Pehchan Faridabad
Know Your City

यूथ अगेंस्ट इंजस्टाइस फाउंडेशन और वूमेंस पॉवर की टीम ने रेप पीड़िताओं को न्याय दिलाने के लिए रैली और साइलेंट प्रोटेस्ट किया

सुबह 9:00 बजे हार्डवेयर चौक से 1 नंबर मार्केट तक रैली चली जहां उन्होंने बीच बीच में साइलेंट प्रोटेस्ट कर लोगो को पोस्टर्स के जरिए जागरूक किया। प्रदर्शन का उद्देश्य था कि सोई हुई जनता को जगाएं और समाज में हो रहे रोज़ के दुष्कर्मों के खिलाफ आवाज़ उठाएं। इसमें यूथ अगेंस्ट रेप टीम ये युवा और वूमेन्स पॉवर की महिलाएं शामिल थी। हाल ही में फरीदाबाद के नगला इलाके में एक 8 साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म की खबर सुन कर युवाओं का आक्रोश एक शांतिप्रिय तरीके से दिखाया गया।

रैली के दौरान covid-19 को ध्यान म रखते हुए टीम द्वारा सभी आवश्यक सावधानियों (मस्क, सैनिटाइजर ) का भी ध्यान रखा गया। टीम का मानना है कि एक छोटा कदम हमेशा कुछ ना करने से बेहतर होता है यही सोच कर हम सभी पीड़िता को न्याय दिलवाने के लिए आवाज़ उठा रहे हैं।

यूथ अगेंस्ट रेप मिशन जो कि यूथ अगैंस्ट इंजस्टिस फाउंडेशन द्वारा चलाया जा रहा है, जिसकी खोज एक 22 साल के युवक पीयूष मोंगा ने कि थी जो एक हरियाणा के ही हिसार के निवासी है, जिनका मकसद सिर्फ महिलाओं के लिए लड़ना ही नहीं बल्कि झूठे रेप के आरोप के खिलाफ आवाज़ उठाना और दोषियों को साझा दिलवाने का है। इस्त्री हो या पुरुष न्याय पर सबका बराबर का अधिकार है ऐसा Y.A.R के युवाओं का मानना है।

इस बलात्कार की समस्या का एक कारण हमारी न्याय प्रणाली की खामियाँ भी हैं। निर्भया केस में इंसाफ पाने के लिए एक माँ को 7 साल का कड़ा संघर्ष करना पड़ा। बलात्कारी लगातार कानून के साथ खिलवाड़ करते रहे और हमारी न्यायपालिका महज़ देखती रह गई। कदाचित समाज को इस बात का विस्मरण हो गया है कि यह वह देश है जहाँ एक स्त्री के सम्मान की रक्षा हेतु एक महाविनाशी युद्ध ‘महाभारत’ हुआ था। एक स्त्री के अपमान के कारण पूरे भरतवंश का सर्वनाश हो गया था।

प्रतीत होता है कि यदि स्त्रियों का अपमान इसी प्रकार होता रहा तो संभव है कि यह हमारे देश के विध्वंस का कारण बन जाए। अब हमें अपने देश को इस जघन्य अपराध से मुक्त कराने की आवश्यकता है।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More