Pehchan Faridabad
Know Your City
Browsing Tag

main hoon faridababad

चंद रुपये और एक सरकारी नौकरी घोंट रहे हैं बिटिया के इंसाफ का दम? : मैं हूँ फरीदाबाद

नमस्कार! मैं हूँ फरीदाबाद। हम सब जानते हैं कि साल 2020 गहरे घाव दे कर गया है। 26 अक्टूबर 2020 एक तारीख जिसने मेरे और अन्य शहरवासियों के पैरों तले जमीन खींच ली। एक लड़की जिसकी आँखों में कुछ करने और आगे बढ़ने के सपने थे उस निकिता की निर्मम…

2021 की दरवाज़े पर खटखट, क्या इस वर्ष रुके हुए काम हो पाएंगे झटपट ? मैं हूँ फरीदाबाद

नमस्कार! मैं हूँ फरीदाबाद और आज नए साल के पहले दिन पर आप सभी को शुभकामनाएं देता हूँ। खैर हम सब जानते हैं कि गत वर्ष यानि कि साल 2020 पूरे देश लिए बर्बादी का सबब बन गया था। महामारी ने हर किसी को अपने घर में कैद कर दिया वहीं बहुत से मजदूर…

जनता को रास नहीं आ रहा पुलिस का नरम लहजा, सर-मैडम बोलने पर भी सुन रहे हैं खरी खोटी : मैं हूँ…

नमस्कार! मैं हूँ फरीदाबाद और आज मैं स्मार्ट सिटी की आवाम को आइना दिखाने आया हूँ। कुछ दिन पहले क्षेत्र के पुलिस प्रशासन द्वारा एक फरमान निकाला गया था जो कहता है कि हर पुलिसकर्मी को अब से अपना लहज़ा नरम रखना होगा। आम आवाम की शिकायत रहती…

नगर निगम से कन्नी काट रहे हैं ठेकेदार, हार्डवेयर-प्याली रोड निर्माण फसा बीच मझधार : मैं हूँ फरीदाबाद

नमस्कार! मैं हूँ फरीदाबाद आपकी अपनी विकास विहीन स्मार्ट सिटी। आपने एक कहावत सुनी होगी कि कुत्ते की दुम कभी सीधी नहीं होती ऐसा ही हाल है फरीदाबाद की सड़कों का है जो फिलहाल जर्जर अवस्था में है। आज मैं बात करने वाला हूँ उस सड़क की जिसने पूरे…

रैन बसेरे बना दिए पर शौचालय बनाना भूल गया निगम, कड़ाके की ठंड में परेशान हो रहे हैं यात्री : मैं हूँ…

नमस्कार! मैं हूँ फरीदाबाद और आज मैं आपको आया हूँ। यह कहानी मेरे प्रांगण में जीवन निर्वाह करने वाले एक मजदूर की है और मेरा यकीन मानिये कि यह महज एक कहानी नहीं सबसे बड़ा सच है। मेरे क्षेत्र में रहने वाला एक बुजुर्ग मजदूर अपने परिवार के…

बादशाह खान बना अटल बिहारी वाजपेई, क्या नाम बदलने से कम हो जाएगी मरीजों की परेशानियां? : मैं हूँ…

नमस्कार! मैं हूँ फरीदाबाद आज काफी दिनों बाद आप सभी से मुलाकात हो रही है। क्या करूँ मुद्दा ही इतना बड़ा है कि मुझसे रुका नहीं गया। सुना है मेरे क्षेत्र के विशालकाय अस्पताल का नाम बदल दिया गया है। अरे ये वही सरकारी अस्पताल है जहां मेरे…

अँधा, बहरा और गूंगा हो चुका है बिजली निगम, लोगों की शिकायतों का नहीं दे रहा जवाब : मैं हूँ फरीदाबाद

नमस्कार! मैं हूँ फरीदाबाद और आप सभी से माफ़ी चाहूंगा कि इतने विलम्भ के बाद आपसे रूबरू हो रहा हूँ। पर आज जिस मुद्दे के साथ आप सभी के बीच आया हूँ वो मुद्दा मेरे लिए काफी बड़ा है। मैंने सुना था कि रिश्ते काफी उलझे हुए होते हैं पर मैं कहता हूँ…

अपने नाम पर खड़ा उतर रहा है बिजली निगम, लाखों का बिल भेजकर जनता को लगा रहा है झटके : मैं हूँ फरीदाबाद

नमस्कार! मैं हूँ फरीदाबाद और आज मैं आपको मेरे क्षेत्र में मचे त्राहिमाम के बारे में बताने जा रहा हूँ। मेरे क्षेत्र में रहने वाले तिलोकचंद शर्मा को लाखों का बिजली बिल जमा करना पड़ रहा है। पर हैरान करने वाली बात यह है कि तिलोक के घर में…

धरती निगलि या फिर आसमान, आखिर कहाँ गायब हो गए आंदोलनकारी किसान ? : मैं हूँ फरीदाबाद

नमस्कार! मैं हूँ फरीदाबाद, अरे मैं आज उन किसानों का पता पूछने आया हूँ जो अचानक से गायब हो गए। क्या हुआ ? नहीं समझे ? मैं समझाता हूँ आपको मैं उन किसानों की बात कर रहा हूँ जिन्होंने मेरे प्रांगण कुछ दिनों से त्राहिमाम मचाया हुआ है। पलवल…

परेशानियों और जुमलों की इमारत बनता जा रहा है नगर निगम : मैं हूँ फरीदाबाद

नमस्कार! मैं हूँ फरीदाबाद और आज मैं मेरे अतिप्रिय नगर निगम को शाबाशी देने के लिए आया हूँ। मैंने सुना नगर निगम को अब क्षेत्र में निर्माण करवाने के लिए ठेकेदार नहीं मिल पा रहे हैं। अरे मेरे प्यारे निगम अगर तुम्हारे काम ठीक होते तो ना…

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More