी आवासीय सोसायटी की प्रबंधन समिति ने परिसर के अंदर आवारा कुत्तों को खाना खिलाने पर उस पर आठ लाख रुपए से अधिक का जुर्माना लगाया है। महिला जिस कॉलोनी में रहती हैं वहां 40 से अधिक घर हैं और यह जुर्माना एनआरआई कॉम्प्लेक्स की प्रबंधन समिति ने लगाया है।

महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में आवारा कुत्तों को खाना खिलाना एक महिला को महंगा पड़ गया है। ऐसा करने पर सोसाइटी ने महिला पर 8 लाख रुपये का जुर्माना लगा दिया है। नवी मुंबई के एक हाउसिंग कॉम्प्लेक्स में रहने वाली एक महिला अंशु सिंह ने ये आरोप लगाया है।

आवारा कुत्तों को खाना खिलाने पर लगा 8 लाख का जुर्माना, जानें क्या थी वजह?

उसका कहना है कि रेजिडेंशियल सोसायटी के मैनेजमेंट कमेटी ने यह जुर्माना परिसर के अंदर आवारा कुत्तों को खाना खिलाने पर लगाया है। इस रेजिडेंशियल कॉम्प्लेक्स में 40 से ज्यादा बिल्डिंग हैं।

अंशु सिंह ने बताया कि कैंपस में आवारा कुत्तों को खाना खिलाने पर उन पर जुलाई से 5 हजार रुपए रोज के हिसाब से जुर्माना लगाया जा रहा है। यह रकम 8 लाख रुपए के करीब पहुंच गई है। उन्होंने कहा कि मैंने सिर्फ बेजुबानों को खाना दिया था, सोसाइटी ने मुझ पर गंदगी फैलाने का आरोप लगा दिया।

आवारा कुत्तों को खाना खिलाने पर लगा 8 लाख का जुर्माना, जानें क्या थी वजह?

अंशु सिंह ने बताया कि उन पर लगाया गया जुर्माना गंदगी फैलाने के रूप में लगाया गया है। मुझ पर अबतक कुल आठ लाख रुपए के करीब का जुर्माना लगाया गया है। सोसायटी की प्रबंध समिति ने परिसर के अंदर कुत्तों को खाना खिलाते पाए जाने वालों पर जुर्माना लगाने का निर्णय लिया। यह चलन जुलाई 2021 में शुरू हुआ। उन्होंने बताया कि कई आवारा कुत्ते परिसर में हैं। अंशु सिंह ने बताया कि इससे पहले भी एक अन्य निवासी पर छह लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया है।

आवारा कुत्तों को खाना खिलाने पर लगा 8 लाख का जुर्माना, जानें क्या थी वजह?

हाउसिंग कॉम्प्लेक्स की एक अन्य महिला लीला शर्मा ने बताया कि सोसायटी के वॉचमैन उन सदस्यों पर ध्यान रखते हैं, जो कुत्तों को खाना खिला रहे हों और फिर उनका नाम नोट कर लेते हैं। फिर इसकी जानकारी मैनेजिंग कमिटी को देते हैं, जो जुर्माना लगाते हैं।

आवारा कुत्तों को खाना खिलाने पर लगा 8 लाख का जुर्माना, जानें क्या थी वजह?

उसका कहना है कि सोसाइटी में कई आवारा कुत्ते घूमते दिख जाते हैं। जिस कारण से वहां रहने वाले उन्हें खाना दे देते हैं। जिसके बाद उन पर कार्रवाई की जाती है। लीला शर्मा ने बताया कि कुत्तों को खाना खिलाने के लिए उन पर भी 50 हजार रुपए का जुर्माना लगाया गया है। उनकी उम्र 60 साल है।

आवारा कुत्तों को खाना खिलाने पर लगा 8 लाख का जुर्माना, जानें क्या थी वजह?

वहीं, हाउसिंग कॉम्प्लेक्स की सचिव विनीता श्रीनंदन ने मीडिया को बताया कि बच्चे ट्यूशन के लिए जाते समय आवारा कुत्तों के पीछे भागते हैं और बुजुर्ग नागरिक कुत्ते के डर के कारण घूम नहीं पाते हैं। उन्होंने बताया कि इससे सफाई और स्वच्छता से जुड़े मुद्दे भी है, क्योंकि कुत्ते पार्किंग और अन्य जगहों पर गंदगी करते हैं। इसके साथ ही कुत्तों के चिल्लाने से यहां रहने वाले रात में ठीक से सो नहीं पाते।

आवारा कुत्तों को खाना खिलाने पर लगा 8 लाख का जुर्माना, जानें क्या थी वजह?

श्रीनंदन ने बताया कि हाउसिंग सोसायटी ने कुत्तों के लिए एक बाड़ा बनाया है, लेकिन कुछ सदस्य अभी भी कुत्तों को खुले में खिलाते हैं। इसलिए हमने जुर्माने का प्रावधान रखा है। जो भी कार्रवाई हुई है वह सोसाइटी के नियमों के अनुसार है।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...