Online se Dil tak

कोरोना की मार के बीच हाईवे पर चलना महंगा, जानिये कितना बढ़ा टोल टैक्स

महामारी कोरोना ने जहां सबकी जेबें ढीली कर दी हैं, वहीँ अब जनता का खर्चा बढ़ाने के लिए सरकार ने टोल टैक्स में इज़ाफ़ा कर दिया है। कोरोना के इस समय में नेशनल हाईवे-44 पर चलना अब महंगा होने वाला है। करनाल से यदि आपको पानीपत की तरफ जाना है या फिर पानीपत की तरफ से करनाल आना है तो टोल टैक्स के रूप में पांच रुपये से लेकर 20 रुपये तक अधिक चुकाने होंगे।

कोरोना वायरस ने सिर्फ उद्योगपतियों की ही नहीं बल्कि सभी की जेबों पर वार किया है। एनएचएआई के निर्देशों के बाद बसताड़ा टोल प्लाजा दरों को बढ़ाने जा रहा है। 

कोरोना की मार के बीच हाईवे पर चलना महंगा, जानिये कितना बढ़ा टोल टैक्स

टोल टैक्स बढ़ने से सबसे अधिक समस्या आम जनता को ही होगी। सरकार द्वारा दी गई टोल की नई दरें पहली सितंबर से लागू होंगी। वहीं यदि मासिक पास की बात करें तो यह भी 60 रुपये से लेकर 350 रुपये तक वाहन की क्षमता के अनुसार महंगे हो जाएंगे। बता दें कि बसताड़ा टोल प्लाजा से 24 घंटे में दिल्ली से अमृतसर तक जाने वाले करीब 30 हजार से ज्यादा वाहनों यही से गुजरते हैं।

कोरोना की मार के बीच हाईवे पर चलना महंगा, जानिये कितना बढ़ा टोल टैक्स

फरीदाबाद से दिल्ली जाने वालों की फेहरिस्त बहुत लंबी है। उनके ऊपर भी इसका सीधा असर पड़ेगा। अप एंड डाउन करने वाले हर वाहन मालिक की जेब पर टोल की बढ़ी नई दरों से असर पड़ेगा। हालांकि नई दरों में कार, जीप और वैन की एक तरफ की यात्रा का टोल टैक्स नहीं बढ़ा है, यदि वे अप-डाउन करेंगे तो पिछले रेट से पांच रुपये अधिक चुकाने होंगे। 

महामारी कोरोना के लगातार बढ़ते मामलों के बीच यह खबर बिलकुल जनता को सुकून नहीं देगी। हरियाणा में लगातार तेज़ी के साथ कोरोना का ग्राफ बढ़ता जा रहा है। प्रदेश में कोरोना के 65 हज़ार मामले होने वाले हैं। फरीदाबाद में जनता बेखौफ हो कर घूम रही है। कोरोना का कोई डर अब बचा ही नहीं है।

कोरोना की मार के बीच हाईवे पर चलना महंगा, जानिये कितना बढ़ा टोल टैक्स

फरीदाबाद से दिल्ली जाने वालों के लिए यह खबर सुखद नहीं। आगरा से दिल्ली की तरफ बदरपुर फ्लाईओवर से आने-जाने के लिए आज से कार, वैन और जीप चालकों को एक रुपया अधिक टोल देना पड़ेगा। कार, जीप वैन व लाइट मोटर व्हीकल को सिंगल ट्रिप के लिए 26, मल्टीपल ट्रिप के लिए 40 और मंथली पास के लिए 793 रुपये चुकाने होंगे। 

Read More

Recent