HomeUncategorizedइस अपराध के चलते सीएम योगी फर्जी शिक्षकों से वसूल करेंगे करीब...

इस अपराध के चलते सीएम योगी फर्जी शिक्षकों से वसूल करेंगे करीब 900 करोड़ रुपए

Published on

देशभर में फर्जी शिक्षकों की बढ़ती हुई तादाद को देखते हुए यूपी की योगी सरकार द्वारा अब एक कड़ा फैसला लिया गया है। जिससे उत्तर प्रदेश में बढ़ती फर्जी शिक्षकों पर लगाम लगेगी और शिक्षा स्तर में सुधार देखने को मिलेगा। प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के इस फैसले के तहत अब यूपी सरकार प्रदेश के फर्जी शिक्षकों से 900 करोड रुपए की वसूली करेगी।

इस अपराध के चलते सीएम योगी फर्जी शिक्षकों से वसूल करेंगे करीब 900 करोड़ रुपए

उत्तर प्रदेश एसटीएफ और शिक्षा विभाग द्वारा की गई एक जांच रिपोर्ट में सामने आया है कि पूरे उत्तर प्रदेश में अभी तक फर्जी दस्तावेजों के आधार पर नौकरी करने वाले करीब 1509 से अधिक फर्जी शिक्षक सामने आ चुके हैं। जिसको देखते हुए सरकार ने फैसला लिया है कि पकड़े गए सभी फर्जी शिक्षकों से अब सरकार के साथ धोखाधड़ी करने के लिए उनसे जुर्माने की राशि वसूली जाएगी।

इस अपराध के चलते सीएम योगी फर्जी शिक्षकों से वसूल करेंगे करीब 900 करोड़ रुपए

इसी प्रकार लगातार उत्तर प्रदेश में फर्जी शिक्षकों के सामने आने के बाद प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा प्रदेश के सभी शिक्षकों के दस्तावेजों की जांच करने के आदेश जारी किए गए हैं। मुख्यमंत्री के आदेशों अनुसार प्रदेश में सभी शिक्षकों के दस्तावेजों की जांच की जाएगी जिसके लिए जांच टीम का गठन भी किया जा रहा है।

इस अपराध के चलते सीएम योगी फर्जी शिक्षकों से वसूल करेंगे करीब 900 करोड़ रुपए

मुख्यमंत्री के आदेश पर माध्यमिक, उच्च और बेसिक शिक्षा विभाग के साथ ही समाज कल्याण विभाग के विद्यालयों और कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालयों में कार्यरत सभी शिक्षकों के दस्तावेजों की जांच होगी। यह फैसला लगातार सामने आ रहे फर्जी शिक्षकों को देखते हुए लिया गया है।

मुख्यमंत्री द्वारा कड़े निर्देश दिए गए हैं कि यदि इस जांच के दौरान किसी भी शिक्षक के दस्तावेज फर्जी पाए जाते हैं तो ऐसे शिक्षकों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जाएगी और उनसे जुर्माने की राशि भी वसूली जाएगी। जिससे आने वाले समय में कोई शिक्षा विभाग के साथ फर्जीवाड़ा करने का दुस्साहस ना करें।

इस अपराध के चलते सीएम योगी फर्जी शिक्षकों से वसूल करेंगे करीब 900 करोड़ रुपए

गौरतलब है कि प्रदेश में अनामिका शुक्ला का प्रकरण चर्चा में रहा। अनामिका शुक्ला के नाम पर प्रदेश के 25 विद्यालयों में नौकरी किए जाने का मामला सामने आया था। एक ही नाम से, एक ही डॉक्युमेंट के सहारे 13 महीने से 25 स्कूलों में नौकरी कर फर्जीवाड़ा करने वालों ने सरकार को लगभग एक करोड़ रुपये की चपत लगाई थी।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...