Online se Dil tak

क्या मुकदमे ना वापस होने पर शुरू हो सकता है किसान आंदोलन, जानिए इस पर क्या बोले सीएम ?

आपको बता देंगे साल भर चला किसान आंदोलन के दौरान किसानों के खिलाफ दर्ज मुकदमे वापस लिए जाएंगे। साथ ही इस की प्रक्रिया भी शुरू कर दी गई है। और हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर का कहना है, कि कृषि कानूनों के खिलाफ चले आंदोलन के दौरान प्रदर्शनकारियों के खिलाफ राज्य में 276 मुकदमे दर्ज किए गए थे और गंभीर आरोपों को छोड़कर अधिकतर को वापस लिए जाने की प्रक्रिया जारी है।

अपको बता दे की , किसान आंदोलन के दौरान हरियाणा के विभिन्न स्थानों पर विरोध-प्रदर्शन करने वाले आंदोलनकारियों से मुकदमे अब वापस लिए जा रहे हैं वही मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने विधानसभा सत्र में इसकी घोषणा भी करी थी और मुख्यमंत्री का कहना हैं की , अभी तक किसान आंदोलन के दौरान पुलिस रिकॉर्ड के मुताबिक 276 केस दर्ज किए थे साथ ही जिनमें से 4 मामले अति गंभीर प्रकृति के मिले थे । वहीं, 272 मामलों में से 178 मामलों में चार्जशीट तैयार की गई है और 158 मामले अभी तक अनट्रेस हैं।

क्या मुकदमे ना वापस होने पर शुरू हो सकता है किसान आंदोलन, जानिए इस पर क्या बोले सीएम ?
क्या मुकदमे ना वापस होने पर शुरू हो सकता है किसान आंदोलन, जानिए इस पर क्या बोले सीएम ?

वही किसानों को मुआवजा देने की बात आए तो उस सवाल पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर का कहना हैं की इस बारे में हमारी अभी किसानों से बातचीत चल रही हैं और किसान नेताओं का कहना है, कि पूरे आंदोलन के दौरान 700 से ज्यादा लोगों की जान गई। और हरियाणा सरकार इतने बड़े आंकड़े से सहमत नहीं है। साथ ही हरियाणा के मुख्यमंत्री ने विधानसभा में अपनी बात रखते हुए कहा की सीआईडी की रिपोर्ट के मुताबिक 46 किसानों का पोस्टमॉर्टम हुआ था।

क्या मुकदमे ना वापस होने पर शुरू हो सकता है किसान आंदोलन, जानिए इस पर क्या बोले सीएम ?

वही किसानों से बातचीत में किसानों द्वारा 73 मृतक किसानों को हरियाणा का बताया है। लेकिन अभी इस मामले में जांच जारी है। मुख्यमंत्री का कहना है कि, इसके बाद ही बातचीत करके मुआवजे के संबंध में फैसला लिया जाएगा और किसानों के नेता राकेश टिकैत यह कह चुके हैं कि, सरकार को मारे गए सभी किसान भाइयों के लिए मुआवजा देना होगा।

क्या मुकदमे ना वापस होने पर शुरू हो सकता है किसान आंदोलन, जानिए इस पर क्या बोले सीएम ?

वही आपको बता दे की ,अभी भी उत्तर रेलवे, सीपीआरओ की ओर से बताया गया है कि, उत्तर रेलवे के फिरोजपुर मंडल में किसानों के विरोध प्रदर्शन ही रहा हैं। जिसकी वजह से वहां पिछले 24 घंटों में 280 से अधिक ट्रेनों का परिचालन प्रभावित हुआ है।और विरोध-प्रदर्शन से पिछले 4 दिनों में 400 से अधिक ट्रेनें प्रभावित हुई है।

Read More

Recent