HomeUncategorizedइंडियन ओशन में मिला 14 टांगों वाला विशालकाय कॉकरोच, वैज्ञानिक भी हुए...

इंडियन ओशन में मिला 14 टांगों वाला विशालकाय कॉकरोच, वैज्ञानिक भी हुए हैरान

Published on

समुंदर के रहस्य को आज तक कोई समझ नहीं पाया है। कहते हैं कि समुंदर तमाम रहस्यों को अपने आप में समाय बैठा है। इसके बारे में अच्छे तरीके से जानना काफी मुश्किल है।

वहीं समुंदर के अंदर क्या-क्या है, कोन कोनसे जीव हैं, ये भी लोगों के ज़हन में आता है। कई रिसर्चर्स इसका अध्ययन भी कर रहे हैं, लेकिन अनंत गहराई में अध्ययन का अंत मुश्किल है। समुंदर की गहराइयों में आज भी ऐसी कई जीव है जिसकी खोज की जानी बाकी है।

इंडियन ओशन में मिला 14 टांगों वाला विशालकाय कॉकरोच, वैज्ञानिक भी हुए हैरान

हाल ही में सिंगापुर के रिसर्चर्स को हिन्द महासागर में एक ऐसा जीव मिला जिसकी कल्पना किसी ने नहीं की होगी। ये जीव दिखता तो कॉकरोच जैसा है, लेकिन इसके पैर चौदह हैं। आमतौर पर घरों में पाए जाने वाले सामान्य कॉकरोच के छह पैर ही होते है।

इससे पहले भी कई समुंदरी कॉकरोच प्रजाति की खोज की जा चुकी है, लेकिन हिन्द महासागर में जिस जीव की खोज की गई है वो समुंदरी कॉकरोच की एक नई प्रजाति है। इसका आकार भी दूसरे कॉकरोच से बहुत बड़ा है।

इंडियन ओशन में मिला 14 टांगों वाला विशालकाय कॉकरोच, वैज्ञानिक भी हुए हैरान

सिंगापुर रिसर्चर्स द्वारा खोजे गए इस कॉकरोच की कुछ तस्वीरें भी सोशल मीडिया पर सामने आई हैं, जिसमें उसका आकार एक व्यस्त कछुए जितना जान पड़ता है। देखने में भी ये जीव काफी डरावना है।

हिन्द महासागर से मिले इस अजीबों गरीब कॉकरोच को गियांट सी कॉकरोच या डीप सी कॉकरोच भी कहते हैं। इस चौदह पैर वाले समुंदरी कॉकरोच का बायोलॉजिकल नाम बेठिनोमास रक्सासा है। इससे पहले ये कॉकरोच साल 2018 में पहली बार इंडोनेशिया के पश्चिमी जावा वेंटेन के तट के नजदीक देखा गया था, लेकिन उसके बाद से कभी नहीं देखा गया। अब ये हिन्द महासागर की गहराइयों में मिला है।

इंडियन ओशन में मिला 14 टांगों वाला विशालकाय कॉकरोच, वैज्ञानिक भी हुए हैरान

इस प्रजाति का कॉकरोच समुंदर के अंदर मरे हुए जीवों को खा कर ज़िंदा रहता है, लेकिन इनमें ये भी खासियत है कि बेठीनोमास रकसासा समुंदर में बिना खाए कई दिनों तक जिंदा रह सकते हैं। इस कॉकरोच के करीबी रिश्तेदारों में केकड़ा और श्रृंब आते हैं।

इस कॉकरोच का आकार पचास सेंटीमीटर तक बड़ सकता है और यह समुंदर विज्ञान की दुनिया में खोजे गए दूसरे सबसे बड़े इसोपोर है। इस समुंदरी कॉकरोच को देखकर वैज्ञानिकों के भी होश उड़ गए, अब इस कॉकरोच पर रिसर्च जारी है।

Wtitten by – Ansh Sharma

Latest articles

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...

More like this

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...