HomeFaridabadप्लास्टिक को रिसाइकल करके बनाई जाएगी टाइल्स, देखिए कहा करेंगे इस्तेमाल...

प्लास्टिक को रिसाइकल करके बनाई जाएगी टाइल्स, देखिए कहा करेंगे इस्तेमाल…

Published on

एक और जहां नगर निगम कमिश्नर शहर को स्वच्छ बनाने के लिए हर मुमकिन कोशिश कर रहा है। वहीं उसी कचरे में मिलने वाली प्लास्टिक से कुछ ऐसा कार्य करने के बारे में सोचा जा रहा है। जो कि रिव्यूस होकर एक बेहतरीन रूप लेकर सामने आएगी।

नगर निगम कमिश्नर यशपाल यादव ने बताया कि उनके द्वारा सरूरपुर में एक प्लांट लगाया जा रहा है। जिसमें कचरे में निकलने वाली प्लास्टिक को रिसाइकल करके टाइल्स बनाई जाएंगी।

प्लास्टिक को रिसाइकल करके बनाई जाएगी टाइल्स, देखिए कहा करेंगे इस्तेमाल...

उन टाइप का रंग व रूप बहुत ही बेहतर होगा। जिसे देख कर कोई यह नहीं कह सकेगा कि यह प्लास्टिक वेस्ट से टाइल्स को बनाया गया है।

सोमवार को सेक्टर 12 स्थित कन्वेंशन हॉल में नगर निगम के अधिकारियों के साथ एक मीटिंग का आयोजन किया गया था। जिसमें उन्होंने कहा था कि शहर को 30 जून तक कचरा मुक्त बनाना है और उस कचरे में से निकलने वाली प्लास्टिक रिसाइकिल करके टाइल्स के रूप में बदला जाएगा।

प्लास्टिक को रिसाइकल करके बनाई जाएगी टाइल्स, देखिए कहा करेंगे इस्तेमाल...

उन्होंने बताया इस को लेकर सरूरपुर में एक फैक्ट्री लगाई जा रही है। जहां पर एक्सपेरिमेंट किया जा रहा है अगर वह सफल हो जाता है। तो शहर से जितने भी प्लास्टिक है।

उसको इकट्ठा कर कर उस फैक्ट्री में ले जाया जाएगा और उस फैक्ट्री में उन प्लास्टिक से टाइल्स को बनाया जाएगा। उन्होंने बताया कि टाइल्स बनने के बाद कोई भी व्यक्ति यह नहीं बता सकता है कि यह टाइल्स प्लास्टिक के वेस्ट से बनाई गई है।

प्लास्टिक को रिसाइकल करके बनाई जाएगी टाइल्स, देखिए कहा करेंगे इस्तेमाल...

इस तरह का कार्य गुरुग्राम में चल रहा है। वहां पर भी एक कंपनी के द्वारा प्लास्टिक वेस्ट से टाइल्स को बनाया गया है और उस टाइल्स को एक झोड़ के ऊपर बिछाकर वॉक थ्रू बनाया गया है।

20 झोड़ का किया है चयन

नगर निगम कमिश्नर यादव ने बताया कि फरीदाबाद जिले में भी उनके द्वारा करीब 20 झोड़ का चयन किया गया है। जिसमें प्लास्टिक को रिसाइकल करके जो टाइल्स बनाए जाएंगे। उस टाइल्स का प्रयोग उन झोड़ के ऊपर लगाकर वॉक थ्रू बनाया जाएगा।

प्लास्टिक को रिसाइकल करके बनाई जाएगी टाइल्स, देखिए कहा करेंगे इस्तेमाल...

जिससे लोगों को वापस आने जाने में किसी प्रकार की कोई परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा। इसके अलावा लोग सुबह व शाम के समय आसानी से सैर कर सकेंगे। कचरे के अलावा उनके द्वारा जिले में जितने भी प्लास्टिक बिक रही है। उसको खरीदा जाएगा और उसके बाद उनको टाई बनाने में इस्तेमाल किया जाएगा।

Latest articles

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...

More like this

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...