Online se Dil tak

फरीदाबाद में रेहड़ी पटरी वालों को मिलने जा रहीं हैं ये नई सुविधाएँ, अब नहीं होगी किसी भी तरह की परेशानी

नगर निगम के अतिरिक्त आयुक्त अभिषेक मीणा ने शुक्रवार को रेहड़ी-पटरी वालों को प्रधानमंत्री शुभकामना पत्र एवं स्वनिधि परिचय बोर्ड वितरित किए। इस दौरान उन्होंने कहा कि रेहड़ी पटरी वालों को तय जगह उपलब्ध करवाई जा रही है।

इन जगहों पर शौचालय, पानी और लाइट की भी व्यवस्था होगी। इसके लिए वार्ड स्तर पर काम चल रहा है। पात्रों को बैंक लोन भी दिलाया जा रहा है।

फरीदाबाद में रेहड़ी पटरी वालों को मिलने जा रहीं हैं ये नई सुविधाएँ, अब नहीं होगी किसी भी तरह की परेशानी
फरीदाबाद में रेहड़ी पटरी वालों को मिलने जा रहीं हैं ये नई सुविधाएँ, अब नहीं होगी किसी भी तरह की परेशानी

उन्होंने बताया कि देश में आजादी का अमृत महोत्सव बनाया जा रहा है। आवास एवं शहरी विकास मंत्रालय, भारत सरकार के दिशा-निर्देश पर एक जुलाई से 14 अगस्त तक पीएम स्वानिधि महोत्सव मनाया जा रहा है।

फरीदाबाद में रेहड़ी पटरी वालों को मिलने जा रहीं हैं ये नई सुविधाएँ, अब नहीं होगी किसी भी तरह की परेशानी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना काल के दौरान रेहड़ी पटरी वालों को स्वाभिमान से जीने का हक देने के लिए स्वनिधि योजना शुरू की थी। इसके तहत 10743 रेहड़ी-पटरी वालों का पंजीकरण हुआ है।

जबकि 2514 रेहड़ी वालों को बैंकों द्वारा 10-10 हजार रुपये का ऋण दिलवाया गया है, जिससे उन्हें कारोबार शुरू करने में सहायता – मिली है।

फरीदाबाद में रेहड़ी पटरी वालों को मिलने जा रहीं हैं ये नई सुविधाएँ, अब नहीं होगी किसी भी तरह की परेशानी

दस हजार रुपये का भुगतान करने के बाद दूसरे चरणों में 163 रेहड़ी वालों को बैंकों द्वारा 20-20 हजार रुपये का ऋण भी दिलवाया गया। इसके अलावा 2100 लोगों को पेटीएम की ओर से ऑनलाइन भुगतान के संबंध में प्रशिक्षण दिलाया गया।

फरीदाबाद में रेहड़ी पटरी वालों को मिलने जा रहीं हैं ये नई सुविधाएँ, अब नहीं होगी किसी भी तरह की परेशानी

ऑनलाइन भुगतान पर सरकार द्वारा प्रोत्साहन धनराशि भी दी जाती है। निगम के शहरी परियोजना अधिकारी द्वारिका प्रसाद ने बताया कि 16 रेहड़ी-पटरी वालों को पीएम स्वनिधी परिचय बोर्ड. और शुभकामना पत्र दिया गया है। उन्होंने बताया कि करीब 1300 लोगों के लिए परिचय बोर्ड और लेटर आया हुआ है। बोर्ड रेहड़ी पर लगाने के लिए दिया गया है। निगम क्षेत्र में 72 जगहों पर वेडिंग जोन बनाए जाने हैं।

Read More

Recent