Pehchan Faridabad
Know Your City

मंडी की निगरानी में लगे अधिकारियो को हरियाणा के सीएम मनोहर लाल ने दिया सख्त आदेश ।

हरियाणा के मुख्यमन्त्री श्री मनोहर लाल ने खरीफ फसलों की खरीद में लगे अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि वे मंडियों में खरीद प्रक्रिया की निगरानी करने के लिए फील्ड का दौरा करें। इसके अलावा, मुख्यालय स्तर के अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि धान खरीद के लिए ‘एच फार्म से लेकर जे फार्म, गेट पास, आई फार्म’ के सृजन होने से लेकर मंडी से वेयरहाउस तक उठान तथा आई फार्म की स्वीकृति प्रक्रिया को ऑनलाइन किया जाए।

यह भी सुनिश्चित किया जाए कि एच फार्म जारी होने के एक सप्ताह के अंदर-अंदर या आई फार्म स्वीकृत होने के 72 घंटों में किसान को उसकी खरीद की अदायगी हर हालत में हो जाए।मुख्यमंत्री आज यहां धान खरीद प्रक्रिया से जुड़े विभागों के अधिकारियों की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे।

मुख्यमंत्री ने यह भी निर्देश दिए कि खरीद प्रक्रिया से जुड़ा कोई एक अधिकारी या कर्मचारी भी लापरवाही बरतता है तो पूरी प्रक्रिया डगमगा जाती है। उन्होंने कहा कि मंडी बोर्ड के सचिव से लेकर आढ़ती, मिलर, ट्रांसपोर्टर हर किसी की जिम्मेवारी तय की जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रत्येक मंडी से जुड़ी हर राइस मिल को एक समानुपात में स्टॉक का आवंटन होना चाहिए। यह कतई नहीं होना चाहिए कि एक मिल को उसके निर्धारित आवंटन कोटे से अधिक स्टॉक जारी किया जाए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पूरी प्रक्रिया का एक चार्ट मंडीवार, किसानवार और आढ़तीवार तैयार किया जाना चाहिए और इसे वैबसाइट पर अपलोड किया जाए ताकि कोई भी व्यक्ति इसका अवलोकन कर सके। विशेषकर, किसान को इस बात की जानकारी हो सके कि किस दिन उसका ‘एच-फार्म’ जारी हुआ है और उसी के अनुसार वह मंडी में आए। उन्होंने कहा कि वे स्वयं चण्डीगढ़ से डेशबोर्ड पर पूरी खरीद प्रक्रिया की जानकारी निरन्तर लेते रहेंगे।
बैठक में खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले विभाग द्वारा अवगत करवाया गया कि पहले आरंभ में खरीद प्रक्रिया ऑफलाइन थी अब इसे ऑनलाइन कर दिया गया है।

हर प्रकार की जानकारी वेबसाइट पर उपलब्ध रहेगी कि किस दिन एच फार्म, जे फार्म, गेट पास व आई फार्म जारी हुआ। किस दिन जिला प्रबंधक या बैंकर्स को ऑनलाइन भुगतान के लिए पे-नाउ का बटन क्लिक करना होगा।
बैठक में मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव श्री राजेश खुल्लर, खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री पी.के. दास, कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री देवेन्द्र सिंह, अतिरिक्त प्रधान सचिव श्री वी.उमाशंकर,

उप-अतिरिक्त प्रधान सचिव श्रीमती आशिमा बराड़, हैफेड के प्रबंध निदेशक श्री डी.के.बेहरा, खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले विभाग के निदेशक श्री चन्द्र शेखर खरे, हरियाणा भण्डारण निगम के प्रबंध निदेशक श्री राजीव रतन, आईजी सीआईडी आलोक मित्तल तथा हरियाणा राज्य कृषि विपणन बोर्ड की मुख्य प्रशासक श्रीमती मेघा कटारिया भी उपस्थित थी।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More