Pehchan Faridabad
Know Your City

कर्म का संदेश देकर जीवन जीने की कला सीखाती है श्रीमद्भागवद् गीता: DC यशपाल यादव

उपायुक्त यशपाल ने कहा कि ने कहा कि श्रीमद्भगवद् गीता मनुष्य को कर्म का संदेश देकर जीवन जीने की कला सीखाती है। आज जब मनुष्य जीवन अनेक चिंताओं और समस्याओं से घिरा हुआ है तो यह ग्रंथ हमें निरंतर कर्म का संदेश देते हुए आगे बढऩे की प्रेरणा देती है।

उपायुक्त यशपाल गुरुवार को राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय एनआईटी-3 में अंतरराष्ट्रीय गीता जयंती महोत्सव के अवसर पर आयोजित हवन यज्ञ के पश्चात संबोधित कर रहे थे।

उपायुक्त ने कहा कि गीता हमें जीवन में लगातार सकारात्मक रुप से आगे बढऩे की प्रेरणा देती है। जीवन में किसी भी परिस्थिति में सहनशील रहने का संदेश देकर निरंतर कुछ न कुछ नया सिखाती है। श्रीमद्भागद्गीता समाजहित के प्रति अपना दायित्व निभाने के लिए भी प्रेरित करती है।

उन्होंने कहा कि पवित्र ग्रंथ गीता विश्व का एक महान ग्रंथ है। इस ग्रंथ में कहे गए एक-एक श्लोक में मानवता की सीख मिलती है। हमें अपने जीवन को सफल बनाने और सही मार्गदर्शन के लिए प्रत्येक मनुष्य को अपने जीवन में पवित्र ग्रंथ गीता के ज्ञान को धारण करना चाहिए।

कार्यक्रम में जिलास्तरीय गीता जयंती कार्यक्रमों के नोडल अधिकारी एवं एसडीएम जितेंद्र कुमार ने कहा कि इस बार कोविड-19 की वजह से इन कार्यक्रमों को सीमित कर दिया गया है। अधिकतर कार्यक्रमों को ऑनलाईन आयोजित किया जा रहा है। उन्होंने वहां मौजूद शिक्षकों व विद्यार्थियों को गीता के उपदेशों को अपने जीवन में अपनाने का आह्वान भी किया।

उपायुक्त ने इस दौरान हवन यज्ञ में आहूति डाली और विभिन्न प्रतियोगिताओं में स्थान प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों को सम्मानित भी किया। इनमें लेखन प्रतियोगिता में राजकीय मार्डन सीनियर सेकेंडरी स्कूल एनआईटी-3 के 11वीं कक्षा के विद्यार्थी राजू, श्लोकोच्चारण में राजकीय सीनियर सेकेंडरी स्कूल तिलपत की 9वीं कक्षा की छात्रा दीपा, संवाद में राजकीय मार्डन सीनियर सेकेंडरी स्कूल सराय खवाजा की 12वीं कक्षा की छात्रा मोनिका व खुशी,

भाषण प्रतियोगिता में राजकीय कन्या हाई स्कूल कुराली की 10वीं कक्षा की छात्रा मोहिनी और पेंटिंग प्रतियोगिता के लिए राजकीय कन्या मार्डन सीनियर सेकेंडरी स्कूल बल्लभगढ़ के 9वीं कक्षा के छात्र गुलशन को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया।

इस दौरान श्रीमद्भागवद्गीता पर ऑनलाईन वेबीनार का आयोजन भी किया गया। इसमें उपायुक्त यशपाल, मुख्याध्यापक डॉ. रुद्रा शर्मा, पीजीटी ब्रिजेश, पीजीटी रूप किशोर ने अपने विचार प्रकाट किया। कार्यक्रम का संचालन संस्कृत अध्यापिका सरोजबाला ने किया।

इस अवसर पर अतिरिक्त उपायुक्त सतबीर मान, एसडीएम बल्लभगढ़ अपराजिता, एसडीएम बडख़ल पंकज कुमार सेतिया, जिला शिक्षा अधिकारी सतिंद्र कौर, जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी रितु चौधरी, उप जिला शिक्षा अधिकारी अनिता शर्मा, खंड शिक्षा अधिकारी बल्लभगढ़ बलबीर कौर, खंड शिक्षा अधिकारी फरीदाबाद मनोज मित्तल, प्रधानाचार्य रविंद्र मनचंदा, करणपाल, ज्योति मंगला, राजेश कुमार, साधना चौधरी, सरोज बाला, डॉ. रुद्रा शर्मा भी मौजूद थे।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More