HomeFaridabadमंझावली पुल को लेकर लगातार जारी है अफवाहों का सिलसिला

मंझावली पुल को लेकर लगातार जारी है अफवाहों का सिलसिला

Published on

हरियाणा और उत्तर प्रदेश के ओद्यौगिक नगरी की दूरी अब जल्द होगी पूरी, उद्योग को मिलेगा नया आयाम

फरीदाबाद के मंझावली पुल को लेकर काफी दिनों से अफवाहों का सिलसिला जारी था की यह पुल निमार्ण से पहले ही टूट गया हैं और इससे से नोयडा से संपर्क साधने में परेशानी होगी पर यह कोरी अफवाह हैं ।

दरअसल हरियाणा के अन्तर्गत आने वाले ओद्यौगिक नगरी का खिताब हासिल कर चुके फरीदाबाद और उत्तर प्रदेश के नोएडा जिसे भी ओद्यौगिक नगरी में शामिल किया गया है। अब इन दोनों की मध्यस्ता को कम करने के लिए मई 2020 में मंझावली पुल पूर्ण होने पर घट कर आधी से भी कम रह जाएगी।

जिसके अन्तर्गत अंतराष्ट्रीय कनेक्टिविटी के तहत फरीदाबाद से अट्टा गुजरान (नोएडा) वाया जसाना-मंझावली परियोजना के तहत यमुना नदी पर मंझावली गांव में बन रहे पुल के निर्माण में तेजी आई है।

यमुना नदी पर पुल निर्माण हेतु नदी में नींव बना कर चार पिलर भी का कार्य भी लगभग पूर्ण हो चुका हैं। मंझावली पुल बना रही एसपी सिंगला के प्रोजेक्ट मैनेजर अनवर खान ने बताया कि 630 मीटर लंबे इस पुल के निर्माण में 60-60 मीटर की दूरी पर 12 खंभे स्थापित किए जा रहे हैं। फिलहाल सात खंभे बन कर तैयार हो चुके हैं। इनके बीच 57.400 मीटर का स्पैन रखने का काम किया जा रहा है।

पूरे पुल में कुल 420 प्रीकास्ट सेगमेंट लगाए जाने हैं इनमें से करीब दो सैकड़ा सेगमेंट तैयार भी हो चुके हैं। बाकी सेगमेंट बनाने और उन्हें पिलरों पर स्थापित करने में दस माह से ज्यादा का समय लगेगा। वर्तमान में 150 श्रमिक, हैवी मशीनरी, क्रेन और कंक्रीट मशीन आदि 24 घंटे काम कर रही हैं ताकि प्रोजेक्ट को जल्द से जल्द पूरा किया जा सके।

उन्होंने बताया कि पहले प्रोजेक्ट को अक्तूबर 2018 में पूर्ण करने का लक्ष्य रखा गया था लेकिन बीच में कुछ माह काम बंद रहा इसलिए इसे दिसंबर 2018 कर दिया गया। जिस गति से काम चल रहा है मई 2020 में इस पुल पर वाहन फर्राटा भरने लगेंगे।

औद्योगिक नगरी को मिलेगा एक नया आयाम

उत्तरप्रदेश और हरियाणा के औद्योगिक शहरों को जोड़ने वाले इस प्रोजेक्ट से दोनों शहरों के उद्योगों को बढ़ावा होगा। दोनों शहरों के बीच की दूरी घटने से नहरपार इलाके में प्रॉपर्टी व्यवसाय में तेजी आएगी क्योंकि इस इलाके को 2031 के मास्टर प्लान में भी विकसित करने की योजना तैयार की गई है।

फरीदाबाद के मंझावली, जसाना से खेड़ी पुल और नोएडा के अट्टा गुजरान तक सड़क के दोनो और बसे औद्योगिक क्षेत्र और प्रॉपर्टी को लाभ पहुंचेगा। सड़क मार्ग से होकर जाने वाले भारी और छोटे वाहन चालकों को दिल्ली होकर और जाम से बचकर हरियाणा से उत्तरप्रदेश जाने में 3 घंटे का समय, ईंधन पर खर्च होने वाला पैसा भी बचेगा।

Latest articles

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...

More like this

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...