HomeUncategorizedसेना में नौकरी लगवाने का झांसा देकर 12 लोगों से लाखों की...

सेना में नौकरी लगवाने का झांसा देकर 12 लोगों से लाखों की हुई ठगी

Published on

फरीदाबाद : सेक्टर-31 के थाना क्षेत्र में एक व्यक्ति ने सेना में नौकरी दिलाने के नाम पर 12 लोगों से लाखों रुपये की ठगी की। आरोपी खुद को सेना में ब्रिगेडियर बताता था। उसने भर्ती के लिए लोगों को फर्जी कॉल लेटर भी भेजे थे। भर्ती नहीं होने पर आरोपी ने लोगों के कॉल उठाने बंद कर दिए। किसी तरह लोगों ने उससे संपर्क साधा तो उन्हें जान से मारने की धमकी दे डाली। पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।

सेक्टर-29 निवासी महेंद्र प्रताप सिंह ने पुलिस को बताया कि उसके पड़ोस में पवन बक्शी नाम का युवक रहता है। पड़ोसी होने के नाते उनका पुराना जानकार है। एक दिन पवन ने उन्हें बताया कि उसका जानकार जितेंद्र जाखड़ सेना में ब्रिगेडियर है जिसकी तैनाती जबलपुर में है। उसकी पत्नी भी अस्पताल में डॉक्टर है। उसने बताया कि कमांड अस्पताल चंडीगढ़, हिसार, पंचकूला, अंबाला व दिल्ली में बच्चों को नौकरी लगवा सकता हैं। महेंद्र ने जितेंद्र जाखड़ से बात करनी चाही। पवन बक्शी ने उसकी बात जितेंद्र जाखड़ से फोन पर कराई। बातचीत के दौरान जितेंद्र जाखड़ ने कहा कि क्लर्क, स्टोर कीपर और ड्राइवर की नौकरी लगवा सकता है।

सेना में नौकरी लगवाने का झांसा देकर 12 लोगों से लाखों की हुई ठगी

इसके लिए डेढ़ से दो लाख रुपये प्रत्येक बच्चे के हिसाब से देने होंगे। जितेंद्र जाखड़ ने फोन पर बातचीत में विश्वास दिलाया कि वह पैसे खाते में लेगा। काम होने में समय लगा तो पैसे वापस दे देगा। महेंद्र ने अपने बेटे व भतीजे के लिए 25 जनवरी 2021 से 15 फरवरी तक करीब तीन लाख रुपये उसके खाते में भेजे। इसी प्रकार से उसके अन्य रिश्तेदारों व जानकारों तारा सिंह, देवव्रत चौधरी, रवि कुमार, सोनम चौधरी, यशोधन, फिरोज खान, योगेश चतुर्वेदी, अशोक कुमार, प्रशांत कुमार तथा प्रवीण कुमार ने भी जितेंद्र जाखड़ के खातों में रुपये भेज दिए। जितेंद्र ने कहा कि पांच जून को भर्ती होनी है। सभी बच्चों ने इसकी तैयारी भी शुरू कर दी।

कई बार भेजे भर्ती के पत्र

सेना में नौकरी लगवाने का झांसा देकर 12 लोगों से लाखों की हुई ठगी

आरोपी ने कई बार भर्ती के पत्र उन्हें भेजे। इसके बाद वह बार-बार अलग-अलग कारणों से उन्हें निरस्त करता रहा। आरोपी ने कहा कि भर्ती आगे टल गई है। बार-बार के बदलाव से महेंद्र को शक होने लगा और उसने अपने पैसे वापस मांगने का दबाव बनाना शुरू कर दिया। जितेंद्र ने उन्हें 12 लाख 25 हजार का एक चेक दिया जो बाउंस हो गया। इसके बाद उसने फोन उठाने बंद कर दिए। किसी तरह से पीड़ितों ने उसका नंबर निकाल कर उससे संपर्क किया। पीड़ितों ने कहा कि इसकी शिकायत पुलिस को देंगे। इस पर आरोपी ने उन्हें जान से मारने की धमकी देनी शुरू कर दी.

Latest articles

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...

More like this

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...