HomeFaridabadफरीदाबाद पुलिस ने की नई पहल,किशोरों की समस्यायों के लिए बनाएगी अलग...

फरीदाबाद पुलिस ने की नई पहल,किशोरों की समस्यायों के लिए बनाएगी अलग शाखा

Published on

पुलिस कर्मियों को कोरोना काल में देवता की तरह पूजा गया है | फरीदाबाद पुलिस वालों की छवि भले ही ख़राब हो, लेकिन पुलिस अपना कार्य करना नहीं छोड़ती। किशोरों के खिलाफ असामाजिक तत्वों के उत्पीड़न के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए हरियाणा की फरीदाबाद पुलिस ने एक विशेष शाखा (स्पेशल ब्रांच) स्थापित करने का फैसला किया है |

फरीदाबाद पुलिस के नए कमिश्नर ओ.पी. सिंह जब से शहर में आए हैं, तबसे अनेकों कार्य कर चुके हैं | जिले की पुलिस ने जो पहल की है वे हर राज्य को करना चाहिए। समाज की सेवा के दिन – रात कार्य करने वाले पुलिस कर्मी यदि रिश्वत लेना छोड़ दें, तो उनको देवता के समान सिर्फ मुसीबत में ही नहीं हर दिन पूजा जाएगा।

फरीदाबाद पुलिस ने की नई पहल,किशोरों की समस्यायों के लिए बनाएगी अलग शाखा

सुशांत सिंह राजपूत के जीजा फरीदाबाद के पुलिस कमिश्नर ओ.पी. सिंह ने कहा कि पिछले कुछ वर्षों में सोशल मीडिया और इंटरनेट के माध्यम से बाहरी दुनिया के साथ संपर्क ने यह खतरा कई गुना बढ़ा दिया है | उन्होंने कहा कि विंग का नाम टीन एज पुलिस (टीएपी) रखा गया है |

फरीदाबाद पुलिस तैयार करेगी मंच

टीएपी किशोरों को स्वस्थ और रचनात्मक जीवन शैली अपनाने के लिए प्रोत्साहित करने का प्रयास करेगा | पुलिस कमिश्नर ने कहा कि यह स्कूलों के | हेडबॉय-हेडगर्ल और स्पोर्ट्स टीमों के कप्तानों से बातचीत करने के लिए एक मंच तैयार करेगा |

फरीदाबाद पुलिस ने की नई पहल,किशोरों की समस्यायों के लिए बनाएगी अलग शाखा

सोशल मीडिया के कारण किशोरों की ज़िदगी पटरी से उतरती जा रही है | टीएपी वेब-कॉन्फ्रेंस और आमने-सामने बातचीत के जरिये उनके साथ होने वाली समस्याओं को समझने और सुनने के लिए सत्रों की मेजबानी करेगा | टीएपी इस क्षेत्र में सक्रिय गैर-सरकारी संगठनों की मदद से अभिभावकों और उत्पीड़न के किशोरों के लिए एक हेल्पलाइन भी चलाएगी |

फरीदाबाद पुलिस ने की नई पहल,किशोरों की समस्यायों के लिए बनाएगी अलग शाखा

अमूमन रोजाना अख़बारों में किशोरों संग सोशल मीडिया पर हुए उत्पीड़न के बारे में पढ़ने को मिल जाता है, ताजा मामला बॉयज लॉकर रूम का है | टीएपी किशोरों के बीच लोकप्रिय इंस्टाग्राम और स्नैपचैट जैसे सोशल मीडिया प्लैटफॉर्मों पर भी निगरानी रखेगा। इसके माध्यम से यह किशोरों को संभावित उत्पीड़न के बारे में शिक्षित करने और उन्हें किसी भी खतरे से बचने के लिए आवश्यक कदम उठाने के लिए प्रोत्साहित करेगा |

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...