HomeCrimeटिक टॉक स्टार डी.यू की छात्रा ने कि आत्महत्या, एप के बैन...

टिक टॉक स्टार डी.यू की छात्रा ने कि आत्महत्या, एप के बैन होने के बाद से थी काफी परेशान

Published on

उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले में 22 वर्षीय एक युवती जो टिक टॉक पर काफी सक्रिय थी उसके द्वारा आत्महत्या करने का मामला सामने आया है। आत्महत्या करने वाली युवती का नाम संध्या चौहान है जो दिल्ली यूनिवर्सिटी की छात्रा है और लॉक डाउन के बाद से कॉलेज बन्द होने के कारण अभी अपने परिवार के साथ मेरठ के पल्लवपुरम थाना क्षेत्र की ग्रीन पार्क कॉलोनी में अपनी मां के साथ रह रही थी।

संध्या के पिता संजय चौहान हापुड़ जिले के गढ़मुक्तेश्वर थाने में सब इंस्पेक्टर के पद पर तैनात है और उनका परिवार बीते 6 महीनों से मेरठ के ग्रीन पार्क कॉलोनी में रह रहा था। बताया जा रहा है कि संध्या की टिक टॉक पर काफी फैन फॉलोइंग थी और टिकटोक बैन होने के चलते वह कुछ दिनों से परेशान चल रही थी।

टिक टॉक स्टार डी.यू की छात्रा ने कि आत्महत्या, एप के बैन होने के बाद से थी काफी परेशान

बीते 2 जुलाई की शाम को करीब 5:00 बजे संध्या द्वारा उसके कमरे में खुद को फांसी लगाकर आत्महत्या करने का मामला सामने आया। जिस वक्त संध्या ने यह कदम उठाया उस वक्त घर में संध्या एवं उसकी मां केवल दो लोग मौजूद थे। संध्या अपने कमरे में अकेली थी जबकि उसकी मां अन्य कार्यों में व्यस्त थी।

इस पूरे मामले की सूचना स्थानीय पुलिस को संध्या के फुफेरे भाई पुष्पक ने दी जिसके बाद मोदीपुरम चौकी प्रभारी विकास चौहान स्थानीय पुलिस के साथ मौके पर पहुंचे और कमरे का दरवाजा तोड़कर मृतक संध्या को फंदे से नीचे उतारा।

टिक टॉक स्टार डी.यू की छात्रा ने कि आत्महत्या, एप के बैन होने के बाद से थी काफी परेशान

उसके बाद आनन-फानन में मेरठ के एसडीएस ग्लोबल अस्पताल में संध्या को भर्ती कराया गया जहां चिकित्सकों द्वारा संध्या को मृत घोषित कर दिया गया। संध्या की मौत की पुष्टि होने के बाद पुलिस द्वारा संध्या के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया और पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।

इस मामले में चौकी प्रभारी विकास चौहान का कहना है कि जैसा कि युवती के परिवार वालों से जानकारी प्राप्त हुई है और पता चला है कि बीते दो-तीन महीनों से युवती किसी बात को लेकर परेशान थी उसको देखकर देख कर लग रहा है कि युवती ने परिवारिक कलह या अन्य किसी मानसिक तनाव के चलते यह कदम उठाया है।

वहीं पल्लवपुरम थाना प्रभारी दिग्विजयनाथ शाही ने बताया कि युवती टिक टॉक पर काफी फेमस थी और टिकटोक बैन होने के चलते बीते कई दिनों से परेशान भी चल रही थी। लेकिन अभी यह कहना बिल्कुल गलत होगा कि संध्या द्वारा टिक टॉक ऐप बैन हो जाने के चलते खुदकुशी की गई।

टिक टॉक स्टार डी.यू की छात्रा ने कि आत्महत्या, एप के बैन होने के बाद से थी काफी परेशान

क्यूंकि इससे संबंधित कोई भी सुसाइड नोट या कोई अन्य सबूत पुलिस को बरामद नहीं हुआ है। पुलिस ने संध्या का मोबाइल बरामद कर लिया है और मामले की गहनता से जांच शुरू कर दी है।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...