Pehchan Faridabad
Know Your City

क्या बारिश और सर्दियों में बड़ेगा कोरोना महामारी का प्रकोप ? जाँच के बाद आया यह बड़ा कनेक्शन

आईआईटी-भुवनेश्वर और एम्स (AIIMS) के शोधकर्ताओं के साथ मिलकर किए गये एक अध्ययन में सामने आया है कि, मानसून और सर्दियां आने के साथ तापमान में गिरावट से कोरोना के प्रसार में बढ़ोत्तरी हो सकती है पृथ्वी, महासागर और जलवायु विज्ञान के स्कूल के सहायक प्रोफेसर वी वीनोज के नेतृत्व में आईआईटी-भुवनेश्वर में किए गए अध्ययन के अनुसार बारिश, तापमान में कमी और सर्दियों की ओर बढ़ रहे वातावरण के ठंडा होने से बनी पर्यावरणीय परिस्थितियां देश में कोरोना वायरस के प्रसार को तेज करने में मदद कर सकती हैं |

उन्होंने यह भी कहा की, “अध्ययन, यह दर्शाता है कि तापमान और सापेक्ष आर्द्रता का रोग वृद्धि दर और मामलों के दोगुने होने के समय पर महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ता है अध्‍ययन यह बताता है कि तापमान में एक-डिग्री सेल्सियस की वृद्धि के कारण मामलों में 0.99% की कमी होती है और वायरस फैलने की गति पर लगाम लगाते हुए मामलों के दोगुना होने का समय 1.13 दिनों तक बढ़ जाता है “परिस्थिति विशेष में नहीं हुआ अध्ययन इसलिए और शोध की आवश्यकता है |

कोरोना महामारी का भारत में प्रसार और तापमान

हालांकि, शोधकर्ताओं ने कहा कि चूंकि मानसून की शुरुआत या सर्दियों के आगमन की आर्द्रता की अवधि के दौरान अध्ययन नहीं किया गया था, इसलिए इसके सटीक प्रभावों को जानने के लिए अधिक शोध किए जाने की आवश्यकता है |


कोरोना महामारी का भारत में प्रसार और तापमान एवं सापेक्षिक आर्द्रता पर निर्भरता” शीर्षक रिपोर्ट में अप्रैल और जून के बीच 28 राज्यों में कोरोना वायरस के प्रकोप और यहां से सामने आने वाले मामलों की संख्या को ध्यान में रखा गया वीनोज ने बताया, अध्ययन में पता चला है कि तापमान में वृद्धि वायरस के संचरण में गिरावट का कारण बनती है |


अध्ययन में पाया गया कि सापेक्ष आर्द्रता में वृद्धि से मामलों में वृद्धि की दर कम हो जाती है और कोरोना वायरस के मामलों के दोगुना होने का समय 1.18 दिनों तक बढ़ जाता है |

भारत कोरोना महामारी में तीसरे स्थान पर पहुंचा

देश में कोरोना महामारी का प्रकोप चरम पर है और गत तीन दिनों से लगातार 30 हजार से अधिक मामले सामने आ रहे हैं और संक्रमितों का आंकड़ा अब तक 10.38 लाख से अधिक हो चुका है। इससे पहले गुरुवार को 32,695 और शुक्रवार को 34,956 मामलों की पुष्टि हुई थी।
दस लाख का अंकड़ा पार करने वाला भारत तीसरा देश है। पहले स्थान पर अमेरिका है जहां सबसे अधिक 36,41,539 मामले और दूसरे स्थान पर स्थित ब्राजील में 20,46,328 मामले हैं।


केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से शनिवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक देश में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस संक्रमण के 34,884 मामले सामने आये और संक्रमितों की कुल संख्या 10,38,716 हो गयी। मृतकों की संख्या 671 बढ़कर 26,273 हो गयी है। अब तक कुल 6,53,751 कोरोना वायरस से मुक्ति पा चुके हैं तथा अब कोरोना वायरस संक्रमण के 3,58,692 सक्रिय मामले हैं।

विश्व में कोरोना महामारी का बड़ता प्रभाव

भारत में पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना वायरस के 34884 नये मामले सामने आये हैं और इसके साथ ही यहां इससे संक्रमित होने वाले लोगों की संख्या 10,38,716 हो गयी है। देश में अब तक कुल 6,53,751 मरीज स्वस्थ हुए हैं जबकि 26,273 लोगों की इस महामारी से मौत हो चुकी है। देश में वर्तमान में 3,58,692 सक्रिय मामले हैं।


विश्व महाशक्ति माने जाने वाले अमेरिका में कोरोना से अब तक 36,41539 लोग संक्रमित हो चुके हैं तथा 1,39,176 लोगों की मौत हो चुकी है। ब्राजील में अब तक 20,46,328 लोग इसकी चपेट में आ चुके हैं जबकि 77851 लोगों की मौत हो चुकी है।

रूस कोविड-19 के मामलों में चौथे नंबर पर है और यहां इसके संक्रमण से अब तक 7,58,001 लोग प्रभावित हुए हैं तथा 12,106 लोगों ने जान गंवाई है। पेरू में लगातार हालात खराब होते जा रहे है वह इस सूची में पांचवें नम्बर पर पहुंच गया है। यहां संक्रमितों की संख्या 3,45,537 हो गई तथा 12,799 लोगों की मौत हो गयी है।

वहीं ईरान में संक्रमितों की संख्या 2,69,440 हो गई है और 13,791 लोगों की इसके कारण मौत हुई है। वहीं स्पेन में कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या 2,60,255 है जबकि 28,420 लोगों की मौत हो चुकी है। पड़ोसी देश पाकिस्तान में कोरोना वायरस से अब तक 2,59,999 लोग संक्रमित हुए हैं तथा 5475 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं सऊदी अरब कोरोना वायरस संक्रमण से अब तक 2,45,851 लोग प्रभावित हुए हैं तथा 2407 लोगों की मौत हो चुकी है।

Written by- Prashant K Sonni

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More