HomeIndiaहिंसक रैली में हुए नुकसान की भरपाई के लिए 4 की आरोपियों...

हिंसक रैली में हुए नुकसान की भरपाई के लिए 4 की आरोपियों की प्रॉपर्टी होंगी कुर्क

Published on

पिछले वर्ष 19 दिसंबर को हिंसक रैली के दौरान सार्वजनिक संपत्तियों को नुकसान पहुंचाने हेतु मामले में मामले में जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने बड़ी कार्रवाई को अंजाम देते हुए राष्ट्रीय सुरक्षा क़ानून, गैंगस्टर एक्ट के साथ ही अब कुर्की के आदेश भी कर दिए गए हैं.

इसी क्रम में डीएम लखनऊ ने चार लोगों की 1 करोड़ 55 लाख 62 हजार की प्रॉपर्टी को कुर्क करने का आदेश दिया है।

हिंसक रैली में हुए नुकसान की भरपाई के लिए 4 की आरोपियों की प्रॉपर्टी होंगी कुर्क

57 आरोपियों के बदले में चार से रिकवरी की होगी पूर्ति


उक्त मामले कुल 57 आरोपियों में से चार लोगों के खिलाफ यह आदेश पारित किया है। यह फैसला एस’डीएम कोर्ट द्वारा दिए गए रिकवरी आदेश के बाद लिया गया. इसी के बाद चार आरोपियों की प्रॉपर्टी मंगलवार को सील की गई थी। चारों सील प्रॉपर्टी को लेकर कुर्की का प्रपत्र आज कर दिया गया. आदेश के मुताबिक़ कूल 1 करोड़ 55 लाख 62 हजार रुपयों की रिकवरी होनी है।

रफ्तार पकड़ रही है कार्रवाई

गौरतलब है कि पिछले साल 19 दिसंबर 2019 को राजधानी लखनऊ में नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी के विरोध में हुए हिंसक प्रदर्शन के दौरान आगजनी और तोड़फोड़ करने वाले 15 उपद्रवियों के खिलाफ कैसरबाग़ पुलिस ने गैंगस्टर एक्‍ट के तहत कार्रवाई की थी. पुलिस के मुताबिक जल्द ही कुछ अन्य आरोपियों पर भी गैंगस्टर लगाया जाएगा.

हिंसक रैली में हुए नुकसान की भरपाई के लिए 4 की आरोपियों की प्रॉपर्टी होंगी कुर्क

एसीपी कैसरबाग़ आईपी सिंह ने बताया कि इरफान, मो शोएब, मो शरीफ, मो आमिर, मो हारून, अब्दुल हमीद, नियाज़ अहमद, मो हामिद, इकबाल अहमद, शहनाज़, मो समीर, मो फैज़ल, मो इकबाल, कफील अहमद और सलीम उर्फ सलीमुद्दीन पर गैंगस्टर एक्‍ट की धाराएं लगाई गई हैं। इनमें से कई आरोपियों को पहले ही गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है, जबकि बाकियों की तलाश की जा रही है।

पिछले साल 19 दिसम्बर को राजधानी लखनऊ में नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में हुए हिंसक प्रदर्शन के मामले में पुलिस ने 287 आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की है. साथ ही 18 आरोपियों के खिलाफ रासुका लगाने की तैयारी भी चल रही है. बता दें कि बलवा, तोड़फोड़, आगजनी, मारपीट, लोक संपत्ति नुकसान निवारण अधिनियम व सरकारी कार्य में बाधा समेत अन्य धाराओं में कुल 63 मुकदमे दर्ज किए गए थे.

Latest articles

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...

More like this

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...