Online se Dil tak

अपने घरों तक पहुंचने के लिए प्रत्येक जतन कर चुके प्रवासी मजदूरों को नहीं मिल पा रही कोई मदद।

वैश्विक महामारी घोषित हो चुके कोरोनावायरस के कारण देशभर में पहले 21 दिनों के लॉक डाउन की घोषणा केंद्र सरकार द्वारा की गई उसके पश्चात 15 अप्रैल से 3 मई तक 19 दिनों के लिए लॉक डाउन के दूसरे चरण का ऐलान केंद्र सरकार ने किया एवं अब इस महामारी के के चलते बढ़ रहे संक्रमित मामलों को देखते हुए केंद्र सरकार को एक बार फिर लॉक डाउन की अवधि को 2 हफ्ते के लिए बढ़ाना पड़ा है जिसके चलते अब लॉक डाउन के तीसरे चरण का ऐलान 4 मई से 17 मई तक किया गया है।

अपने घरों तक पहुंचने के लिए प्रत्येक जतन कर चुके प्रवासी मजदूरों को नहीं मिल पा रही कोई मदद।

लॉक डाउन के तीसरे चरण में लोगों को कुछ राहत केंद्र सरकार द्वारा दी गई है जिसके चलते अपने घरों से दूर अन्य राज्यों में फंसे प्रवासी मजदूर, छात्र, तीर्थयात्री एवं पर्यटक अपने क्षेत्र को लोकल नोडल अथॉरिटी से संपर्क कर एवं ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया द्वारा अपना रजिस्ट्रेशन कर केंद्र सरकार द्वारा दी जाने वाली सुविधाओं का लाभ उठाकर सरकार द्वारा चालू की जाने वाली बस एवं रेल सुविधाओं के जरिए अपने घरों तक पहुंच सकेंगे।

इसी के चलते आज फरीदाबाद सेक्टर 12 लघु सचिवालय में जिला उपायुक्त के दफ्तर के बाहर दर्जनों की संख्या में लोगों का जमावड़ा देखने को मिला जो सरकार से यह अपील लेकर पहुंचे थे कि उनको उनके घर भिजवाने के लिए सरकार ने जो ऑनलाइन सुविधा जारी की है वह उसका उपयोग नहीं कर पा रहे हैं या तो उन्हें किसी दस्तावेज के रूप में पास दिए जाए अथवा उनके लिए प्रशासन द्वारा कुछ लोग नियुक्त किए जाए जो ऑनलाइन उनका रजिस्ट्रेशन कर सकें।

इस दौरान जिलाधीश से मिलने के लिए नवविवाहिता से लेकर दर्जनों प्रवासी मजदूर एवं छात्र सेक्टर 12 लघु सचिवालय के बाहर घंटो तक जिला उपायुक्त से मिलने की आशा लेकर खड़े रहे जिन्हें अंत में पुलिस द्वारा समझा-बुझाकर वापस भेजा दिया गया।

Read More

Recent