Pehchan Faridabad
Know Your City

जब हर बड़ी खबर की कड़ी मुझसे आ जुड़ी : मैं हूँ फरीदाबाद

नमस्कार! मैं हूँ फरीदाबाद। आज मैं बहुत खुश हूँ जानना चाहते हैं क्यों ? मेरा सपना था कि एक दिन मैं भी अपनी चचेरी बहन दिल्ली की तरह फेमस होऊं। जगह जगह अखबारों में मेरा नाम छपे। टीवी न्यूज़ पर तमाम बड़े एंकर मेरा नाम भी अपनी जुबां से पुकारें और लोग मेरे बारे में भी जान सके। मेरा यह सपना अब पूरा हो चुका है।

अब मैं भी पूरे भारत में एक फेमस सिटी के रूप में उभर रहा हूँ। क्या? आप मेरी इस प्रसिद्धि के पीछे छिपा राज़ जानना चाहते हैं? अरे भाई इसके पीछे कोई बड़ा कारण नहीं है। इसकी वजह तो इस देश से जुड़ी तमाम बड़ी खबरें हैं। जिनका मुझसे कोई न कोई तार जुड़ ही जाता है। अब क्या बताऊँ आपको मैं हूँ ही इतना ख़ास।

मैं सबसे पहले फेमस हुआ जब विकास दुबे के कदम मेरी चौखट पर पड़े थे। जब पूरे देश के किसी भी शहर ने उसे पनाह नहीं दी तब सिर्फ मैं खड़ा हुआ उसके साथ। मेरे शहर के कुछ दयालु लोगों ने उस गैंगस्टर को सर ढकने के लिए ठिकाना दिया। दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत ने भी मुझको काफी लाइमलाइट दिलवाई।

भला हो ओपी सिंह का जो यहां ड्यूटी कर रहे हैं। अगर वो ना होते तो मेरा क्या होता? सुशांत के पापा, सुशांत का डॉगी, सुशांत की गाड़ियां सब अभी मेरे ही पास है और मेहफ़ूज़ है। पर अब इस वाली खबर का हिस्सा बनकर मैं थक गया हूँ और मुझसे ज्यादा थके हुए हैं मरहूम अभिनेता के पिता। तो आप सब भी उन्हें उनके ग़म से उभरने दीजिये एक पिता अपने बेटे की मौत से दुखी है। ये खबर नहीं हैं, ये इस दुनिया का कड़वा सच है।

अगली खबर जिसने मेरी सुर्खियां बटोरने में मदद की वो है सलमान खान को जान से मारने की प्लानिंग करने वाले गैंगस्टर की। हाँ हाँ वही बॉलीवुड वाले सलमान खान की ही बात कर रहा हूँ। हिरन मारने के कांड में फसे सल्लू मिया अब इस केस से बाहर निकल चुके हैं पर शायद कुछ लोग ऐसे हैं जो अभी भी इस फैसले से ना खुश हैं। तभी तो बिष्नोई समाज से ताल्लुक रखने वाले एक गुंडे ने सलमान को मारने के लिए प्लान बनाया पर बिचारा मेरी चौखट पर आकर पकड़ा गया।

खैर आखरी खबर जिसने मुझको न सिर्फ प्रसिद्धि दिलवाई पर साथ ही साथ टॉप 10 गंदगी से सराबोर शहरों की फेहरिस्त में लाकर खड़ा कर दिया। स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 के परिणाम ने मेरा फेमस होने का सपना पूरा कर दिया। हाँ मैं ये ज़रूर चाहता था कि एक दिन मेरा नाम भी साफ़ सफाई के मामले में शिखर पर रहे पर मैं गंदगी के पायदान से ही काम चला लुंगा।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More