Pehchan Faridabad
Know Your City

शूटआउट: क्या नाबालिग था फरीदाबाद से पकड़ा, एनकाउंटर में मारा गया प्रभात मिश्र

समूचे भारत को हिला देने वाली कानपुर की घटना ने एक नया मोड़ लिया है | बिकरू गांव में हुए एनकाउंटर में पुलिस ने जिस आरोपी प्रभात मिश्र उर्फ कार्तिकेय को मुठभेड़ में मार गिराया था, अब जांच में पता चला है कि वह नाबालिग था। वह 16 साल का था ।

ख़बरों से मुताबिक, एनकाउंटर से पहले फोन पर उसकी आखिरी बातचीत बहन से हुई थी। तब वह बोला था… नाम नहीं लूंगा.. जो भी हैं, जहां भी हैं, सब ठीक हैं। इसके बाद फोन कट गया था।

प्रभात मिश्र

8 पुलिस वालों की दर्दनाक हत्या कर विकास दुबे फरीदाबाद आया था | वे बड़खल स्थित एक होटल में भी गया था | पुलिस ने फरीदाबाद से प्रभात, अंकित और श्रवण को गिरफ्तार किया था।

पुलिस का दावा है कि लौटते समय पनकी क्षेत्र में गाड़ी पंचर हो गई थी। इसी दौरान प्रभात एक दरोगा की पिस्टल लूटकर भागने लगा था। पीछा करने पर पुलिस पर गोली चलाई थी। जवाबी कार्रवाई में वह मारा गया था।

मोदी कहते हैं आतंकवादी है कोई तो देश छोड़ दो, योगी कहते हैं बदमाश है कोई तो प्रदेश छोड़ दो | प्रभात मिश्र के परिजन पुलिस पर आरोप लगा रहे हैं कि प्रभात को साज़िश के तहत मारा गया है | प्रभात की दसवीं की मार्कशीट और आधार कार्ड से पता चला है कि उसकी जन्मतिथि 27 मई 2004 है। ख़बरों के अनुसार वे पढ़ाई में अव्वल था। हाईस्कूल में उसे एक ग्रेडिंग मिली थी।

प्रभात मिश्र

प्रभात के परिजनों का कहना है कि पुलिस वालों ने अपना नाम कमाने के लिए उसको झूठे एनकाउंटर में मारा है | प्रेस नोट में उसकी उम्र 20 साल बताई गई थी। कल उसकी बेहेन हिमांशी ने प्रभात की हाईस्कूल परीक्षा यूपी बोर्ड-2018 की मार्कशीट बताई। इसमें जन्मतिथि 27 मई 2004 दर्ज है। इसमें उसका नाम कार्तिकेय पुत्र राजेंद्र कुमार दर्ज है। आधार कार्ड में भी यही नाम और पता- ग्राम बिकरू पोस्ट कंजती जिला कानपुर नगर-209204 दर्ज है।

पूरे देश को हिला देने वाली कानपुर की घटना का मुख्य आरोपित विकास दुबे घटना के 7वें दिन उज्जैन के महाकालेश्वर मंदिर के परिसर से गिरफ्तार किया गया। अगले दिन कानपुर लाते वक्त मुठभेड़ में यूपी एसटीएफ ने एनकाउंटर मार गिराया था।

प्रभात मिश्र

अभी तक इस मामले में 6 अभियुक्त एनकाउंटर में मारे जा चुके हैं। 11 अभियुक्तों की तलाश जारी है | कुछ पुलिस वालों को भी इसमें गिरफ्तार किया गया है, जो विकास दुबे के साथी थे |

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More