Pehchan Faridabad
Know Your City

पौधारोपण की चाह में मशगूल हुए भाजपा नेता भूल गए सोशल डिस्टेंस का फार्मूला, जीवन से बढ़कर हुआ ढोंग का महत्व

चाहे राज्य हो या फिर केंद्र हर जगह भाजपा नेताओं ने अपनी सत्ता की कुर्सी बेशुमार बरकरार रखी है। इतना ही नहीं यह नेता आमजन के बीच अपनी अच्छी छवि को बनाए रखने के लिए अपने जीवन की बाजी भी बेशुमार खेल जाते हैं।

हम बात कर रहे हैं फरीदाबाद के ऐसे दो नेताओं की जिन्होंने अपने जिले की हरियाली को बरकरार रखने के लिए जगह जगह पौधारोपण का कार्यक्रम किया गया।

जिनमें बल्लभगढ़ के विधायक और कैबिनेट मंत्री मूलचंद शर्मा और फरीदाबाद के केंद्रीय सांसद मंत्री कृष्ण पाल गुर्जर शामिल है। मालूम हो कि दोनों ही नेता भाजपा पार्टी से हैं। दोनों ही नेताओं द्वारा फरीदाबाद में अलग-अलग जगह पर पौधारोपण का कार्यक्रम आयोजित किया गया।

जिसमें परिवहन मंत्री और बल्लभगढ़ विधायक मूलचंद शर्मा ने सेक्टर 62 में पीपल का पौधा लगाया तो वही आज पेड़ जन जीवन का आधार है यह मूल मंत्र बताते हुए कृष्णपाल गुर्जर द्वारा सेक्टर 31 के दीनदयाल उपाध्याय टाउन पार्क इनडोर स्टेडियम में पौधारोपण किया गया।

पौधारोपण करना अच्छी बात है। जीवन जीना है तो पौधारोपण करना भी बहुत जरूरी है इसलिए आमजन को जागरूक करने के लिए समय-समय पर पौधारोपण कर नेताओं द्वारा पौधों से मिलने वाली ऑक्सीजन और शुद्ध वातावरण के बारे में लंबे लंबे भाषण दिए जाते हैं।

लेकिन जरा गौर से आप इन तस्वीरों को देखिए जहां एक तरफ नेता शुद्ध वातावरण के लिए और हरियाली को बढ़ाने के लिए पौधारोपण कर रहे हैं वहीं इस छवि में आप साफ-साफ देख सकते हैं कि यहां सोशल डिस्टेंस का नामोनिशान तक गायब है।

आपको बताते चलें कि कोरोनावायरस के चलते सरकार ने लॉकडाउन कर एक जगह भीड़भड़ इकट्ठा होने से रोकने के लिए कई नए नए नियम पारित किए थे जिन्हें खुद इन नेताओं ने अमल में लाने के लिए जनता से अपील की थी। वहीं दूसरी और अभिनेता पौधारोपण कर आमजन के बीच संपर्क साधने और अपनी छवि को बरकरार रखने के लिए खुद अन्य नियमों का मजाक बना रहे हैं।

ऐसे में नेताओं को सोचना चाहिए कि क्या उनके जीवन से बढ़कर पौधारोपण हो सकता है भले ही पौधे से मिलने वाली ऑक्सीजन जीवन जीने के लिए आवश्यक है। लेकिन जो दौर इस वक्त चल रहा है उससे बचने के लिए और कोरोनावायरस जैसी महामारी को रोकने के लिए सोशल डिस्टेंस ही एकमात्र फार्मूला है।

यह बात आप ने भाजपा नेताओं के मुंह से कई बार सुनी होगी लेकिन आप इन तस्वीरों में खुद दे सकते हैं कि इस फार्मूले का भाजपा नेताओं द्वारा जुमला बनाया जा रहा है। अगर नेता ही पीएम नरेंद्र मोदी की बातों को दरकिनार रखेंगे तो ऐसे में आमजन को सही रहा कौन दिखाएगा?

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More