HomeLife StyleHealthESIC हॉस्पिटल की लैब में नही हो रहा कोरोना टेस्ट , रिपोर्ट...

ESIC हॉस्पिटल की लैब में नही हो रहा कोरोना टेस्ट , रिपोर्ट के लिए करना होगा इंतजार

Published on

अनलॉक -1 में ढील के बीच फरीदाबाद में कोरोना वायरस (Coronavirus in Faridabad) के मामले बढ़ते जा रहे हैं। फरीदाबाद में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 900 के पार हो गई है, लेकिन एक बुरी खबर भी सामने आ रही फरीदवाद के एकमात्र हॉस्पिटल की लैब को बंद कर दिया गया हैं फरीदाबाद स्तिथ ESIC हॉस्पिटल के डीन डॉ असिन दास ने बताया कि लैब में स्टाफ के कोरोना संक्रमित होने से लैब को बंद किया गया हैं

फ़रीदाबाद के कोविड टेस्ट की रिपोर्ट इसी लैब में तैयार होती थी तथा यही से पता चलता था कि रोगी कोरोना पॉजिटिव हैं या फिर नेगेटिव है सोचने वाली बात यह है कि अगर फरीदाबाद के सबसे बड़े अस्पताल की टीम ही सुरक्षित नहीं है तो फिर किस प्रकार के कोरोना से बचने के इंतजाम किए गए हैं

दरअसल फरीदाबाद स्थित आईएसआईसी की लैब के 60 से 70 फीसदी स्टाफ कोरोना संक्रमित पाए गए हैं इसी के कारण लैब को बंद करने के आदेश दिए गए की लैब को सेनिटाइज और नए स्टाफ आने तक बन्द करना होगा

हालांकि फरीदाबाद की लैब में सैनिटाइजेशन का कार्य किया जा रहा है लेकिन बावजूद जब तक लैब के लिए नए स्टाफ का प्रबंध होने के बाद ही इस लैब को वापस चालू किया जाएगा लेकिन तक तब तक अस्पताल की लैब में की जाने वाली कोरोना टेस्टिंग ना होने से समस्या देखी जा सकती हैं

हालाकि जब तक फरीदाबाद में कोरोना का टेस्टिंग की लैब पुनः नही खुलती हैं तब तक फरीदाबाद जिले में की जा रही मरीजों की टेस्टिंग की रिपोर्ट तैयार करने का जिम्मा नूह जिले को दे दिया गया। फरीदाबाद में अब जितनी भी कोरोना टेस्टिंग की जाएगी उसकी रिपोर्ट नूहं जिले से आएगी, जिसे आने में लगभग 1 सप्ताह का समय भी लगेगा।

खबर की पुष्टि करने के लिए पहचान फरीदाबाद द्वारा हेल्थ इंस्पेक्टर नसीब सिंह से बात की गई तो उन्होंने बात को दाबते हुए कहा की इस तरह की अभी कोई बात मेरे संज्ञान में नही है यदि हॉस्पिटल के प्रबंधन को ही इसकी खबर नही होगी तो समस्या का समाधान कैसे होगा

स्वास्थ्य विभाग यह झूठ बखूबी लोगो को परोस रहा हैं कि कोरोना से लड़ने के पूर्णतया इतंजाम किये गए है लेकिन इसमे स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही साफ तौर पर देखने को मिल रही हैं दो दिन से मिल रहे खबरों के अनुसार कोविड -19 के लिए निर्धारित किए गए दो बड़े हॉस्पिटलों में लापरवाही के सबूत देखने को मिले हैं


1 दिन पहले( 9 जून ) को बीके हॉस्पिटल की टेस्टिंग किट खत्म हो गई थी जिस कारण आने वाले मरीजों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा था लेकिन वही ईएसआईसी हॉस्पिटल की लैब बंद होने से भी लोगों को मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है 900 से पार इस समय फरीदाबाद के केस हो चुके हैं वहीं 500 से अधिक लोग टैस्टिंग के लिए बैठे हैं ऐसे में लैब का बंद होना स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन पर सवालिया निशान खड़ा करता है

नोट : अस्पताल प्रबंधन चाहता तो डॉक्टर और स्टाफ का रेगुलर चेकअप करा सकता था ताकि एक साथ इतने सारे लोग संक्रमित नहीं होते

Latest articles

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...

More like this

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...