Online se Dil tak

कूड़ा उठाने वाली गाड़ी ही सड़कों पर बिखेर रही है कूड़ा, क्या आपने भी देखा?

आपके घर से कूड़ा – उठाने वाली गाड़ी शहर में कूड़ा बिखेर रही है। इकोग्रीन कंपनी बार – बार बेपरवाही बरत रहा है। नगर निगम भी इकोग्रीन के खिलाफ कोई कार्यवाई नहीं कर रहा है। आपके घर से रोज़ाना कूड़ा उठाने वाली इकोग्रीन की गाड़ियां, एनजीटी के आदेशों की अवहेलना भी कर रही है। कूड़ा उठाकर ले जाने वाले ट्रेक्टर व गाड़ियों को ऊपर से ढका नहीं जाता।

शहर में एक मार्च से स्वच्छता सर्वेक्षण शुरू होगा। लेकिन जिस प्रकार के काम जिले में हो रहे हैं, उस से लगता नहीं कि कैसे शहर सुंदर होगा। केंद्र सरकार की टीमें फरीदाबाद आकर शहर की सफाई व्यवस्था का जायजा लेंगी।

कूड़ा उठाने वाली गाड़ी ही सड़कों पर बिखेर रही है कूड़ा, क्या आपने भी देखा?

गाड़ियों को ना ढकने के कारण लगातार सारा कूड़ा सड़कों पर गिर जाता है। एक तरफ तो, नगर निगम के सफाई कर्मचारी संसाधनों का रोना रहे हैं। सफाई कर्मचारी यूनियन ने दो माह पहले तत्कालीन निगम कमिश्नर यश गर्ग से मुलाकात कर उनसे 3000 झाडू, 300 रेहड़ी और 100 रिक्शा की डिमांड की थी, लेकिन अभी तक सामान नहीं मिला।

कूड़ा उठाने वाली गाड़ी ही सड़कों पर बिखेर रही है कूड़ा, क्या आपने भी देखा?

लगातार जिले में कूड़ा और गंदगी बढ़ती जा रही है। अब सभी के मन में यह सवाल आता है कि शहर की स्वच्छता रैंकिंग में सुधार कैसे होगा। खास बात यह है कि अभी तक हुए चार स्वच्छता सर्वेक्षण में फरीदाबाद हमेशा फिसड्डी रहा है। फरीदाबाद में प्रदूषण और गंदगी दोनों ही लगातार बढ़ते जा रहे हैं।

कूड़ा उठाने वाली गाड़ी ही सड़कों पर बिखेर रही है कूड़ा, क्या आपने भी देखा?

इकोग्रीन हमेशा से सवालों के घेरे में रहा है। कुछ ना कुछ समस्या लेकर इकोग्रीन सामने आ जाता है। उसकी वजह से ही अब ऐसा हो रहा है कि गाड़ियों से कूड़ा – कचरा सड़कों पर फ़ैल रहा है। निगम अधिकारियों की मानें तो आर्थिक बदहाली के चलते नगर निगम संसाधन उपलब्ध नहीं करा पा रहा। टैक्सेशन ब्रांच जो टैक्स की रिकवरी करती है उसे कर्मचारियों के वेतन और ठेकेदारों के पेमेंट पर खर्च कर दिया जाता है।

Read More

Recent