HomeLife StyleEntertainment'बाबा का ढाबा' के मालिक कांता प्रसाद को किस्मत ने आसमान से...

‘बाबा का ढाबा’ के मालिक कांता प्रसाद को किस्मत ने आसमान से जमीन पर ला पटका,नया रेस्टोरेंट भी बंद

Published on

अगर कहें, इस जीवन में करने वाले कर्मों की सजा इसी भू लोक पर मिलती है । शायद इसीलिए दिल्ली के मशहूर बाबा का ढाबा के रेस्टोरेंट का ढांचा नस्तेनाबूद हो गया है ।
पिछले साल जोर शोरों से दिल्ली में “बाबा का ढाबा” की अनोखी दास्तां सामने आई । दक्षिण दिल्ली के मालवीय नगर इलाके में ढाबा चलाने वाले कांता प्रसाद और उनकी पत्नी बादामी देवी किस्मत की फेर से वापिस आसमान से जमीन पर आ गए है।

इस मामले में कई मोड़ आए और उन्होंने एक रेस्टोरेंट भी खोला लेकिन वो नहीं चल पाया यानी बाबा का ढाबा फिर से उसी रूप में खुल गया है । जिस रूप में वो वायरल हुए थे । पिछले साल कोरोना काल में उनका ढाबा मशहूर हो गया जब एक शहर के YouTuber ने एक वीडियो साझा किया था जिसमें अस्सी साल के प्रसाद के आंसुओं को दिखाया गया था, जिसमें बताया गया था कि कैसे उन्होंने व्यवसाय के लिए संघर्ष किया।

'बाबा का ढाबा' के मालिक कांता प्रसाद को किस्मत ने आसमान से जमीन पर ला पटका,नया रेस्टोरेंट भी बंद

वायरल वीडियो ने हजारों लोगों को खाना, सेल्फी और पैसे दान करने के लिए ढाबे में जाने के लिए प्रेरित किया था। जल्द ही उन्होंने एक नया रेस्तरां खोला, अपने घर में एक नई मंजिल जोड़ी, अपने पुराने कर्ज का निपटान किया और अपने और अपने बच्चों के लिए स्मार्टफोन भी खरीदे।

दिसंबर में बहुत धूमधाम से अपना नया रेस्तरां खोला

प्रसाद ने दिसंबर में बहुत धूमधाम से अपना नया रेस्तरां खोला था और पहले कुछ दिनों तक यह एक जोरदार सफलता थी। ढाबे के विपरीत, जहां प्रसाद ने अपने ग्राहकों के लिए रोटियां बनाईं, वह और उनकी पत्नी और उनके दो बेटे एक नए चमचमाते काउंटर के पीछे बैठे, अपने कर्मचारियों के रूप में भुगतान एकत्र कर रहे थे । दो रसोइये और वेटर ग्राहकों की सेवा करने में लगे थे, थोड़ी देर के लिए, ऐसा लग रहा था कि वृद्ध की पीड़ा अतीत की बात है। शुरुआती उत्साह के बाद कस्टमर धीरे-धीरे गायब होने लगे और जल्द ही, खर्च आय से अधिक हो गए।

इस वजह से बंद हुआ रेस्टोरेंट

'बाबा का ढाबा' के मालिक कांता प्रसाद को किस्मत ने आसमान से जमीन पर ला पटका,नया रेस्टोरेंट भी बंद
Baba ka dhaba

सामाजिक कार्यकर्ता तुशांत अदलखा को दोषी ठहराया,नया उद्यम तीन महीने में ध्वस्त हो गया। प्रसाद ने एक सामाजिक कार्यकर्ता तुशांत अदलखा को दोषी ठहराते हुए कहा, ‘कुल 5 लाख रुपये के निवेश में से, हम रेस्तरां बंद होने के बाद कुर्सियों, बर्तनों और खाना पकाने की मशीनों की बिक्री से केवल 36,000 रुपये की वसूली हो पाई है।’

लेकिन अदलखा ने आरोपों से इनकार किया और प्रसाद और उनके दो बेटों को नए रेस्तरां की विफलता के लिए दोषी ठहराया। ‘रेस्तरां स्थापित करने से लेकर ग्राहकों को लाने और भोजन की होम डिलीवरी के लिए ऑर्डर देने तक, हमने सब कुछ किया। इसके सिवा और क्या कर सकते थे? प्रसाद के दो बेटों ने रेस्तरां की कमान संभाली, लेकिन वे शायद ही कभी काउंटर पर रुके। होम डिलीवरी के लिए पर्याप्त ऑर्डर थे, लेकिन दोनों उन्हें पूरा करने में विफल रहे।’

एक बार फिर बाबा ने अपनी गलतियों के इल्जाम दूसरों पर लगाए

By Vishal Singh Rajput

Latest articles

“नशा मुक्त भारत पखवाडा” के अन्तर्गत फरीदाबाद पुलिस कर रही सराहनीय कार्य, नशा तस्करों की धरपकड़ के साथ-साथ चलाए जा रहे जागरूकता अभियान

पुलिस महानिदेशक हरियाणा के आदेश, पुलिस आयुक्त राकेश कुमार आर्य के मार्गदर्शन में फरीदाबाद...

नशा मुक्त भारत पखवाडा के अन्तर्गत अपराध शाखा बॉर्डर की टीम ने 532 ग्राम गांजा सहित आरोपी को किया गिरफ्तार

पुलिस महानिदेशक हरियाणा के निर्देशानुसार पुलिस आयुक्त राकेश कुमार आर्य के मार्गदर्शन में...

नशा मुक्त भारत पखवाडा के अंतर्गत नशे पर प्रहार करते हुए 520 ग्राम गांजा सहित आरोपी को अपराध शाखा DLF की टीम ने किया...

पुलिस महानिदेशक हरियाणा के निर्देशानुसार पुलिस आयुक्त राकेश कुमार आर्य के मार्ग दर्शन में...

More like this

“नशा मुक्त भारत पखवाडा” के अन्तर्गत फरीदाबाद पुलिस कर रही सराहनीय कार्य, नशा तस्करों की धरपकड़ के साथ-साथ चलाए जा रहे जागरूकता अभियान

पुलिस महानिदेशक हरियाणा के आदेश, पुलिस आयुक्त राकेश कुमार आर्य के मार्गदर्शन में फरीदाबाद...

नशा मुक्त भारत पखवाडा के अन्तर्गत अपराध शाखा बॉर्डर की टीम ने 532 ग्राम गांजा सहित आरोपी को किया गिरफ्तार

पुलिस महानिदेशक हरियाणा के निर्देशानुसार पुलिस आयुक्त राकेश कुमार आर्य के मार्गदर्शन में...

नशा मुक्त भारत पखवाडा के अंतर्गत नशे पर प्रहार करते हुए 520 ग्राम गांजा सहित आरोपी को अपराध शाखा DLF की टीम ने किया...

पुलिस महानिदेशक हरियाणा के निर्देशानुसार पुलिस आयुक्त राकेश कुमार आर्य के मार्ग दर्शन में...