Online se Dil tak

आसमान छू रहा सब्जियों के दाम, अनलॉक में भी राहत नहीं, महंगाई ने बिगाड़ दिया लोगों का जायका

सब्जियों के बढ़ते दामों ने आम आदमी की थाली का बजट बिगाड़ दिया है। पहले लॉकडाउन, फिर अनलॉक में भी सब्जियों की आपूर्ति पर असर पड़ा, रही सही कसर बारिश ने पूरी कर दी। खेतों में ही सब्जियां नष्ट होने से किसानों को भी नुकसान उठाना पड़ा है। इसलिए बाजार में आलू समेत अन्य सब्जियों के भाव भी उछाल आया है।

कोरोना काल में कामकाज ठप होने से लोगों की जेब खाली है। उधर, महंगाई की आफत अलग झटका दे रही है। सब्जियों के दाम आसमान छू रहे हैं। अब सब्जियों की महंगाई की आग रसोई तक पहुंच गई है। सब्जियों की महंगाई का सबसे ज्यादा असर गरीब, मध्यमवर्गीय परिवारों पर पड़ रहा है।

आसमान छू रहा सब्जियों के दाम, अनलॉक में भी राहत नहीं, महंगाई ने बिगाड़ दिया लोगों का जायका

लोग सब्जी की खरीदारी में कटौती करने लगे हैं। टमाटर और परवल का भाव सुनकर लोग अचंभित हैं। बाजार में टमाटर का भाव 80 रुपए किलो है जबकि बीस दिन पहले 50-55 रुपए किलो था। 40 रुपए किलो बिकने वाला परवल 60 रुपए किलो बिक रहा है। करैला 80 रुपए किलो, कद्दू 35 रुपए पीस, पत्ता गोभी 60 रुपए किलो में बिक रहा है।

आसमान छू रहा सब्जियों के दाम, अनलॉक में भी राहत नहीं, महंगाई ने बिगाड़ दिया लोगों का जायका

इसी तरह प्याज 40 रुपए किलो, बैगन 70 रुपये, मूली 40 रुपये, भिंडी 50 रुपये, आलू 40 रुपये, फूल गोबी 100 रुपये किलो बिक रहा है। दुकानदारों ने बताया गांव, देहात में सब्जियों के आवाक कम रहने के चलते भाव बढ़ा है।

Read More

Recent