HomeGovernmentजयगढ़ फोर्ट में आपातकाल में इंदिरा गांधी ने खोजा खजाना और छुपा...

जयगढ़ फोर्ट में आपातकाल में इंदिरा गांधी ने खोजा खजाना और छुपा दिया, आज तक नही मिला वो खजाना

Published on

भारत का अपना इतिहास यहां सदी के सबसे बड़े राजा और महान शासक यही पर रहे है भारतवर्ष पर बहुत साम्राज्यो ने कब्जा किया परंतु मेवाड़ वर्तमान में राजस्थान की रियास्तो में राजपुत राजाओं ने अपना अधिकार स्थापित कर हुआ था। जिन्होंने मुस्लिम शासकों के खिलाफ़ खड़े रहे और कई मुगल साम्राज्य के आगे झुक गए ऐसे ही एक किला जिसे जयगढ फोर्ट के बारे में आज हम आपको बताने जा रहे है जिसमे प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने खजाना लूटने के लिए खुदाई कराई थी।

जयपुर की महारानी जेल में रही थी बंद

बताया जाता है कि इंदिरा गांधी और जयपुर की महारानी गायत्री देवी के बीच अनबन होने के चलते खजाने को लूटने की नियत से जयपुर के जयगढ़ फोर्ट की खुदाई की गई थी।

जयगढ़ फोर्ट में आपातकाल में इंदिरा गांधी ने खोजा खजाना और छुपा दिया, आज तक नही मिला वो खजाना

गायत्री देवी कई महीनों तक तिहाड़ के जेल में कैद रहीं उनपे मुकदमे चलाए गए और वही सेना ने 5 महीने तक जयगढ़ फोर्ट की खुदाई की थी।

जयगढ़ खजाने की ऐतिहासिक मान्यता

ऐसी मान्यता है कि 1580 ई. में अकबर के सेनापति मानसिंह ने अफगानिस्तान से लूटकर लाए गए खजाने को जयगढ़ में छिपा कर रखा था। कहते हैं आमेर के राजा मान सिंह ने 141 युद्धों से जितना धन लूटा था, उसे जयगढ़ फोर्ट में ही दबा दिया गया था।

जयगढ़ फोर्ट में आपातकाल में इंदिरा गांधी ने खोजा खजाना और छुपा दिया, आज तक नही मिला वो खजाना

मान सिंह को डर था कि कहीं अकबर सारे खजाने को उनसे छिन ना ले। इतना ही नहीं महाराज माधोसिंह ने अपने समय में प्रिंस अल्बर्ट को जयगढ़ किले में प्रवेश नहीं करने दिया था।

जयगढ़ फोर्ट में दफन किया खजाना

मानसिहं और अकबर के बीच एक संधि हुई थी, जिसके अनुसार राजा मानसिहं जिन इलाकों को जीतेंगे उस पर अकबर का राज होगा।

जयगढ़ फोर्ट में आपातकाल में इंदिरा गांधी ने खोजा खजाना और छुपा दिया, आज तक नही मिला वो खजाना

लेकिन वहां से मिले खजाने पर मानसिहं का हक होगा। जंग के दौरान लूटे खजाने को मानसिहं ने जयगढ़ फोर्ट में दफना कर रखा था।

भारतीय सेना ने की थी किले की खुदाई

इमरजेंसी के दौरान यह भी अफवाह फैली कि इंदिरा गांधी और संजय गांधी के इशारे पर सेना ने जयपुर के इलाके को सीज कर दिया और वही जयगढ़ फोर्ट से मिले खजाने को दिल्ली ले जाने के लिए ट्रक, हेलीकॉप्टर , भारतीय वायु सेना के जहाज आए हैं।

जयगढ़ फोर्ट में आपातकाल में इंदिरा गांधी ने खोजा खजाना और छुपा दिया, आज तक नही मिला वो खजाना

हम आपको बता दें कि उस दौरान सेना के आलाधिकारियों नें एक दो बार निरीक्षण के लिए जयगढ़ फोर्ट पर हेलिकॉप्टर्स से लैडिंग भी की थी।

पाकिस्तान ने भी मांगा था खजाना

अरबी पुस्तक ‘तिलिस्मात-ए-अम्बेरी’ में लिखा हुआ है कि जयगढ़ फोर्ट में सात टैंको के बीच सुरक्षित तरीके से खजाना छुपाया गया है।

जयगढ़ फोर्ट में आपातकाल में इंदिरा गांधी ने खोजा खजाना और छुपा दिया, आज तक नही मिला वो खजाना

शायद इसी आधार पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री भुटटो ने 11 अगस्त 1976 को इंदिरा गांधी को एक पत्र लिखा जिसमें जयगढ़ फोर्ट से मिले खजाने में हिस्सेदारी की मांग की गई थी।

Latest articles

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...

आखिर क्यों बना Haryana के टीचर का फॉर्म हाउस पूरे प्रदेश में चर्चा का विषय, यहां पढ़ें पूरी ख़बर

आज के समय में फॉर्म हाउस बनाना कोई बड़ी बात नहीं है, लेकिन हरियाणा...

Faridabad का ये किसान थोड़ी सी समझदारी से आज कमा रहा लाखों, यहां जानें कैसे

आज के समय में देश के युवा शिक्षा, स्वास्थ आदि क्षेत्रों के साथ साथ...

Haryana के इस शख्स ने किया Bollywood के सुपरस्टार ऋतिक रोशन के साथ काम, इससे पहले भी कर चुके है कई फिल्मों में काम

प्रदेश के युवा या बुजुर्ग सिर्फ़ खेल या शिक्षा के मैदान में ही तरक्की...

More like this

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...

आखिर क्यों बना Haryana के टीचर का फॉर्म हाउस पूरे प्रदेश में चर्चा का विषय, यहां पढ़ें पूरी ख़बर

आज के समय में फॉर्म हाउस बनाना कोई बड़ी बात नहीं है, लेकिन हरियाणा...

Faridabad का ये किसान थोड़ी सी समझदारी से आज कमा रहा लाखों, यहां जानें कैसे

आज के समय में देश के युवा शिक्षा, स्वास्थ आदि क्षेत्रों के साथ साथ...